निवेश की रणनीतियां जो आपको अमीर बना सकती हैं

निवेश के ये सुनहरे नियम आपको वित्‍तीय सफलता के लिए तैयार कर सकते हैं।

निवेश करने के 5 नियम जो आपको अमीर बना सकते हैं

समझदारी से निवेश करने से आपको अपने जीवन के लक्ष्‍यों को पूरा करने में मदद मिल सकती है। चाहे आप घर खरीदना चाहते हों, विदेश यात्रा करने चाहते हों, अपने बच्‍चों की शिक्षा, या आराम से रिटायर होना चाहते हों, निवेश की सही रणनीतियां आपके सभी सपनों को पूरा कर सकती हैं। जबकि अमीर बनने के लिए जल्दी करना ठीक नहीं है, फिर भी विवेकपूर्ण निवेश के कुछ नियम वित्तीय स्वतंत्रता का रास्‍ता बना सकते हैं।

1. जल्‍दी शुरू करें

अमीर बनने के इस पहले नियम पर इससे ज्यादा जोर नहीं दिया जा सकता है। आप जितना जल्‍दी शुरूआत करते हैं, आप अपने पैसे को बढने और कंपाउंड होने का उतना ज्‍यादा समय देते हैं। यहां पर इसे समझाने का एक आसान तरीका है: यदि आप अपनी 20 वर्ष की आयु में शुरू करते हैं और समझदारी से निवेश करते हैं, तो हर साल के साथ आपका पैसा बढ़ता जाएगा। इससे सुनिश्चित होगा कि 40 की आयु में आपके पास घर खरीदने के लिए अच्छी खासी रकम है या अपनी 60 की आयु में आप आराम से रिटायर होते हैं। उदाहरण के लिए, यदि आप अनुमानित 12% वार्षिक रिटर्न पर 10,000 रुपये प्रति माह का मामूली निवेश करते हैं, तो 10 वर्षों के अंत में आपकी राशि बढ़कर 23.5 लाख रुपये हो जाएगी। यहां तक कि यदि आप निवेश करना बंद कर देते हैं और अगले 10 वर्षों तक पैसे को कंपाउंड होने देते हैं, तो आपका 12 लाख रुपये का प्राथमिक निवेश 6 गुना बढ़कर 77 लाख रुपये हो जाएगा!

2. लक्ष्य-आधारित निवेश का अभ्यास करें

आपके निवेश को एक दिशा, केंद्रित रहने की आवश्‍यकता होती है। निवेश के बारे में अनुशासित होने और अटल रहने के लिए यह आवश्‍यक है। यह आपको समय-समय पर अपनी बचत को कम करने से रोकता है और आपको अपने विशेष लक्ष्‍य को पूरा करने के लिए बचत करते रहने के लिए प्रोत्‍साहित करता है। उदाहरण के लिए, यदि आपका लक्ष्‍य दो साल में सुंदर यूरोपियन टूर पर जाना है, तो आपको एक उपयुक्‍त टूल चुनना होगा जो आपको आवश्यक समय सीमा में मनचाहा रिटर्न देगा और इसमें लगातार निवेश करें। यदि कभी आपको शॉपिंग पर जाने या कोई महंगा गैजेट खरीदने के लिए एक या दो महीने के लिए निवेश बंद करने की इच्छा महसूस होती है, तो ऐल्प्स की प्रशंसा करते हुए अपने दिन बिताने का लक्ष्य आपको उस पैसे को खर्च करने से रोकेगा और आपको अपने निवेश पर केंद्रित रखेगा।

