High returns ICICI Value Discovery Fund: आईसीआईसीआई वैल्यू डिस्कवरी फंड के साथ लंबी अवधि का अनुभव सकारात्मक

यदि किसी निवेशक ने इस म्यूचुअल फंड में ₹1 लाख की राशि एकमुश्त लगाई हो तो आज उसे मिलेंगे ₹2.5 करोड़ रुपए।

म्यूचुअल फंड इनवेस्टमेंट

ICICI Value Discovery Fund: आईसीआईसीआई वैल्यू डिस्कवरी फंड में यदि किसी निवेशक ने ₹1 लाख का एकमुश्त निवेश किया हो तो इस साल की 31 जुलाई तक उसे ₹2.5 करोड़ मिले होंगे। कुल मिलाकर निवेशक को 19.7% का सालाना सीएजीआर रिटर्न मिला होगा। 

आम तौर पर लोगों का मानना होता है कि यदि आप राकेश झुनझुनवाला की तरह एक स्मार्ट इन्वेस्टर न हो तो आप शेयर बाज़ार से तगड़ी कमाई नहीं कर सकते। लेकिन यह सिर्फ आपकी नासमझी है क्योंकि आप शेयर बाजार में सीधे निवेश न करते हुए, और म्यूचुअल फंड में निवेश करते हुए भी अच्छा-खासा मुनाफा कमा सकते हैं। आईसीआईसीआई का वैल्यू डिस्कवरी फंड इसी तरह का म्यूचुअल फंड है जो अपने निवेशकों को अच्छी-खासी कमाई का मौका देता है। 18 साल पहले जब आईसीआईसीआई वैल्यू फंड की स्थापना हुई थी तब यदि किसी निवेशक ने 10,00,000 का निवेश किया होगा तो इस साल के मध्य तक उसे अपनी राशि के ऐवज ₹2.5 करोड़ मिल गए होंगे।  

यह भी पढ़ें: वैल्यू फंड दूसरे फंडों से कैसे अलग है?

वैल्यू इन्वेस्टमेंट का फायदा 

जानकारों का मानना है कि यदि आपको अच्छा खासा फायदा चाहिए तो वैल्यू इन्वेस्टमेंट पर ध्यान देना होगा। दमनी हंस एंड मनी मैनेजमेंट इंडिया के संस्थापक हांसी मेहरोत्रा का मानना है कि जब जब भारत में वैल्यू इन्वेस्टमेंट का जिक्र आता है तब आईसीआईसीआई वैल्यू डिस्कवरी फंड का नाम पहले आएगा। मेहरोत्रा का मानना है कि म्यूचुअल फंड के चयन के समय निवेशकों को एएमसी और व्यक्तिगत फंड के निवेश के पीछे की पूरी जानकारी पता होना चाहिए जिससे कि वे अपने लिए सही म्यूचुअल फंड का चुनाव कर सकें। ऐसा करने से चुने हुए म्यूचुअल फंड की तुलना अन्य फंड के साथ करते हुए बाजार में उसके प्रदर्शन को सही सही समझा जा सकता है। हालांकि यह बेहद सूझबूझ का काम है जो आसान नहीं होता। 

वैल्यू फंड सापेक्ष वैल्यू अप्रोच का पालन करते हैं 

स्टार नामक संस्था ने अपने विश्लेषण में पाया कि 2018 के बाद जिन म्यूचुअल फंड को वैल्यू फंड की श्रेणी में रखा गया उनके पोर्टफोलियों में ग्रोथ स्टॉक होल्डिंग की कमतरता नजर आ रही है। इसका मतलब है कि वैल्यू फंड सापेक्ष वैल्यू अप्रोच का पालन करते हैं। मॉर्निंग स्टार ने क्रिस आईप्रू के वैल्यू डिस्कवरी फंड को गोल्ड रेटिंग दी है। आईपीयु के एएमसी के ईडी और सीईओ एस नरेन इस फंड का प्रबंधन करते हैं जो भारत के म्यूचुअल फंड सेक्टर में एक जानामाना नाम है। एस नरेन वैल्यू निवेशकों में काफी महारत रखते हैं और अपने प्रबंधन के आधार पर उन्होंने अपना एक विशेष स्थान बनाया है। इस फंड की स्ट्रैटिजी भी उन्होंने काफी सोच समझकर रची है। हाल ही में आईसीआईसीआई वैल्यू डिस्कवरी फंड में 18 साल पूरे किए हैं। इस सेक्टर के खुले एयूएम का 30% यानी ₹24,694 करोड़, आईसीआईसीआई के इस फंड के पास है। इससे निवेशक का इस म्यूचुअल फंड के प्रति भरोसा झलकता है।

म्यूचुअल फंड के साथ लंबी अवधि का अनुभव सकारात्मक 

इस वैल्यू फंड के साथ लंबी अवधि तक जो निवेशक बने रहें हैं उनके लिए यह अनुभव बहुत सकारात्मक रहा है। एस नरेन का मानना है कि वैल्यू फंड के साथ निवेश की अवधि का बहुत महत्त्व है। बाजार में जब गिरावट जारी हो, ऐसे समय पर यदि निवेशक धीरज बनाए रखें और अपने निवेश को बाहर न निकालें तो परिस्थितियाँ बदलने के बाद जब चक्र घूमेगा तब उन्हें अपने निवेश पर अच्छा फायदा मिल सकेगा। “बाजार में जब उछाल बना हुआ होता है तब वैल्यू निवेश के क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन देखने को मिलता है, इसलिए निवेशक का ध्यान उन सेक्टर्स पर केंद्रित होना चाहिए जो अभी आउट ऑफ अवर लग रहे हो लेकिन लंबी अवधि में अच्छी संभावनाएँ पैदा कर सकते है। 

यह भी पढ़ें: शुरुआत से अपना म्यूच्यूअल फण्ड पोर्टफोलियो बनाने के सुझाव

ICICI Prudential Value Discovery Fund 2022

M Stock

संवादपत्र

संबंधित लेख