Focused funds and diversified mutual funds:फोकस्‍ड फंड बनाम डायवर्सिफाइड म्यूचुअल फंड्स: किसे चुनें?

डायवर्सिफाइड म्यूचुअल फंड्स आपको कम उतार-चढ़ाव वाले 50-100 शेयरों के बास्केट में एक्सपोजर देता है, जबकि डायवर्सिफाइड फंड्स आपको उच्‍च उतार-चढ़ाव वाले 30 शेयरों के बास्केट में एक्सपोजर देता है। एक शुरूआत करने वाले के रूप में, आपको सुझाव दिया जाता है कि आप डायवर्सिफाइड इक्विटी म्यूचुअल फंड्स से शुरूआत करें।

focused funds

म्यूचुअल फंड स्कीम आपको कई स्‍टॉक्‍स में अपने निवेश में विविधता लाने का मौका देती है। विविधीकरण की सीमा स्‍कीम के चुनाव पर निर्भर होती है: डायवर्सिफाइड इक्विटी फंड, फोकस्ड फंड, या सेक्टोरल/थीमैटिक फंड। यह लेख डायवर्सिफाइड इक्विटी फंड और फोकस्ड फंड पर चर्चा करेगा, और मूल्यांकन करेगा कि एक शुरुआत करने वाले को किसे चुनना चाहिए।

डायवर्सिफाइड इक्विटी म्यूचुअल फंड क्या है?

डायवर्सिफाइड इक्विटी म्यूचुअल फंड स्कीम के उद्देश्य के आधार पर, 50-100 शेयरों में निवेश करता है। यह स्‍कीम लार्ज, मिड, स्मॉल-कैप स्टॉक या इनके संयोजन (मल्टी-कैप या फ्लेक्सी-कैप फंड) में निवेश कर सकती है। फंड मैनेजर का उद्देश्य बेंचमार्क से बेहतर प्रदर्शन करना और निवेशकों के लिए अल्फा जनरेट करना होता है।
फोकस्ड इक्विटी फंड क्या है?
फोकस्ड इक्विटी फंड एक ओपन-एंडेड स्कीम है जो अधिकतम 30 शेयरों में निवेश करती है। यह फ्लेक्सी-कैप फंड की तरह ही पूरे बाजार पूंजीकरण के स्‍टॉक्‍स में निवेश कर सकता है। यह एक केंद्रित फ्लेक्सी-कैप फंड का एक प्रकार है।

अब जब हम जानते हैं कि फोकस्ड फंड क्या है, तो आइए डायवर्सिफाइड फंड्स और फोकस्ड फंड्स की तुलना करते हैं।

फोकस्ड फंड्स बनाम म्‍यूचुअल फंड्स
 

फोकस्ड फंड्स बनाम म्‍यूचुअल फंड्स

शुरूआत करने वाले को क्‍या चुनना चाहिए?

फोकस्ड फंड उन निवेशकों के लिए होते हैं जिन्हें म्यूचुअल फंड की जानकारी है और वे अपने निवेश लक्ष्यों के लिए पहले से ही इक्विटी फंड में निवेश कर रहे हैं। एक शुरुआत करने वाले को अपने निवेश उद्देश्यों के आधार पर डायवर्सिफाइड इक्विटी फंड से शुरुआत करनी चाहिए।
निवेश करने के लिए कुछ बेहतरीन इक्विटी फंड नीचे दिए गए हैं।

डायवर्सिफाइड लार्ज-कैप इक्विटी फंड\

डायवर्सिफाइड लार्ज-कैप इक्विटी फंड

फोकस्ड इक्विटी फंड

फोकस्ड इक्विटी फंड

कृपया ध्‍यान दें:

  • उपरोक्‍त रिटर्न 28 मार्च 2022 तक के हैं।
  • फंड्स को पांच साल के प्रदर्शन के आधार पर रैंक किया गया है
  • रिटर्न ग्रोथ ऑप्शन वाले डायरेक्ट प्लान के लिए है
  • एक साल का रिटर्न पूर्ण है। तीन और पांच साल के रिटर्न CAGR हैं।

एक शुरुआत करने वाले के रूप में, आपको कंपाउंडिंग की शक्ति से लाभ उठाने के लिए हमेशा लंबी अवधि के लिए निवेश करना चाहिए। रुपी कॉस्ट एवरेजिंग से लाभ उठाने के लिए आप एक सिस्‍टमैटिक इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लान (SIP) शुरू कर सकते हैं।

M Stock

संवादपत्र

संबंधित लेख