3. अपनी जोखिम की क्षमता के अनुसार निवेश करें 

हम सभी में जोखिम संबंधी अलग-अलग व्यक्तित्व होते हैं, इसलिए निवेश का चुनाव करने से पहले आपको अपने बारे में समझना महत्वपूर्ण है। जोखिम लेने की क्षमता का अर्थ उस अधिकतम जोखिम से है जिसे आप अपने निवेश लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए अपने पैसे पर लेने को तैयार हैं। उदाहरण के लिए, यदि आप पूंजी के लिए 10% जोखिम के साथ 7% वार्षिक RoI पाकर खुश हैं, तो आपको कम जोखिम वाला माना जाएगा। इसके विपरीत, यदि आप किसी ऐसी सम्पत्ति में निवेश करने के लिए तैयार हैं जो 20% रिटर्न देता है, लेकिन उसमें 50% का पूंजी जोखिम  है, तो आप उच्च जोखिम लेने को तैयार होगे। अपने जोखिम-प्रतिफल उदाहरण के अनुसार निवेश करने से आप विकल्पों की एक विस्तृत श्रृंखला से उपयुक्त सम्पत्ति चुन सकते हैं, अपेक्षाओं का प्रबंधन कर सकते हैं और किसी भी आकस्मिकता के लिए योजना बना सकते हैं। उदाहरण के लिए, F&O ट्रेडिंग के लिए हेजिंग शेयर मार्केट की लोकप्रिय रणनीतियों में से एक है जो निवेशकों को मंदी के मामले में पूरे नुकसान को वहन किए बिना लाभ को अनुकूलित करने में सक्षम बनाता है। 

4. अपने पोर्टफोलियो में विविधता लाएं

अपने सभी साधन एक जगह न रखने की सदियों पुरानी सलाह आज भी 100% उपयुक्‍त और सही है। अपने सभी निवेश को एक विशेष म्यूचुअल फंड या स्टॉक में रखने से उच्च जोखिम होता है और उच्च रिटर्न मिलता है। यदि वह स्टॉक अच्छा प्रदर्शन करता है, तो आप पर्याप्त लाभ कमा सकते हैं, लेकिन यदि यह नीचे की ओर जाता है, तो आपकी मेहनत की कमाई का नुकसान होता है। निवेश की सबसे अच्छी रणनीति यह है कि आप अपने पोर्टफोलियो को म्यूचुअल फंड, बॉन्ड, स्टॉक, गोल्‍ड, नकद, फिक्‍स डिपॉज़िट, आदि जैसे विभिन्न प्रकार के एसेट्स के साथ विविधता प्रदान करें। एसेट्स का एक सावधानीपूर्वक चुना गया मिश्रण बाजार की विभिन्न स्थितियों का सामना करेगा, उतार-चढ़ाव के खिलाफ बचाव प्रदान करेगा और यह सुनिश्चित करेगा कि आपकी राशि सुरक्षित है।

5. धन संचय करने के लिए संतुष्टि की जल्दीबाजी न करें

मार्शमैलो टेस्ट केवल बच्‍चों पर लागू नहीं होता है; यह वयस्‍कों के लिए भी वास्‍तव में अच्‍छे परिणाम दे सकता है। अपरिचितों के लिए, 1970 में एक प्रयोग किया गया था, जहां बच्‍चों को मिठाई दी गई थी और उसे खाने के लिए इंतजार करने के लिए कहा गया था। उनके कहा गया था कि अगर वे आत्म-संयम दिखाते हैं और इंतजार करते हैं, तो उन्हें दूसरी ट्रीट भी दी जाएगी। उसके परिणाम अभूतपूर्व थे। टेस्‍ट के पता चला कि जिन बच्‍चों ने इंतजार किया था उन्‍हें बेहतर ग्रेड, उच्‍चतम SAT स्‍कोर मिलते रहे, ज्यादा फिट थे और उन बच्चों की तुलना में व्यवहार संबंधी कम समस्‍याओं का सामना करते थे जिन्होंने अपनी ट्रीट को तुरंत खा लिया था। ऐसा ही धन सृजन के लिए भी है। यदि आप अपने वेतन को तुरंत न खर्च करके संतुष्टि के लिए जल्दीबाजी नहीं करते हैं, तो, आपके पास निवेश करने, कंपाउंड करने और पर्याप्त संपत्ति बनाने के लिए पैसा बचा होगा।

अमीर होने के अर्थ अलग-अलग लोगों के लिए अलग-अलग चीजें हैं। इस बात पर ध्‍यान दिए बिना कि आपके लिए इसका क्‍या मतलब है, ये नियम मनचाहे स्‍तर तक धन प्राप्‍त करने में आपकी मदद कर सकते हैं। यदि आप अपनी बचत में और निवेश की रणनीति में अनुशासित हैं और निवेश के इन आसान नियमों का पालन करते हैं, तब आप अपने बाकी जीवन में आरामदायक ज़िंदगी जीने के लिए पर्याप्‍त धन संचय कर सकते हैं। ये नियम अच्छी आदतों को विकसित करने में आपकी सहायता करेंगे जो आपको वित्तीय स्वतंत्रता की राह पर ले जाएंगे - चाहे आपके लिए इसका कोई भी मतलब हो।

