आरसी बुक: खो जाने या चोरी हो जाने की स्थिति में दूसरी कैसे पाएं

आपके आरसी बुक का खो जाना या चोरी हो जाना एक गंभीर समस्या है। हालांकि, आप सही प्रक्रिया अपनाकर दूसरी आरसी आसानी से प्राप्त कर सकते हैं।

आरसी बुक: खो जाने या चोरी हो जाने की स्थिति में दूसरी कैसे पाएं

भारतीय सड़कों पर चलने वाले हरेक वाहन को मोटर वाहन (एमवी) अधिनियम, 1988 के तहत रजिस्टर्ड होना चाहिए। रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (इसे आम बोलचाल में आरसी कहा जाता है) इस बात की पुष्टि करता है कि आपका वाहन उस राज्य के रीज़नल ट्रांसपोर्ट ऑफिस (आरटीओ) में रजिस्टर्ड है जिस राज्य में आप रहते हैं। इसलिए आरसी एक महत्वपूर्ण दस्तावेज है और साथ ही ड्राइविंग लाइसेंस और मोटर इंश्योरेंस भी ऐसे दस्तावेज हैं जो भारत के मोटर मालिकों के लिए अनिवार्य है।

आरसी में कौन-कौन सी जानकारी होती है?

आरसी एक ऐसा महत्वपूर्ण दस्तावेज है जिसमें आपके वाहन से संबंधित अहम जानकारी होती है जैसे रजिस्ट्रेशन की तिथि, वाहन का प्रकार (दो/तीन/चार-पहिया), मेक और मॉडल नंबर, रजिस्ट्रेशन नंबर, वाहन का रंग और सीटिंग क्षमता।

क्या डिजिटल आरसी फ़िजिकल आरसी की तरह ही होता है?

अब आप अपने आरसी के डिजिटल कॉपी को डिजिलॉकर या एमपरिवहन ऐप पर अपलोड कर सकते हैं या इसे स्मार्ट कार्ड (आरसी कार्ड) के रूप में निर्गत करा सकते हैं। एमवी ऐक्ट में हाल के संशोधन में ड्राइवर लाइसेंस, आरसी, मोटर इंश्योरेंस और अन्य अहम दस्तावेजों के डिजिटल वेरिफिकेशन को स्वीकृति दी गई है। हालांकि, कृपया इस बात का ध्यान रखें कि डिजिटल ऐप-आधारित दस्तावेजों की जगह आरसी का केवल फ़ोटोग्राफ प्रस्तुत नहीं किया जा सकता। इसलिए, आपके आरसी के फ़िजिकल कॉपी की तुलना में डिजिटल कॉपी रखना अधिक अच्छा है।

इससे जुड़ी बातें: मैं अपना कार ओनरशिप विवरण नहीं बदल पाया और भारी जुर्माना दिया

वाहन रजिस्टर करने के लिए आपको किस दस्तावेज की जरूरत है?

अपने खरीदे हुए दो-पहिया वाहन या कार का उपयोग शुरू करने से पहले रजिस्ट्रेशन करना अनिवार्य है। दो-पहिया वाहन के मामले में, आप डेलिवरी लेने से पहले ऑटोमोबाइल डीलरशिप में रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। अन्यथा, इसके लिए आप अपना स्थानीय आरटीओ जा सकते हैं।

नए वाहन के रजिस्ट्रेशन के लिए निम्नलिखित दस्तावेजों की जरूरत होगी:

  • आवेदन फॉर्म (फॉर्म 20)
  • सड़कयोग्यता प्रमाण पत्र (फॉर्म 22)
  • पॉल्युशन अंडर कंट्रोल (पीयूसी) प्रमाण पत्र
  • पैन कार्ड
  • पता प्रमाण
  • इम्पोर्टेड वाहन के मामले में, कस्टम सर्टिफिकेट
  • निर्माता और डीलर इंवॉइस
  • पहचान प्रमाण
  • इंश्योरेंस कवर नोट की कॉपी
  • टेम्पररी रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट की कॉपी

रजिस्ट्रेशन कराने के लिए आपको टैक्स और प्रोसेसिंग शुल्क भी देने होंगे। हालांकि, यह सूची केवल निर्देशात्मक है और अलग-अलग आरटीओ में अलग-अलग दस्तावेज लग सकते हैं।

इससे जुड़ी बातें: सेकंड हैंड कार की खरीद/बिक्री के लिए जांचसूची

यदि आपका आरसी कार्ड या आरसी बुक खो जाए तो आप क्या करेंगे?

