Adani-Hindenburg case: Supreme Court grants Sebi time till August 14 to submit report in hindi

चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया (CJI) डी वाई चंद्रचूड़ ने अडानी-हिंडनबर्ग मामले पर अपनी रिपोर्ट जमा करने के लिए भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड यानी सेबी को 14 अगस्त तक का समय दिया

Adani-Hindenburg case

Adani-Hindenburg case: सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को अडानी-हिंडनबर्ग मामले पर अपनी रिपोर्ट जमा करने के लिए भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड यानी सेबी को 14 अगस्त तक का समय दे दिया है। चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया (CJI) डी वाई चंद्रचूड़ ने कहा कि विशेषज्ञ समिति ने अदालत के पहले के आदेश में तय दो महीने की समय सीमा को ध्यान में रखते हुए एक रिपोर्ट सौंपी है।

टाइम एक्सटेंशन देते हुए उन्होंने कहा कि इस मामले पर आगे की कार्यवाही गर्मियों की छुट्टी के बाद लिस्ट की जाएगी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक सीजेआई ने कहा कि पीठ समय सीमा को 30 सितंबर तक बढ़ा सकती थी लेकिन 14 अगस्त को हमें बताएं कि आप किस चरण में हैं...और हमें इनवेस्टिगेशन की पोजिशन पर एक रिपोर्ट दें। 

गौरतलब है कि 2 मार्च को सुप्रीम कोर्ट ने हिंडनबर्ग रिपोर्ट के बाद सेबी को अडानी समूह के शेयरों में कथित हेराफेरी की जांच का आदेश दिया था। शीर्ष अदालत ने यह निर्धारित करने के लिए छह सदस्यीय विशेषज्ञ समिति का भी गठन किया कि क्या इस मुद्दे से निपटने के लिए कोई नियामक विफलता थी। कमेटी को दो महीने के भीतर सीलबंद लिफाफे में रिपोर्ट देने को कहा गया है। सेबी की अध्यक्ष माधवी पुरी बुच को भी समिति को सभी प्रासंगिक जानकारी प्रदान करने का आदेश दिया गया था।

इससे पहले अप्रैल में सेबी ने सुप्रीम कोर्ट का रुख किया और अपनी जांच पूरी करने के लिए छह महीने का अतिरिक्त समय मांगा था। इसने कहा कि वेरिफाइड कंन्कलूजन पर पहुंचने के लिए उचित होगा कि सुप्रीम कोर्ट सेबी को उचित जांच करने और निष्कर्ष निकालने के लिए कम से कम छह महीने का समय बढ़ाए।

संवादपत्र

संबंधित लेख