समझदारी से निवेश करने से आपको अपने जीवन के लक्ष्‍यों को पूरा करने में मदद मिल सकती है। चाहे आप घर खरीदना चाहते हों, विदेश यात्रा करने चाहते हों, अपने बच्‍चों की शिक्षा, या आराम से रिटायर होना चाहते हों, निवेश की सही रणनीतियां आपके सभी सपनों को पूरा कर सकती हैं। जबकि अमीर बनने के लिए जल्दी करना ठीक नहीं है, फिर भी विवेकपूर्ण निवेश के कुछ नियम वित्तीय स्वतंत्रता का रास्‍ता बना सकते हैं।

1. जल्‍दी शुरू करें

अमीर बनने के इस पहले नियम पर इससे ज्यादा जोर नहीं दिया जा सकता है। आप जितना जल्‍दी शुरूआत करते हैं, आप अपने पैसे को बढने और कंपाउंड होने का उतना ज्‍यादा समय देते हैं। यहां पर इसे समझाने का एक आसान तरीका है: यदि आप अपनी 20 वर्ष की आयु में शुरू करते हैं और समझदारी से निवेश करते हैं, तो हर साल के साथ आपका पैसा बढ़ता जाएगा। इससे सुनिश्चित होगा कि 40 की आयु में आपके पास घर खरीदने के लिए अच्छी खासी रकम है या अपनी 60 की आयु में आप आराम से रिटायर होते हैं। उदाहरण के लिए, यदि आप अनुमानित 12% वार्षिक रिटर्न पर 10,000 रुपये प्रति माह का मामूली निवेश करते हैं, तो 10 वर्षों के अंत में आपकी राशि बढ़कर 23.5 लाख रुपये हो जाएगी। यहां तक कि यदि आप निवेश करना बंद कर देते हैं और अगले 10 वर्षों तक पैसे को कंपाउंड होने देते हैं, तो आपका 12 लाख रुपये का प्राथमिक निवेश 6 गुना बढ़कर 77 लाख रुपये हो जाएगा!

2. लक्ष्य-आधारित निवेश का अभ्यास करें

आपके निवेश को एक दिशा, केंद्रित रहने की आवश्‍यकता होती है। निवेश के बारे में अनुशासित होने और अटल रहने के लिए यह आवश्‍यक है। यह आपको समय-समय पर अपनी बचत को कम करने से रोकता है और आपको अपने विशेष लक्ष्‍य को पूरा करने के लिए बचत करते रहने के लिए प्रोत्‍साहित करता है। उदाहरण के लिए, यदि आपका लक्ष्‍य दो साल में सुंदर यूरोपियन टूर पर जाना है, तो आपको एक उपयुक्‍त टूल चुनना होगा जो आपको आवश्यक समय सीमा में मनचाहा रिटर्न देगा और इसमें लगातार निवेश करें। यदि कभी आपको शॉपिंग पर जाने या कोई महंगा गैजेट खरीदने के लिए एक या दो महीने के लिए निवेश बंद करने की इच्छा महसूस होती है, तो ऐल्प्स की प्रशंसा करते हुए अपने दिन बिताने का लक्ष्य आपको उस पैसे को खर्च करने से रोकेगा और आपको अपने निवेश पर केंद्रित रखेगा।

3. अपनी जोखिम की क्षमता के अनुसार निवेश करें 

हम सभी में जोखिम संबंधी अलग-अलग व्यक्तित्व होते हैं, इसलिए निवेश का चुनाव करने से पहले आपको अपने बारे में समझना महत्वपूर्ण है। जोखिम लेने की क्षमता का अर्थ उस अधिकतम जोखिम से है जिसे आप अपने निवेश लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए अपने पैसे पर लेने को तैयार हैं। उदाहरण के लिए, यदि आप पूंजी के लिए 10% जोखिम के साथ 7% वार्षिक RoI पाकर खुश हैं, तो आपको कम जोखिम वाला माना जाएगा। इसके विपरीत, यदि आप किसी ऐसी सम्पत्ति में निवेश करने के लिए तैयार हैं जो 20% रिटर्न देता है, लेकिन उसमें 50% का पूंजी जोखिम  है, तो आप उच्च जोखिम लेने को तैयार होगे। अपने जोखिम-प्रतिफल उदाहरण के अनुसार निवेश करने से आप विकल्पों की एक विस्तृत श्रृंखला से उपयुक्त सम्पत्ति चुन सकते हैं, अपेक्षाओं का प्रबंधन कर सकते हैं और किसी भी आकस्मिकता के लिए योजना बना सकते हैं। उदाहरण के लिए, F&O ट्रेडिंग के लिए हेजिंग शेयर मार्केट की लोकप्रिय रणनीतियों में से एक है जो निवेशकों को मंदी के मामले में पूरे नुकसान को वहन किए बिना लाभ को अनुकूलित करने में सक्षम बनाता है। 

