Mahindra Manulife Smallcap Mutual fund NFO: लंबी अवधि के निवेश के लिए नए म्यूचुअल फंड का एनएफओ

स्मॉलकैप कंपनियाँ निवेशक को लंबी अवधि में अच्छा मुनाफा दे रहे हैं।

नए म्यूचुअल फंड का एनएफओ

Mahindra Manulife Smallcap Mutual fund NFO: मौजूदा दौर में स्मॉलकैप कंपनियाँ जबरदस्त प्रदर्शन कर रही हैं। यदि अपने पोर्टफोलियो में निवेशक लंबी अवधि के निवेश को शामिल करना चाहते हैं तो स्मॉलकैप कंपनियाँ निवेशक की पसंद बन रही हैं। इसके मद्देनज़र एक नया म्यूचुअल फंड अपना स्मॉलकैप फंड एनएफओ लेकर आ रहा है।

महिंद्रा मनुलाइफ म्यूचुअल फंड ने स्मॉलकैप फंड एनएफओ पेश किया है। यह निवेशकों को लंबी अवधि के लिए निवेश करने का विकल्प देगा। ध्यान देने की बात है कि यह एक ओपन एंडेड इक्विटी स्कीम है। इसका उद्देश्य स्मॉलकैप कंपनियों में निवेश करना होगा और इसमें 5 दिसंबर तक निवेश किया जा सकता है। 

भारत के उद्योगों से लाभ उठाने का सही अवसर 

इस फंड के परिसंपत्ति अलोकेशन को पर ध्यान दें तो हम पाते हैं कि 65% हिस्सेदारी स्मॉलकैप कंपनियों की होगी। कॉर्पोरेट सर्विसेज के महाप्रबंधक संजीव पनवर के अनुसार भारत की उद्यमिता से लाभ लेने का यह सही समय है। भारत द्वारा आर्थिक सुधारों को आगे बढ़ाने के बाद इस क्षेत्र में विकास की बहुत संभावनाएँ नजर आ रही हैं। इसी के साथ देश में डिजिटल इनफ्रास्ट्रक्चर भी सकारात्मक रुख दर्शा रहा है।

यह भी पढ़ें: ७ वित्तीय नियम

स्मॉलकैप फंड लॉंग टर्म रिटर्न

मौजूदा तस्वीर देखें तो हम पाते हैं कि स्मॉलकैप कंपनियों के विकास को लेकर बाजार में अच्छे आसार बने हैं। स्मॉलकैप म्यूचुअल फंड लॉंग टर्म में अच्छा मुनाफा और रिटर्न देने वाले पाए गए हैं। अक्सर ये फंड उन कंपनियों को बढ़ावा देते हैं जो अपने क्षेत्र की अग्रणी कंपनियाँ हैं। अपनी सफलता और काम के दम पर ये कंपनियाँ मिडकैप बनने की संभावना रखती हैं। ये फंड इन कंपनियों को उचित मूल्यांकन और जानकारी पहुँचने के अवसर देते हैं साथ ही निवेशकों को सही स्टॉक चुनने का अवसर भी देते हैं। 

कारोबार के अवसर 

महिंद्रा मनुलाइफ म्यूचुअल फंड के एमडी और सीईओ एंथनी हेरेडिया ने बताया कि भारतीय अर्थव्यवस्था के अगले दशक में दुनिया की अग्रिम पंक्ति की अर्थव्यवस्था में शामिल होने की संभावना है। ऐसे समय में छोटी कंपनियों को भी अपने क्षेत्र में बेहतरीन काम करने के अवसर मिलेंगे। स्मॉलकैप फंड निवेशकों को इस बदलाव का लाभ उठाने का सही अवसर देगा। इसी दिशा में मनुलाइफ म्यूचुअल फंड के जरिए विभिन्न फंड रेंज में बीते प्रदर्शन को देखते हुए नया म्यूचुअल फंड बाजार में लाया गया है। यह हमारे निवेशकों को बड़ी राशि संचित करने में मदद करेगा। 

लॉंग टर्म कैपिटल एप्रिसिएशन

इस म्यूचुअल फंड का उद्देश्य स्मॉलकैप कंपनियों की इक्विटी और इक्विटी से संबंधित सेक्योरिटीज (प्रतिभूति) के विविधतापूर्ण पोर्टफोलियो में लंबी अवधि के निवेश के लिए कैपिटल एप्रिसिएशन का होगा। 

म्यूचुअल फंड द्वारा भारत की स्मॉलकैप कंपनियों के विविधतापूर्ण विकल्प दिए जाएँगे जिनमें भारतीय अर्थव्यवस्था के साथ-साथ बढ़ोतरी करने की संभावना है। 

माना जा रहा है कि भारत निकट भविष्य में तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की ओर चल पड़ा है। बदलाव का यह समय स्मॉलकैप कंपनियों को प्रगति करके मिडकैप कंपनी बनने के अवसर देता है। साथ ही, निवेशकों के लिए भी अच्छा मुनाफा कमाने का यह अच्छा मौका है। 