आरसी के चोरी हो जाने या गायब हो जाने की स्थिति में आप इसकी कॉपी के लिए अप्लाय कर सकते हैं। दोनों स्थितियों में, आपको पुलिस में रिपोर्ट करना पड़ेगा। प्रक्रिया इस प्रकार है:

दस्तावेज जिनकी आपको जरूरत होगी:

  • पुलिस स्टेशन से 'आरसी कार्ड लॉस्ट’ लिखे हुए चलान की कॉपी
  • आपके दो-पहिया वाहन या कार के इंश्योरेंस पॉलिसी और ड्राइविंग लाइसेंस की कॉपी
  • पासपोर्ट आकार का फ़ोटो
  • आवेदन फॉर्म
  • लोन की स्थिति में बैंक की ओर से अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी)
  • पीयूसी सर्टिफिकेट की कॉपी
  • पता और आयु प्रमाण
  • वाहन का इंवॉइस

आवेदन करने की प्रक्रिया

आप परिवहन सेवा वेबसाइट पर ऑनलाइन या अपने निकट के आरटीओ केंद्र से ड्युप्लिकेट आरसी बुक के लिए आवेदन कर सकते हैं। आवेदन करने के लिए इस आसान स्टेप्स का पालन करें:

  • जैसा कि बताया गया है, आपको पुलिस में शिकायत करके एक चलान प्राप्त करना होगा
  • निर्दिष्ट आवेदन फॉर्म (फॉर्म 26) भरें जो आरटीओ की वेबसाइट पर उपलब्ध होती है
  • यदि आपके पास कार/दो-पहिया लोन है तो बैंक एनओसी की जरूरत होगी
  • अपने वाहनके सभी दस्तावेजोंके साथ एक ऐफिडेविट बनाएं, जिसमें ड्युप्लिकेट आरसी के लिए अनुरोध करने का कारण शामिल हो
  • जैसा कि ऊपर उल्लेख किया गया है पता और आईडी प्रमाण के साथ फॉर्म और सहायक दस्तावेजों को आरटीओ में जमा करें
  • वेरिफिकेशन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद, आरटीओ अधिकारी द्वारा आपके आवेदन को स्वीकृत किया जाएगा
  • इसके बाद आपको अपने आईडी प्रूफ को सत्यापित कराने के लिए ससिस्टेंट रीजनल ट्रांसपोर्ट ऑफिस (एआरटीओ) जाना होगा। यहीं आपको सेवा शुल्क का भुगतान करना होगा। कुछ राज्यों में, यह शुल्क ऑनलाइन दिया जा सकता है।
  • एआरटीओ से शुल्क की पावती लें और वेरिफिकेशन और हस्ताक्षर के लिए इसे आरटीओ निरीक्षक को सौंपें
  • निरीक्षक एक अभिस्वीकृति पर्ची जारी करेगा जिसपर तिथि लिखी होगी जिस तिथि पर आपको नया आरसी कार्ड मिलेगा।

ड्युप्लिकेट आरसी जारी होने में आमतौर पर 30 दिनों का समय लगता है।

इससे जुड़ी बातें: कार ओनरशिप ट्रांसफर करने के बारे में आपको 5 बातें जाननी चाहिए

आरसी बुक को स्मार्ट कार्ड में कैसे बदलें?

यदि आप अपने आरसी बुक को स्मार्ट कार्ड में बदलना चाहते हैं, तो आपको उस स्थानीय आरटीओ में जाना होगा जहां यह मूल रूप से जारी हुआ था और एक आवेदन फॉर्म भरना होगा। सेवा शुल्क लगता है, जो अलग-अलग आरटीओ का अलग-अलग होता है। इस प्रक्रिया में 15 दिनों का समय लगता है। एक बार जारी हो जाने के बाद, नए स्मार्ट कार्ड को आपके पते पर भेज दिया जाएगा।

मूल आरसी के बिना ड्युप्लिकेट आरसी कैसे पाएं?

यदि आपके पास सेकंड हैंड बाइक है और मूल आरसी अभी भी आपके नाम पर नहीं ट्रांसफर हुआ है, तो आपको वाहन के विक्रेता (मूल खरीदार) से संपर्क करना होगा। आरटीओ से ड्युप्लिकेट आरसी निकालर आपको देने की जिम्मेदारी विक्रेता की होती है। क्योंकि बाइक का रजिस्ट्रेशन अभी भी उसी के नाम पर है। नियमों के मुताबिक यह काम अपा उनकी ओर से नहीं कर सकते।

इसके अलावा, यदि आरटीओ में मूल आरसी नहीं दिया जाता हैतो वाहन का ओनरशिप ट्रांसफर नहीं होगा। इसके बाद, इसे अपने नाम पर ट्रांसफर कराने के लिए आप फॉर्म 29/30 के साथ आवेदन फॉर्म सब्मिट कर सकते हैं।

फटे हुए या क्षतिग्रस्त आरसी के बदले दूसरा आरसी कैसे पाएं?

यदि आपका आरसी क्षतिग्रस्त हो जाता है या फट जाता है, तो आपको पुलिस में शिकायत करने की जरूरत नहीं है। आपको मूल आरसी के साथ स्थानीय आरटीओ में व्यक्तिगत रूप से जाना होगा और ड्युप्लिकेट आरसी पाने के लिए ऊपर बताई गई समान प्रक्रिया का पालन करना होगा। रोड-टैक्स पर 25% की छूट; नई कारों के रजिस्ट्रेशन शुल्क में छूट: एक कार मालिक होने के नाते नई व्हेकिल स्क्रैपिंग पॉलिसी आपके लिए क्या मायने रखती है?

संबंधित लेख