TCS dividend: टीसीएस के शेयरधारकों को मिलने वाला है बेहतर डिविडेंड!

राजस्व बढ़ने पर डिविडेंड भी अच्छा देने जा रही है टीसीएस।

टीसीएस के मुनाफे में बढ़ोत्तरी

TCS dividend: टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज या टीसीएस टाटा समूह की प्रसिद्ध कंपनी है, जो आईटी सेक्टर में काम करती है। चालू वित्त वर्ष की तीसरी यानी अक्टूबर से दिसंबर तक की तिमाही में इस कंपनी के शुद्ध लाभ में 11 प्रतिशत की बढ़त हुई है और यह कुल मिलाकर 10,846 करोड़ रुपए रहा है। दूसरी तरफ कंपनी का लाभ कम हुआ है। लेकिन भविष्य के सौदों के बारे में कंपनी को काफी उम्मीद है। टीसीएस ने सोमवार को जानकारी दी कि विदेशी मुद्रा में आय बढ़ने और कुल वृद्धि के कारण उसका लाभ बढ़ा है। कंपनी कई साल बाद कर्मचारियों की संख्या में कमी भी करने जा रही है। कंपनी ने कहा कि यह कमी मांग कमजोर होने से नहीं की जा रही है और अगले वित्त वर्ष में वह लगभग 1.50 लाख कर्मचारियों को काम पर रखेगी।

यह भी पढ़ें: ७ वित्तीय नियम

टीसीएस का विदेशी परिचालन और खर्च 

राजेश गोपीनाथन ने कहा कि 'ये क्षेत्र कंपनी के राजस्व में दो-तिहाई का योगदान देते हैं। लेकिन कुछ सामयिक अनिश्चितताएं भी हैं। यूरोप पर ध्यान देते रहना आवश्यक है, क्योंकि वैश्विक तनाव को देखते हुए ग्राहक आईटी पर खर्च करने से कतराते हैं।'

एन. गणपति सुब्रमण्यम के अनुसार सौदे अच्छे चल रहे हैं और लगता है कि तनाव के इस परिवेश में भी प्रौद्योगिकी पर खर्च को लेकर स्थिति पहले जैसी ही है। कंपनी ने नये सौदों में इस तिमाही के लिये 7.9 अरब डॉलर के कुल अनुबंध की जानकारी दी। गोपीनाथन ने कहा कि यह 7-9 अरब डॉलर डालर के लक्ष्य की सीमा में है। गोपीनाथन ने क्लाउड आधारित सेवाओं को इस तिमाही में कंपनी के मजबूत प्रदर्शन की वजह बताया, और बिना कोई स्पष्ट जानकारी दिए कहा कि बाजार में कंपनी की हिस्सेदारी बढ़ी है। 

पिछली तिमाही में टीसीएस के कर्मचारियों की संख्या 2,197 कम हुई थी और उसके बाद कर्मचारियों की कुल संख्या 6,13,974 रह गई है। कई सालों के बाद इस तिमाही में कर्मचारियों की संख्या में कमी आई है। कंपनी के मुख्य मानव संसाधन अधिकारी ने मिलिंद लक्कड ने कहा कि कंपनी को छोड़कर गए कर्मचारियों से कम लोगों की नियुक्ति इस कमी की मुख्य वजह है। कंपनी ने वित्त वर्ष 2022-2023 की पिछली तीन तिमाहियों में 42,000 नए स्नातकों को नौकरियां दी। आखिरी तिमाही में भी कंपनी कुछ और नियुक्तियां करेगी। गोपीनाथन ने कहा कि अगले वित्त वर्ष में कंपनी 1.25 से 1.5 लाख तक नए कर्मचारी नियुक्त करेगी।

यह भी पढ़ें: मार्केट में निफ़्टी ५० से रिटर्न कैसे पाए?

TCS Reports Q3 Earnings

TCS dividend: टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज या टीसीएस टाटा समूह की प्रसिद्ध कंपनी है, जो आईटी सेक्टर में काम करती है। चालू वित्त वर्ष की तीसरी यानी अक्टूबर से दिसंबर तक की तिमाही में इस कंपनी के शुद्ध लाभ में 11 प्रतिशत की बढ़त हुई है और यह कुल मिलाकर 10,846 करोड़ रुपए रहा है। दूसरी तरफ कंपनी का लाभ कम हुआ है। लेकिन भविष्य के सौदों के बारे में कंपनी को काफी उम्मीद है। टीसीएस ने सोमवार को जानकारी दी कि विदेशी मुद्रा में आय बढ़ने और कुल वृद्धि के कारण उसका लाभ बढ़ा है। कंपनी कई साल बाद कर्मचारियों की संख्या में कमी भी करने जा रही है। कंपनी ने कहा कि यह कमी मांग कमजोर होने से नहीं की जा रही है और अगले वित्त वर्ष में वह लगभग 1.50 लाख कर्मचारियों को काम पर रखेगी।

यह भी पढ़ें: ७ वित्तीय नियम

टीसीएस का विदेशी परिचालन और खर्च 

राजेश गोपीनाथन ने कहा कि 'ये क्षेत्र कंपनी के राजस्व में दो-तिहाई का योगदान देते हैं। लेकिन कुछ सामयिक अनिश्चितताएं भी हैं। यूरोप पर ध्यान देते रहना आवश्यक है, क्योंकि वैश्विक तनाव को देखते हुए ग्राहक आईटी पर खर्च करने से कतराते हैं।'

एन. गणपति सुब्रमण्यम के अनुसार सौदे अच्छे चल रहे हैं और लगता है कि तनाव के इस परिवेश में भी प्रौद्योगिकी पर खर्च को लेकर स्थिति पहले जैसी ही है। कंपनी ने नये सौदों में इस तिमाही के लिये 7.9 अरब डॉलर के कुल अनुबंध की जानकारी दी। गोपीनाथन ने कहा कि यह 7-9 अरब डॉलर डालर के लक्ष्य की सीमा में है। गोपीनाथन ने क्लाउड आधारित सेवाओं को इस तिमाही में कंपनी के मजबूत प्रदर्शन की वजह बताया, और बिना कोई स्पष्ट जानकारी दिए कहा कि बाजार में कंपनी की हिस्सेदारी बढ़ी है। 

पिछली तिमाही में टीसीएस के कर्मचारियों की संख्या 2,197 कम हुई थी और उसके बाद कर्मचारियों की कुल संख्या 6,13,974 रह गई है। कई सालों के बाद इस तिमाही में कर्मचारियों की संख्या में कमी आई है। कंपनी के मुख्य मानव संसाधन अधिकारी ने मिलिंद लक्कड ने कहा कि कंपनी को छोड़कर गए कर्मचारियों से कम लोगों की नियुक्ति इस कमी की मुख्य वजह है। कंपनी ने वित्त वर्ष 2022-2023 की पिछली तीन तिमाहियों में 42,000 नए स्नातकों को नौकरियां दी। आखिरी तिमाही में भी कंपनी कुछ और नियुक्तियां करेगी। गोपीनाथन ने कहा कि अगले वित्त वर्ष में कंपनी 1.25 से 1.5 लाख तक नए कर्मचारी नियुक्त करेगी।

यह भी पढ़ें: मार्केट में निफ़्टी ५० से रिटर्न कैसे पाए?

TCS Reports Q3 Earnings

संवादपत्र

संबंधित लेख