All time High of Britannia Shares: ब्रिटानिया शेयर्स में 10% उछाल, पहुँचा उच्चतम स्तर पर

दूसरी तिमाही के अंत में शानदार प्रदर्शन करते हुए ब्रिटानिया शेयर्स की कीमत में 10% का उछाल आया है।

Britannia stocks all time high

Britannia stocks all time high: वित्त वर्ष 2022 की दूसरी तिमाही खत्म होने के बाद एफएमसीजी (FMCG) द्वारा जारी किए गए आँकड़ों के अनुसार शुद्ध लाभ में 8.38% की वृद्धि हुई जो ₹490.58 करोड़ की थी। जबकि 2021 के वित्त वर्ष में इसी तिमाही में शुद्ध लाभ ₹384.22 करोड़ था। शानदार प्रदर्शन के चलते ब्रिटानिया के शेयर में 10% का उछाल आया। साथ ही शेयर ने अपने अब तक के सबसे ऊँचे स्तर यानी ₹4,181.40 को प्राप्त कर लिया है। 

उच्चतम तिमाही राजस्व (Highest Quarterly Revenue)

शुक्रवार को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) में फाइलिंग करते हुए ब्रिटानिया इंडस्ट्रीज ने यह घोषणा की है कि उसने उच्चतम तिमाही राजस्व प्राप्त कर लिया है। सितंबर में खत्म हुई तिमाही के दौरान कंपनी को परिचालन (ऑपरेशन्स) से प्राप्त राजस्व में 21.4% के वृद्धि हुई। इसके साथ राजस्व ₹4,379.61 करोड़ रहा है। बीते वर्ष इसी तिमाही में यह राजस्व ₹3,607.37 करोड़ का था।

शेयर बाजार बुलिश 

ब्रिटानिया के दमदार प्रदर्शन को देखते हुए ब्रोकर्स सकारात्मक हैं और उन्होंने इसके प्रति खासा उत्साह दिखाया है। स्टॉक के प्रति बाजार बुलिश है। जेएम फाइनेंशियल ने कहा कि सितंबर-Q की रिपोर्ट एक सुखद आश्चर्य थी जिसके चलते अब ब्रिटानिया के लिए ₹4,210 का टारगेट प्राइस का सुझाव दिया है। उनके अनुसार 2Q के मार्जिन प्रोफाइल में जो अंतर दिखाई दिया है उसका कारण पिछले कई तिमाहियों में 9-11% के बीच बनी हुई मूल्यवृद्धि का बढ़कर 17% हो जाना है। पिछले कई महीनों से प्रबंधन का रुख कारोबार के प्रति सकारात्मक रहा है। ब्रिटानिया के मजबूत प्रदर्शन के पीछे उसकी अपनी जीटीएम (GTM) रणनीति और वितरण में वृद्धि का योगदान रहा है। 

यह भी पढ़ें: बजाज फाइनेंस के शेयरों की शानदार उड़ान

स्टॉक को होल्ड के स्थान पर ऐड की रेटिंग 

आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज ने ब्रिटानिया के स्टॉक को ₹4,300 के टारगेट प्राइस के साथ होल्ड को हटाकर ऐड की रेटिंग दी है। यह ब्रिटानिया का पिछले तीन सालों में सबसे मजबूत और टिकाऊ प्रदर्शन है जिसमें शेयर के दाम में वृद्धि एक प्रमुख कारण है। गौरतलब है कि ब्रिटानिया का कोर मार्जिन अभी तक ग्रोथ को उतना अधिक बढ़ावा नहीं दे रहा था। उन्होंने बताया कहा कि “ब्रिटानिया को अब प्रीमियम दर्जा फिर से हासिल करना होगा। कोविड के पहले की स्थितियों में री-रेटिंग चक्र के लिए बनी सहमति में कंपनी के प्रति उदारता बरती गई थी। लेकिन अब इससे आगे सफलता के लिए कम से कम कुछ नए क्षेत्रों और मौजूदा श्रेणियों में सुधार (रीवैंप) करना अनिवार्य होगा। कंपनी के लिए इस प्रकार का दृष्टिकोण बेहतर साबित हो सकता है।” 

नुवामा इंस्टिट्यूशनल इक्विटीज का रुख भी ब्रिटानिया के प्रति बेहद आशाजनक है। उन्होंने ब्रिटानिया के लिए ₹4,620 के टारगेट मूल्य के साथ ‘खरीद’ का टैग बरकरार रखा है। उन्होंने बताया कि ग्रॉस और ईबीआईटीडीए (EBITDA) मार्जिन दोनों के साथ YoY/QoQ में वृद्धि एक सुखद आश्चर्य रही। दूसरे, कई श्रेणियों में नए उत्पाद लॉन्च किए गए जिसके कारण भी वृद्धि में मजबूती दिखी। 

कुल मिलाकर बिस्कुट की श्रेणी में राजस्व अधिक मिलने के कारण प्रदर्शन अच्छा रहा। यह इस बात की पुष्टि करता है कि आम सहमति के विरुद्ध बिस्कुट उन कुछ श्रेणियों में से एक है जिनमें खपत में फिर से बढ़ोतरी दिख रही है।  

