क्या आप अपने बच्चो को स्थिर आर्थिक भविष्य को स्थापित करना चाहते हैं ?

पैसो और वित्तीय स्वतंत्रता के बारे में समझना कभी भी शुरुआती नहीं है | क्या आपने बच्चो को समझाना शुरू किया, यही वह जानना चाहते हैं |

Are you giving the right financial planning education lessons to your child

अगर आपने अपने बच्चे के लिए एक गुल्लक लाया है और उन्हें बचत करने के लिए प्रोत्साहित किया है, तो आपने उनकी वित्तीय यात्रा की शुरुआत कर दी है | बचत करना ,योजना बनाना , और  स्वतंत्र होना वे ज़रूरी संस्कार हैं जिन्हे बचपन से ही विकसित करना चाहिए | जैसे आपके बच्चे बड़े होते जाते हैं, तो यह आपकी ज़िम्मेदारी है की आप उन्हें स्मार्ट धन प्रबंधन की तरफ मोड़े| वित्तीय योजना सीखाना, उतना ही महत्वपूर्ण है जितना एक बेहतरीन शिक्षा देना और अपने बच्चे का सही करियर बनाना |

अलग अलग ही है :

युवा पीढ़ी के होने के नाते, आप काम करते हैं और बचत करते हैं - यह संस्कार आप में आपके माता -पिता के कारण ही विकसित हुआ है | परन्तु आपकी विचारधारा, आपके तरीके, और जीवन के लक्ष्य (दोनों लघुकालिक और दीर्घकालिक) उनसे काफी अलग हो सकते हैं| और यह प्रक्रिया फिर दोहराएगी जब आपके बच्चे होंगे और वे इस दुनिया में अपना रास्ता बनाएँगे |

जब समय बदल रहा है, तो बचत करने के तरीके स्थिर नहीं हो सकते हैं | कुछ साल पहले स्वर्ण आभूषण खरीदना और घर खरीदना अपने भविष्य को सुरक्षित करने के तरीके हुए करते थे | पर क्या यह आज के समय के लिए भी लागू होता है ? आपको सिर्फ अपने बच्चे को एक स्थिर भविष्य की योजना बनाना सीखाना है, पर आपको वर्त्तमान के आर्थिक स्थिति अनुसार उन्हें सही सलाह भी देनी है |

घरेलु बचत तरीको में परिवर्तन:

पुराने ज़माने से ही भारत में घरेलु बचत जोखिम के प्रतिकूल है, सुरक्षित साधनो जैसे की फिक्स्ड डिपाजिट और पूर्वकथित स्वर्ण और संपत्ति पर निवेश किया जाता है| हालांकि, हाल ही के दिनों में, बचत के स्वरुप में महत्वपूर्ण संरचनात्मक परिवर्तन आये हैं |

सिस्टेमेटिक इन्वेस्टमेंट योजना ( एस.आई.पी) की लोकप्रियता, रिटेल निवेशकों में तेज़ी से बढ़ रही है | एस.आई.पी ने मार्किट पर निगरानी और उसके उतार चढ़ाव पर प्रतिक्रिया करने के प्रलोभन को हटा दिया है | 

ए.एम.एफ.आई के आंकड़े बताते हैं की एस.आई.पी ने अप्रैल 2017 में 4269 करोड़ रुपये का निवेश प्राप्त किया, 2012 के मुकाबले जिसमे 980 करोड़ प्रतिमाह था, जो एक्स - जनरेशन और मिलेनियल्स (सहस्त्राब्दी) के बीच उच्च घरेलु बचत की ओर एक प्रवृत्ति संकेत दे रहा है |

यहाँ निवेश के नया रास्ते हैं जैसे की म्यूच्यूअल फंड्स, इंस्युरेन्स उत्पाद, और ई.टी.एफ जिसपे  आपको ध्यान देना चाहिए | वह सिर्फ सुरक्षित ही नहीं, अपितु फिक्स्ड डिपाजिट के मुकाबले निवेशों में उच्च रिटर्न भी प्रदान कर रहे हैं | एक अभिभावक होने के नाते, आपको इन उत्पादों के ज्ञान से परिपूर्ण होना चाहिए ताकि आप अपने बच्चो को भी इसकी शिक्षा दे पाए | 

मिलेनियल्स के वित्तीय व्यवहार 

आइये नज़र डालते हैं की कैसे आपके बच्चे पैसो का उपयोग करते हैं और आप उनको कैसे प्रभावित कर सकते हैं | पारम्परिक पड़ाव जैसे की शादी करना, अपना घर और गाडी खरीदना, बच्चे होना, उनकी शिक्षा के लिए बचत करना और रिटायरमेंट की योजना बनाना 3 में से हर 2 मिलेनिअल के लिए ज़रूरी है परन्तु वे इन पहलुओं के लिए अपनी बचत बचा के रखते है |

पिछली पीढ़ियों के विपरीत, "शेयरिंग इकॉनमी' मिलेनियल्स को वित्तीय स्वामित्व का भार उठाए बिना ही यह सेवाएं प्रदान करती है | इसीलिए, स्वयं को क़र्ज़ में दबाने की बजाय ,मिलेनियल्स या तो बचत के लिए अपने जीवन के अंत तक इंतज़ार करते हैं जब तक बहुत पैसे न आ जाए या फिर वह चिंता ही नहीं करते |

आई.सी.आई.सी.आई लोम्बारड फण्ड के 2015 के एक अध्ययन अनुसार यह पाया गया की भारतीय मिलेनियल्स अपने कुल मासिक आय का ६९% ही खर्च करते हैं |

