Equity Mutual Funds has converted SIP of Rs 10000 in 10.05 lakh: इक्विटी म्यूचुअल फंडों ने 10000 रुपये के एसआईपी को ₹10.05 लाख बना दिया

इन तीन 5-स्टार-रेटेड इक्विटी म्यूचुअल फंडों ने 10,000 के एसआईपी को तीन सालों में 10 लाख में बदल दिया।

इक्विटी म्यूचुअल फंड

निवेशकों को इक्विटी म्यूचुअल फंड में निवेश करते समय केवल अधिक मुनाफे के बारे में न सोचकर, लंबे समय के लिए निवेश करने के फायदों के बारे में भी सोचना चाहिए। जानकारों की राय है कि निवेशकों को इक्विटी म्युचुअल फंड में कम से कम पांच साल के लिए निवेश करना चाहिए। 

अगर आपको अपने पोर्टफोलियो में विविधता लानी है तो इक्विटी म्यूचुअल फंड इसका एक शानदार तरीका है। इसकी सबसे खास बात यह है कि इक्विटी फंड पर महंगाई का भी कोई असर नहीं पड़ता, और यह महंगाई में भी उच्च मुनाफा देने में समर्थ है। नीचे ऐसे ही तीन 5-स्टार-रेटेड इक्विटी म्यूचुअल फंडों के बारे में जानकारी दी जा रही है, जिन्होंने ₹10,000 के मासिक एसआईपी को केवल तीन सालों में 10 लाख रुपए में बदल दिया है।

यह भी पढ़ें: वैल्यू फंड कैसे अलग है?

इक्विटी म्यूचुअल फंडों पर एक नज़र

क्वांट टैक्स प्लान-डायरेक्ट प्लान फंड 1 जनवरी 2013 को बाजार में उतारा गया था और वैल्यू रिसर्च और मॉर्निंगस्टार ने इसे 5-स्टार रेटिंग दी है। यह फंड करीब 9 साल से अधिक समय से लागू है। वैल्यू रिसर्च के आंकड़ों के अनुसार, बीते तीन सालों में इस फंड ने 47 प्रतिशत का वार्षिक मुनाफा दिया है। इसका मतलब यह है कि अगर किसी निवेशक ने तीन साल पहले 1 लाख रुपए का प्रारंभिक निवेश किया है और 10,000 रुपए का मासिक एसआईपी निवेश करता आया है, तो आज यह निवेश 10,05,531 रुपए का हो गया होगा। 

बैंक ऑफ इंडिया स्मॉल कैप फंड-डायरेक्ट प्लान फंड की शुरुआत 19 दिसंबर 2018 को की गई थी और वैल्यू रिसर्च ने इसे 5-स्टार रेटिंग दी है। यह फंड तीन साल से काम कर रहा है। 30 जून, 2022 तक बैंक ऑफ इंडिया स्मॉल कैप फंड डायरेक्ट ग्रोथ प्रबंधन के अधीन ₹353.51 करोड़ की संपत्ति थी और 16 सितंबर, 2022 तक फंड का एनएवी ₹29.01 था। फंड के लिए व्यय अनुपात 1.12% रहा है, जो कि उसी श्रेणी के अन्य फंडों से अधिक मजबूत है। वैल्यू रिसर्च के आंकड़ों के अनुसार, फंड ने पिछले 3 सालों में 43.25 प्रतिशत का वार्षिक मुनाफा दिया है। अगर किसी निवेशक ने तीन साल पहले एक लाख रुपए का प्रारंभिक निवेश किया है और वह 10,000 रुपए का मासिक एसआईपी निवेश करता आया है, तो आज यह निवेश 9,45,874 रुपए का हो गया होगा। 

केनरा रोबेको स्मॉल कैप फंड-डायरेक्ट प्लान फंड को 15 फरवरी 2019 को प्रस्तुत किया गया था और वैल्यू रिसर्च ने इसे भी 5-स्टार रेटिंग दिया है। यह फंड 3 साल से अधिक समय से काम कर रहा है। केनरा रोबेको स्मॉल कैप फंड डायरेक्ट के ग्रोथ के अधीन 30 जून, 2022 तक ₹3455.06 करोड़ की संपत्ति थी, जबकि 16 सितंबर, 2022 को फंड का एनएवी ₹26.9 था। अगर किसी निवेशक ने तीन साल पहले एक लाख रुपए का प्रारंभिक निवेश किया है और 10,000 रुपए का मासिक एसआईपी निवेश करता आया है, तो आज यह निवेश 9,82,585 रुपए का हो गया होगा। फंड का वार्षिक मुनाफा 45.46% है।

यह भी पढ़ें: म्यूच्यूअल फण्ड पोर्टफोलियो के सुझाव

What is Equity in investing?