यह जानकारी पाठकों की सुविधा के लिए दी गई है, निवेश की सलाह नहीं। 

यह भी पढ़ें: RBI की मौद्रिक नीति समीक्षा FD को प्रभावित करती 

Britannia stocks all time high: वित्त वर्ष 2022 की दूसरी तिमाही खत्म होने के बाद एफएमसीजी (FMCG) द्वारा जारी किए गए आँकड़ों के अनुसार शुद्ध लाभ में 8.38% की वृद्धि हुई जो ₹490.58 करोड़ की थी। जबकि 2021 के वित्त वर्ष में इसी तिमाही में शुद्ध लाभ ₹384.22 करोड़ था। शानदार प्रदर्शन के चलते ब्रिटानिया के शेयर में 10% का उछाल आया। साथ ही शेयर ने अपने अब तक के सबसे ऊँचे स्तर यानी ₹4,181.40 को प्राप्त कर लिया है। 

उच्चतम तिमाही राजस्व (Highest Quarterly Revenue)

शुक्रवार को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) में फाइलिंग करते हुए ब्रिटानिया इंडस्ट्रीज ने यह घोषणा की है कि उसने उच्चतम तिमाही राजस्व प्राप्त कर लिया है। सितंबर में खत्म हुई तिमाही के दौरान कंपनी को परिचालन (ऑपरेशन्स) से प्राप्त राजस्व में 21.4% के वृद्धि हुई। इसके साथ राजस्व ₹4,379.61 करोड़ रहा है। बीते वर्ष इसी तिमाही में यह राजस्व ₹3,607.37 करोड़ का था।

शेयर बाजार बुलिश 

ब्रिटानिया के दमदार प्रदर्शन को देखते हुए ब्रोकर्स सकारात्मक हैं और उन्होंने इसके प्रति खासा उत्साह दिखाया है। स्टॉक के प्रति बाजार बुलिश है। जेएम फाइनेंशियल ने कहा कि सितंबर-Q की रिपोर्ट एक सुखद आश्चर्य थी जिसके चलते अब ब्रिटानिया के लिए ₹4,210 का टारगेट प्राइस का सुझाव दिया है। उनके अनुसार 2Q के मार्जिन प्रोफाइल में जो अंतर दिखाई दिया है उसका कारण पिछले कई तिमाहियों में 9-11% के बीच बनी हुई मूल्यवृद्धि का बढ़कर 17% हो जाना है। पिछले कई महीनों से प्रबंधन का रुख कारोबार के प्रति सकारात्मक रहा है। ब्रिटानिया के मजबूत प्रदर्शन के पीछे उसकी अपनी जीटीएम (GTM) रणनीति और वितरण में वृद्धि का योगदान रहा है। 

यह भी पढ़ें: बजाज फाइनेंस के शेयरों की शानदार उड़ान

स्टॉक को होल्ड के स्थान पर ऐड की रेटिंग 

आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज ने ब्रिटानिया के स्टॉक को ₹4,300 के टारगेट प्राइस के साथ होल्ड को हटाकर ऐड की रेटिंग दी है। यह ब्रिटानिया का पिछले तीन सालों में सबसे मजबूत और टिकाऊ प्रदर्शन है जिसमें शेयर के दाम में वृद्धि एक प्रमुख कारण है। गौरतलब है कि ब्रिटानिया का कोर मार्जिन अभी तक ग्रोथ को उतना अधिक बढ़ावा नहीं दे रहा था। उन्होंने बताया कहा कि “ब्रिटानिया को अब प्रीमियम दर्जा फिर से हासिल करना होगा। कोविड के पहले की स्थितियों में री-रेटिंग चक्र के लिए बनी सहमति में कंपनी के प्रति उदारता बरती गई थी। लेकिन अब इससे आगे सफलता के लिए कम से कम कुछ नए क्षेत्रों और मौजूदा श्रेणियों में सुधार (रीवैंप) करना अनिवार्य होगा। कंपनी के लिए इस प्रकार का दृष्टिकोण बेहतर साबित हो सकता है।” 

नुवामा इंस्टिट्यूशनल इक्विटीज का रुख भी ब्रिटानिया के प्रति बेहद आशाजनक है। उन्होंने ब्रिटानिया के लिए ₹4,620 के टारगेट मूल्य के साथ ‘खरीद’ का टैग बरकरार रखा है। उन्होंने बताया कि ग्रॉस और ईबीआईटीडीए (EBITDA) मार्जिन दोनों के साथ YoY/QoQ में वृद्धि एक सुखद आश्चर्य रही। दूसरे, कई श्रेणियों में नए उत्पाद लॉन्च किए गए जिसके कारण भी वृद्धि में मजबूती दिखी। 

कुल मिलाकर बिस्कुट की श्रेणी में राजस्व अधिक मिलने के कारण प्रदर्शन अच्छा रहा। यह इस बात की पुष्टि करता है कि आम सहमति के विरुद्ध बिस्कुट उन कुछ श्रेणियों में से एक है जिनमें खपत में फिर से बढ़ोतरी दिख रही है।  

यह जानकारी पाठकों की सुविधा के लिए दी गई है, निवेश की सलाह नहीं। 

यह भी पढ़ें: RBI की मौद्रिक नीति समीक्षा FD को प्रभावित करती 

Expert Article block example

संवादपत्र

संबंधित लेख