यह भी पढ़ें: निफ़्टी५० से रिटर्न पाए

टॉप ३ मल्टीबैग्गेर स्टॉक्स

Mahindra Manulife Smallcap Mutual fund NFO: मौजूदा दौर में स्मॉलकैप कंपनियाँ जबरदस्त प्रदर्शन कर रही हैं। यदि अपने पोर्टफोलियो में निवेशक लंबी अवधि के निवेश को शामिल करना चाहते हैं तो स्मॉलकैप कंपनियाँ निवेशक की पसंद बन रही हैं। इसके मद्देनज़र एक नया म्यूचुअल फंड अपना स्मॉलकैप फंड एनएफओ लेकर आ रहा है।

महिंद्रा मनुलाइफ म्यूचुअल फंड ने स्मॉलकैप फंड एनएफओ पेश किया है। यह निवेशकों को लंबी अवधि के लिए निवेश करने का विकल्प देगा। ध्यान देने की बात है कि यह एक ओपन एंडेड इक्विटी स्कीम है। इसका उद्देश्य स्मॉलकैप कंपनियों में निवेश करना होगा और इसमें 5 दिसंबर तक निवेश किया जा सकता है। 

भारत के उद्योगों से लाभ उठाने का सही अवसर 

इस फंड के परिसंपत्ति अलोकेशन को पर ध्यान दें तो हम पाते हैं कि 65% हिस्सेदारी स्मॉलकैप कंपनियों की होगी। कॉर्पोरेट सर्विसेज के महाप्रबंधक संजीव पनवर के अनुसार भारत की उद्यमिता से लाभ लेने का यह सही समय है। भारत द्वारा आर्थिक सुधारों को आगे बढ़ाने के बाद इस क्षेत्र में विकास की बहुत संभावनाएँ नजर आ रही हैं। इसी के साथ देश में डिजिटल इनफ्रास्ट्रक्चर भी सकारात्मक रुख दर्शा रहा है।

यह भी पढ़ें: ७ वित्तीय नियम

स्मॉलकैप फंड लॉंग टर्म रिटर्न

मौजूदा तस्वीर देखें तो हम पाते हैं कि स्मॉलकैप कंपनियों के विकास को लेकर बाजार में अच्छे आसार बने हैं। स्मॉलकैप म्यूचुअल फंड लॉंग टर्म में अच्छा मुनाफा और रिटर्न देने वाले पाए गए हैं। अक्सर ये फंड उन कंपनियों को बढ़ावा देते हैं जो अपने क्षेत्र की अग्रणी कंपनियाँ हैं। अपनी सफलता और काम के दम पर ये कंपनियाँ मिडकैप बनने की संभावना रखती हैं। ये फंड इन कंपनियों को उचित मूल्यांकन और जानकारी पहुँचने के अवसर देते हैं साथ ही निवेशकों को सही स्टॉक चुनने का अवसर भी देते हैं। 

कारोबार के अवसर 

महिंद्रा मनुलाइफ म्यूचुअल फंड के एमडी और सीईओ एंथनी हेरेडिया ने बताया कि भारतीय अर्थव्यवस्था के अगले दशक में दुनिया की अग्रिम पंक्ति की अर्थव्यवस्था में शामिल होने की संभावना है। ऐसे समय में छोटी कंपनियों को भी अपने क्षेत्र में बेहतरीन काम करने के अवसर मिलेंगे। स्मॉलकैप फंड निवेशकों को इस बदलाव का लाभ उठाने का सही अवसर देगा। इसी दिशा में मनुलाइफ म्यूचुअल फंड के जरिए विभिन्न फंड रेंज में बीते प्रदर्शन को देखते हुए नया म्यूचुअल फंड बाजार में लाया गया है। यह हमारे निवेशकों को बड़ी राशि संचित करने में मदद करेगा। 

लॉंग टर्म कैपिटल एप्रिसिएशन

इस म्यूचुअल फंड का उद्देश्य स्मॉलकैप कंपनियों की इक्विटी और इक्विटी से संबंधित सेक्योरिटीज (प्रतिभूति) के विविधतापूर्ण पोर्टफोलियो में लंबी अवधि के निवेश के लिए कैपिटल एप्रिसिएशन का होगा। 

म्यूचुअल फंड द्वारा भारत की स्मॉलकैप कंपनियों के विविधतापूर्ण विकल्प दिए जाएँगे जिनमें भारतीय अर्थव्यवस्था के साथ-साथ बढ़ोतरी करने की संभावना है। 

माना जा रहा है कि भारत निकट भविष्य में तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की ओर चल पड़ा है। बदलाव का यह समय स्मॉलकैप कंपनियों को प्रगति करके मिडकैप कंपनी बनने के अवसर देता है। साथ ही, निवेशकों के लिए भी अच्छा मुनाफा कमाने का यह अच्छा मौका है। 

यह भी पढ़ें: निफ़्टी५० से रिटर्न पाए

टॉप ३ मल्टीबैग्गेर स्टॉक्स

Expert Article block example

संवादपत्र

संबंधित लेख