निवेशकों को इक्विटी म्यूचुअल फंड में निवेश करते समय केवल अधिक मुनाफे के बारे में न सोचकर, लंबे समय के लिए निवेश करने के फायदों के बारे में भी सोचना चाहिए। जानकारों की राय है कि निवेशकों को इक्विटी म्युचुअल फंड में कम से कम पांच साल के लिए निवेश करना चाहिए। 

अगर आपको अपने पोर्टफोलियो में विविधता लानी है तो इक्विटी म्यूचुअल फंड इसका एक शानदार तरीका है। इसकी सबसे खास बात यह है कि इक्विटी फंड पर महंगाई का भी कोई असर नहीं पड़ता, और यह महंगाई में भी उच्च मुनाफा देने में समर्थ है। नीचे ऐसे ही तीन 5-स्टार-रेटेड इक्विटी म्यूचुअल फंडों के बारे में जानकारी दी जा रही है, जिन्होंने ₹10,000 के मासिक एसआईपी को केवल तीन सालों में 10 लाख रुपए में बदल दिया है।

यह भी पढ़ें: वैल्यू फंड कैसे अलग है?

इक्विटी म्यूचुअल फंडों पर एक नज़र

क्वांट टैक्स प्लान-डायरेक्ट प्लान फंड 1 जनवरी 2013 को बाजार में उतारा गया था और वैल्यू रिसर्च और मॉर्निंगस्टार ने इसे 5-स्टार रेटिंग दी है। यह फंड करीब 9 साल से अधिक समय से लागू है। वैल्यू रिसर्च के आंकड़ों के अनुसार, बीते तीन सालों में इस फंड ने 47 प्रतिशत का वार्षिक मुनाफा दिया है। इसका मतलब यह है कि अगर किसी निवेशक ने तीन साल पहले 1 लाख रुपए का प्रारंभिक निवेश किया है और 10,000 रुपए का मासिक एसआईपी निवेश करता आया है, तो आज यह निवेश 10,05,531 रुपए का हो गया होगा। 

बैंक ऑफ इंडिया स्मॉल कैप फंड-डायरेक्ट प्लान फंड की शुरुआत 19 दिसंबर 2018 को की गई थी और वैल्यू रिसर्च ने इसे 5-स्टार रेटिंग दी है। यह फंड तीन साल से काम कर रहा है। 30 जून, 2022 तक बैंक ऑफ इंडिया स्मॉल कैप फंड डायरेक्ट ग्रोथ प्रबंधन के अधीन ₹353.51 करोड़ की संपत्ति थी और 16 सितंबर, 2022 तक फंड का एनएवी ₹29.01 था। फंड के लिए व्यय अनुपात 1.12% रहा है, जो कि उसी श्रेणी के अन्य फंडों से अधिक मजबूत है। वैल्यू रिसर्च के आंकड़ों के अनुसार, फंड ने पिछले 3 सालों में 43.25 प्रतिशत का वार्षिक मुनाफा दिया है। अगर किसी निवेशक ने तीन साल पहले एक लाख रुपए का प्रारंभिक निवेश किया है और वह 10,000 रुपए का मासिक एसआईपी निवेश करता आया है, तो आज यह निवेश 9,45,874 रुपए का हो गया होगा। 

केनरा रोबेको स्मॉल कैप फंड-डायरेक्ट प्लान फंड को 15 फरवरी 2019 को प्रस्तुत किया गया था और वैल्यू रिसर्च ने इसे भी 5-स्टार रेटिंग दिया है। यह फंड 3 साल से अधिक समय से काम कर रहा है। केनरा रोबेको स्मॉल कैप फंड डायरेक्ट के ग्रोथ के अधीन 30 जून, 2022 तक ₹3455.06 करोड़ की संपत्ति थी, जबकि 16 सितंबर, 2022 को फंड का एनएवी ₹26.9 था। अगर किसी निवेशक ने तीन साल पहले एक लाख रुपए का प्रारंभिक निवेश किया है और 10,000 रुपए का मासिक एसआईपी निवेश करता आया है, तो आज यह निवेश 9,82,585 रुपए का हो गया होगा। फंड का वार्षिक मुनाफा 45.46% है।

यह भी पढ़ें: म्यूच्यूअल फण्ड पोर्टफोलियो के सुझाव

What is Equity in investing?

संवादपत्र

संबंधित लेख