मिलेनियलो के वित्तीय आदतें इस तरह से बेहतर समझाई जा सकती है :

बजटिंग पर विश्वास न करे, बल्कि सुख, आराम और मनोरंजन पर खर्च करें |
बचत, अगर कोई है, तो जो बच जाती है उससे होती है
उनके साथियों के वित्तीय फैसले उनके चुनाव पर भी असर डालते हैं |
क्रेडिट कार्ड नकद के विकल्प के रूप में उपयोग किया जाता है |
वे 30 वर्ष के होने के पहले सेहत बीमा खरीद लेते हैं परन्तु उसके फायदे नहीं समझ पाते |
तकरीबन 43% खुद को रूढ़िवादी निवेशक मानते हैं |
वे पारम्परिक इन्वेस्टमेंट इंस्ट्रूमेंट को चुनते हैं और जोखिम उठाने से बचते हैं |

वित्तीय युक्तियाँ जो अभिभावक अपने मिलेनियल्स को दे सकते हैं |

एक अभिभावक होने के नाते आपको अपने बच्चे की खर्च की आदतों को समझना होगा और उनका मार्गदर्शन करना होगा ताकि वे जीवन के तिकड़म से आसानी से निकल पाए | उन्हें उनके दिमाग में यह बात डालनी होगी की जितनी जल्दी वह बचत करना शुरू करेंगे, उतना ज्यादा उन्हें कम्पाउंडिंग की शक्ति से प्राप्त होगा |

उन्हें इक्विटी केंद्रित इंस्ट्रूमेंट्स पर निवेश करने के लाभ बताए ताकि उनके पास चिंता करने के लिए कम ज़िम्मेदारियाँ हो |

यहां एक मूल योजना है जिसका आप वित्तीय योजना के लिए अनुसरण कर सकते हैं : अपने बच्चे को सिखाइये की कैसे वो पैसे बना सकता है ,एक सुरक्षा तंत्र बना सकता है और वित्तीय स्वतंत्रता भी पा सकता है, जिससे वह अपने मन मुताबिक़ ज़िन्दगी जिए |

सुरक्षा के लिए निवेश करें - एक बरसाती दिन के लिए बचत करने का महत्व आपके लिए स्पष्ट है| यहाँ कुछ अच्छे बचत के इंस्ट्रूमेंट हैं जो जोखिम के अनुकूल मिलेनिअल के वित्तीय लक्ष्यों को पूरा करने और आपातकाल के लिए बचत करने के लिए दिए हैं :

फिक्स्ड डिपाजिट
रेकरिंग डिपाजिट
नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट 

टैक्स बचाने के लिए निवेश करें - मिलेनियल्स उधार लेने और ज्यादा खर्च के लिए जाने जाते हैं | 

उनका ज्यादातर धन इ.एम.आई पटाने और क्रेडिट कार्ड के ऋण को चुकाने में खर्च हो जाता है | टैक्स बचत के विकल्पों में शामिल है :

कर्मचारी प्रोविडेंट फण्ड 
इक्विटी लिंक्ड बचत योजना 
इंफ्रास्ट्रक्चर बांड्स 
टर्म इंस्युरेन्स और इ.एल.एस.एस में बचत की राशि का निवेश करना 
शिक्षा ऋण चुकाना (ब्याज में टैक्स कटौती है)

इक्विटी में निवेश कीजिये- जितनी कम उम्र आपकी होगी, उतना ज्यादा आप जोखिम उठा सकते हैं| इक्विटी योजना उन लोगो के लिए एक अच्छा विकल्प है जिनमे मध्यम से ज्यादा ही जोखिम उठाने की लालसा होती है |

इक्विटी लिंक्ड म्यूच्यूअल फण्ड
स्टॉक्स ( परन्तु सिर्फ यदि आप दीर्घकालीन निवेश करे )

एक रोचक विशेषता निवेश के विभिन्न तत्वज्ञानो में निहित रहने का कार्यकाल है, भारत में  रिटेल निवेशकों में  57.3 % दो वर्ष से अधिक निहित रहते हैं | वाई जनरेशन के आकड़े 94% है| रिटायरमेंट को ध्यान में रखिये - दूर  के भविष्य के लिए बचत करने के महत्त्व पर ज़ोर देना चाहिए| जो आज एक छोटी राशि लगती है, वह 30 साल बाद बढ़कर बहुत बड़ी राशि बन जाएगी |

स्वर्ण में निवेश करें - इन्फ्लेशन के खिलाफ बचाव के रूप में इस बहुमूल्य धातु में निवेश अभी भी आपके बच्चो के लिए आकर्षक हो सकता है और एक संतुलित बचत पोर्टफोलियो का एक हिस्सा हो सकता है| यहाँ बहुत से मार्ग उपलब्ध हैं, जिसमे से अनेक सोने के भौतिक खरीदी पर भरोसा नहीं करते हैं |

एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स |
फण्ड ऑफ़ फंड्स |
स्वर्णमुद्रीकरण योजना 
आभूषण
स्वर्ण एकीकृत योजना 

एक अभिभावक होने के नाते, आपकी भूमिका सलाह और मार्गदर्शन देने की है| उम्र के साथ, बढ़ती ज़िम्मेदारियों के साथ, और जीवन के खुद के पाठ के शिक्षा के बाद, सबका व्यवहार बदल जाता है | अपने स्वयं के मार्ग को, अपने बच्चो का मार्गदर्शन करने दे |

संबंधित लेख

Most Shared