शुरुआत से अपना म्यूचुअल फंड पोर्टफोलियो बनाने के सुझाव

क्‍या आप अपने म्‍युचुअल फंड पोर्टफोलियो के साथ नई शुरूआत करना चाहते हैं? शायद आप पहले ही म्‍यूचुअल फंड खरीद चुके हैं और उन्‍हें रिएक्टिवेट करना चाहते हैं? आपको इस बात को याद रखना चाहिए कि:"परफेक्ट म्यूचुअल फंड पोर्टफोलियो" जैसी कोई चीज नहीं होती है।

शुरुआत से अपना म्यूचुअल फंड पोर्टफोलियो बनाने के सुझाव

क्या आप अपने म्यूचुअल फंड पोर्टफोलियो की शुरू से शुरुआत करना चाहते हैं? हो सकता है कि आप पहले ही म्यूचुअल फंड खरीद चुके हों और उन्हें रिएक्टिवेट करना चाहते हों? आपको "परफेक्ट म्यूचुअल फंड पोर्टफोलियो" बनाने में अपना समय बर्बाद नहीं करना चाहिए क्योंकि ऐसी कोई चीज नहीं होती है। बहुत सारे अच्छे पोर्टफोलियो हैं, लेकिन म्यूचुअल फंड में वन साइज़- फिट्स-ऑल जैसी कोई चीज नहीं है।

यह भी पढें- म्यूचुअल फंड्स में निवेश करने के 6 कारण

तो, म्यूचुअल फंड पोर्टफोलियो को एक साथ रखने के बारे में आपको क्‍या करना चाहिए?

विचार करने वाली पहली बात यह है कि आप निवेश क्यों कर रहे हैं और आपका अंतिम लक्ष्य क्या है। आम लोगों के लिए अपने पैसे को संभालने का आदर्श तरीका प्रत्येक वित्तीय उद्देश्य के लिए एक अलग पोर्टफोलियो बनाना है। वैकल्पिक रूप से, आप संबंधित लक्ष्यों को एक समूह में रख सकते हैं और उनके लिए पोर्टफोलियो बना सकते हैं। उदाहरण के लिए, रिटायरमेंट के लिए एक पोर्टफोलियो, एक बच्चे की स्कूली शिक्षा (या शादी) के लिए एक पोर्टफोलियो, और इसी तरह अन्‍य।

जब आप अपने निवेश लक्ष्यों के बारे में सोचना शुरू करते हैं, तो आप इस तरह के सवालों के जवाब दे पाएंगे कि आपको कितने पैसे की आवश्यकता होगी, आपको इसकी कब आवश्यकता होगी, और आपको किस तरह के रिटर्न का लक्ष्य रखना चाहिए। इक्विटी में टारगेट एसेट आवंटन मान लें: शुरुआत में डेट 50:50 प्रतिशत था। बाजार में मौजूदा उछाल के परिणामस्वरूप स्टॉक्स ने अच्छा प्रदर्शन किया और स्टॉक का वेट बढ़कर 60% हो गया। पोर्टफोलियो एलोकेशन को मूल एलोकेशन में वापस लाने के लिए निवेशक अब स्टॉक यूनिट्स को बेच सकता है और डेट इंस्‍ट्रूमेंट खरीद सकता है। कई निवेशक कुछ फंड खरीदते हैं और इस बात पर ध्‍यान दिये बिना यूनिट्स को रखते हैं कि वे कितना अच्छा प्रदर्शन करते हैं। कई कारणों से, यह अक्सर प्रतिकूल होता है:

1. जैसा कि इसमें कोई विविधीकरण नहीं है, और खतरा बढ़ जाता है क्योंकि सभी पूरे निवेश को एक या दो बास्‍केट में रखा जाता है

2. अवसर की लागत - अलग-अलग समय पर, विभिन्न मार्केट सेक्‍टर दूसरों से बेहतर प्रदर्शन करते हैं।

एक पोर्टफोलियो बनाना जो आपके उद्देश्यों के अनुकूल हो और नियमित रूप से इसकी निगरानी करने से, आपके रिटर्न में काफी सुधार हो सकता है।

यह भी पढें-म्यूचुअल फंड्स में निवेश के बारे में आप कितना जानते हैं?

एक बार जब आप एलोकेशन, कैटगरीज़ और फंड्स की राशि तय कर लेते हैं, तो आप फंड्स का चुनाव कैसे करते हैं?

हालांकि विचार करने के लिए विभिन्न चीजें हैं, विभिन्न प्रकार के प्रतिष्ठित फंड हाउसों से अच्छी तरह से स्थापित फंड चुनना और बेंचमार्क और सहकर्मी समूहों के बेहतर प्रदर्शन का ट्रैक रिकॉर्ड होना आदर्श है। हालांकि इस बात की सिफारिश की जाती है कि आप अपने निवेश निर्णयों को केवल ऐतिहासिक प्रदर्शन पर आधारित न करें, यह हमेशा बेहतर होता है कि आप ऐसे फंड्स में बने रहें जो मार्केट साइकिल पर लगातार रिटर्न देते हैं।

अपने पोर्टफोलियो के लिए फंड्स चुनना किसी भी अन्य निवेश की तरह ही, आपके निवेश लक्ष्यों, जोखिम सहनशीलता और निवेश की अवधि पर आधारित होना चाहिए। निवेशक एक विविध पोर्टफोलियो ढूंढते हैं जो उनके उद्देश्यों को ध्यान में रखता है और अंतर्निहित जोखिमों को नियंत्रण में रखता है। आप यह तय करके शुरू कर सकते हैं कि आप किस फंड कैटेगरी में निवेश करना चाहते हैं। जब आप कैटेगरी को तय कर लेते हैं, आप विभिन्न फंड इन्स्टिट्यूशन द्वारा ऑफर किये जाने वाली विभिन्‍न प्‍लान्‍स को देख सकते हैं। किसी प्रोग्राम पर निर्णय लेने से पहले, अपनी आयु, आय और वित्तीय उद्देश्यों के बारे में सोचें। चेतावनी: "वन साइज़ फिट्स ऑल" दृष्टिकोण से बचा जाना चाहिए।

अंत में, यदि आप एक अच्छा और विविधतापूर्ण पोर्टफोलियो बनाना चाहते हैं तो अपने पोर्टफोलियो को स्टार रेटिंग पर आधारित न करें। वे पहली बार में ठीक हैं, लेकिन आपको फंड्स को सेटल करने के लिए गहराई में जाना होगा। एक सफल म्यूचुअल फंड पोर्टफोलियो बनाने में आपके विशिष्ट वित्तीय लक्ष्यों के आधार पर काफी योजना बनाना शामिल होता है। यदि आप इसे खुद कर सकते हैं तो यह बहुत अच्‍छा होगा। अगर बाकी सब कुछ विफल हो जाता है, तो किसी इन्‍वेस्टिंग एक्‍सपर्ट की सलाह लें।

यह भी पढें- म्यूचुअल फंड्स के प्रकार और उनमें निवेश करना कैसे शुरू करें

संवादपत्र

संबंधित लेख