4. अपने पोर्टफोलियो में विविधता लाएं

अपने सभी साधन एक जगह न रखने की सदियों पुरानी सलाह आज भी 100% उपयुक्‍त और सही है। अपने सभी निवेश को एक विशेष म्यूचुअल फंड या स्टॉक में रखने से उच्च जोखिम होता है और उच्च रिटर्न मिलता है। यदि वह स्टॉक अच्छा प्रदर्शन करता है, तो आप पर्याप्त लाभ कमा सकते हैं, लेकिन यदि यह नीचे की ओर जाता है, तो आपकी मेहनत की कमाई का नुकसान होता है। निवेश की सबसे अच्छी रणनीति यह है कि आप अपने पोर्टफोलियो को म्यूचुअल फंड, बॉन्ड, स्टॉक, गोल्‍ड, नकद, फिक्‍स डिपॉज़िट, आदि जैसे विभिन्न प्रकार के एसेट्स के साथ विविधता प्रदान करें। एसेट्स का एक सावधानीपूर्वक चुना गया मिश्रण बाजार की विभिन्न स्थितियों का सामना करेगा, उतार-चढ़ाव के खिलाफ बचाव प्रदान करेगा और यह सुनिश्चित करेगा कि आपकी राशि सुरक्षित है।

5. धन संचय करने के लिए संतुष्टि की जल्दीबाजी न करें

मार्शमैलो टेस्ट केवल बच्‍चों पर लागू नहीं होता है; यह वयस्‍कों के लिए भी वास्‍तव में अच्‍छे परिणाम दे सकता है। अपरिचितों के लिए, 1970 में एक प्रयोग किया गया था, जहां बच्‍चों को मिठाई दी गई थी और उसे खाने के लिए इंतजार करने के लिए कहा गया था। उनके कहा गया था कि अगर वे आत्म-संयम दिखाते हैं और इंतजार करते हैं, तो उन्हें दूसरी ट्रीट भी दी जाएगी। उसके परिणाम अभूतपूर्व थे। टेस्‍ट के पता चला कि जिन बच्‍चों ने इंतजार किया था उन्‍हें बेहतर ग्रेड, उच्‍चतम SAT स्‍कोर मिलते रहे, ज्यादा फिट थे और उन बच्चों की तुलना में व्यवहार संबंधी कम समस्‍याओं का सामना करते थे जिन्होंने अपनी ट्रीट को तुरंत खा लिया था। ऐसा ही धन सृजन के लिए भी है। यदि आप अपने वेतन को तुरंत न खर्च करके संतुष्टि के लिए जल्दीबाजी नहीं करते हैं, तो, आपके पास निवेश करने, कंपाउंड करने और पर्याप्त संपत्ति बनाने के लिए पैसा बचा होगा।

अमीर होने के अर्थ अलग-अलग लोगों के लिए अलग-अलग चीजें हैं। इस बात पर ध्‍यान दिए बिना कि आपके लिए इसका क्‍या मतलब है, ये नियम मनचाहे स्‍तर तक धन प्राप्‍त करने में आपकी मदद कर सकते हैं। यदि आप अपनी बचत में और निवेश की रणनीति में अनुशासित हैं और निवेश के इन आसान नियमों का पालन करते हैं, तब आप अपने बाकी जीवन में आरामदायक ज़िंदगी जीने के लिए पर्याप्‍त धन संचय कर सकते हैं। ये नियम अच्छी आदतों को विकसित करने में आपकी सहायता करेंगे जो आपको वित्तीय स्वतंत्रता की राह पर ले जाएंगे - चाहे आपके लिए इसका कोई भी मतलब हो।

Expert Article block example

संवादपत्र

संबंधित लेख