Akshay Kumar and Virendra Sehwag invested in organic farming startup Two Brothers Organic Farms in hindi

Organic Farming: ऐक्टर अक्षय कुमार और पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने ऑर्गेनिक फार्मिंग से जुड़े स्टार्ट-अप टू ब्रदर्स ऑर्गेनिक फार्म (TBOF) में निवेश किया है। उन्होंने प्री-सीरीज ए फंडिंग राउंड के दौरान निवेश किया।

Two Brothers Organic Farms

Organic Farming: अब लोग बॉलीवुड ऐक्टर अक्षय कुमार और पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग द्वारा समर्थित स्टार्टअप के ऑर्गेनिक फूड खाएंगे। जी हां, दोनों ने ऑर्गेनिक फार्मिंग से जुड़े स्टार्ट-अप टू ब्रदर्स ऑर्गेनिक फार्म (TBOF) में पैसे लगाए हैं। उन्होंने प्री-सीरीज ए फंडिंग राउंड के दौरान इन्वेस्ट किया था। प्री-सीरीज ए फंडिंग फर्स्ट स्टेड के स्टार्टअप फंडिंग का एक फेज है, जो आमतौर पर सीड फंडिंग के बाद और सीरीज ए फंडिंग से पहले आता है। इस दौर मे कंपनी ने 14.5 करोड़ रुपये जुटाए और अन्य निवेशकों में तेजेश चितलंगी, दुर्गा देवी वाघ, क्रेस्ट वेंचर्स, जावेद तापिया और राजू चेकुरी शामिल थे।

अक्षय कुमार ने कहा कि मैं सभी के लिए बेहतर और स्वस्थ भविष्य की दिशा में टीबीओएफ की यात्रा का हिस्सा बनकर रोमांचित हूं। मैं जैविक खेती के माध्यम से ग्रामीण समुदायों को सशक्त बनाने की टीबीओएफ की दृष्टि और प्रतिबद्धता में विश्वास करता हूं। अक्षय ने कहा कि स्वस्थ जैविक खाद्य उत्पादन और ग्रामीण क्षेत्र के विकास पर कंपनी के जोर के कारण उन्होंने टीबीओएफ में निवेश किया है।

क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने भी कंपनी में निवेश किया था। उन्होंने कहा कि वह किसान समुदाय और समाज के बेहतर स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव पैदा करने के प्रति टीबीओएफ की प्रतिबद्धता से प्रेरित थे। पूर्व सलामी बल्लेबाज ने कहा कि पूरे भारत और उसके बाहर किसानों के जीवन और लोगों के स्वास्थ्य पर उनके द्वारा लाए गए सकारात्मक प्रभाव को देखकर खुशी हो रही है।

टीबीओएफ एक नेचुरल और जैविक कृषि उत्पाद उत्पादक है, जिसकी स्थापना भोदानी, पुणे के दो भाइयों सत्यजीत हांगे और अजिंक्य हांगे ने की है। टीबीओएफ फंडिंग में मिले पैसे का उपयोग विनिर्माण क्षमता का विस्तार करने, किसान प्रशिक्षण केंद्रों का निर्माण करने और घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय व्यापार का विस्तार करने के लिए किया जाएगा। निवेश का उपयोग किसानों की मदद करने और गांवों में महिलाओं के लिए रोजगार के ज्यादा अवसर पैदा करने के लिए भी किया जाएगा।

संवादपत्र

संबंधित लेख