Experts bullish on TCS Shares: 25%की गिरावट के बावजूद विशेषज्ञ की राय में टीसीएस बुलिश

टीसीएस के शेयरों में बावन हफ्ते की उच्चतम दर से 25 प्रतिशत का लुढ़काव

टीसीएस के शेयर खरीदने का सबसे अच्छा मौका

Experts bullish on TCS Shares: गोल्डमैन सैक्स की एक रिपोर्ट में टीसीएस के स्टॉक को "खरीदने" की बजाए "बेचने" की सलाह दी गई और इस खबर के बाद टाटा समूह की कंपनी टीसीएस के स्टॉक में भारी बिकवाली देखी गई। टीसीएस के शेयरों ने 3.15 प्रतिशत से ज्यादा लुढ़क कर 3130 रुपये से नीचे कारोबार किया। टीसीएस के शेयरों में बावन हफ्ते की उच्चतम दर से 25 प्रतिशत का लुढ़काव देखा गया। आईटी सेक्टर की इस बहुमूल्य कंपनी के शेयर पिछले 5 सालों में 1250.18 रुपये से 4074.46 रुपये तक पहुंचे थे, जो इनकी 52 हफ्ते की उच्चतम कीमत है।

यह भी पढ़ेंअस्थिर मार्केट उच्च डिविडेंड वाले स्टॉक

टीसीएस के बारे में एक्सपर्ट्स की राय

शुक्रवार को टीसीएस के शेयर 1.19 प्रतिशत की गिरावट के साथ 3064.90 रुपये पर बंद हुआ था। पिछले तीन साल में लगभग 50 प्रतिशत मुनाफा देने वाला यह शेयर अपने 52 हफ्ते के निम्नतम स्तर के बेहद पास पहुंच गया है। पिछले एक साल में यह स्टॉक 21.27 प्रतिशत तक टूट चुका है। टीसीएस के शेयरों में 25% लुढ़काव होने के बावजूद बाजार के कई विशेषज्ञ टीसीएस को बुलिश मान रहे हैं। विशेषज्ञ इसे निवेश का सुनहरा मौका बता रहे हैं और टीसीएस के शेयरों को खरीदने की सलाह दे रहे हैं। उनका कहना है कि शेयर का भाव 3700 तक पहुंच सकता है। वे इस रेट पर इसमें भारी खरीदारी की सलाह दे रहे हैं।

हालांकि, टीसीएस के शेयरों को लेकर जानकारों की राय अलग-अलग है। बीएनपी परिबास सिक्योरिटीज ने टीसीएस के शेयरों की टार्गेट प्राइस 3700 रुपए रखी है, वहीं एचडीएफसी सिक्योरिटीज ने इसे 3620 रुपए रखा है। कुल 43 विशेषज्ञों में से 6 इन शेयरों को तुरंत खरीदने और 14 ने खरीदने की सलाह दी है। इसके अलावा जिनके पास पहले से ये शेयर हैं, 13 विशेषज्ञों ने उन्हें रोके रखने की सलाह दी है। जबकि 10 विशेषज्ञ कह रहे हैं कि इस स्टॉक को जितनी जल्दी हो बेच देना ही सही होगा।

वर्ष 2022 के 30 जून तक के आंकड़ों के अनुसार टीसीएस का 72.30 प्रतिशत स्टॉक प्रमोटर्स के पास है, जिसमें से 0.48 प्रतिशत बंधक है। विदेशी निवेशकों ने इसमें अपनी हिस्सेदारी कम करके 14.15 प्रतिशत से 13.50 प्रतिशत कर दी है, वहीं घरेलू निवेशकों की हिस्सेदारी 7.85 प्रतिशत से बढ़ाकर 8.36 प्रतिशत हो गई है। इसके अलावा म्यूचुअल फंड्स ने भी टीसीएस में अपनी हिस्सेदारी को 3.22 प्रतिशत से बढ़ाकर 3.38 प्रतिशत कर दिया है। साथ ही इसका मार्केट कैपिटल भी 11 लाख 45 हजार करोड़ रुपए रहा है।

यह भी पढ़ें: पेनी स्टॉक्स 700% से अधिक रिटर्न वाले

Experts bullish on TCS Shares: गोल्डमैन सैक्स की एक रिपोर्ट में टीसीएस के स्टॉक को "खरीदने" की बजाए "बेचने" की सलाह दी गई और इस खबर के बाद टाटा समूह की कंपनी टीसीएस के स्टॉक में भारी बिकवाली देखी गई। टीसीएस के शेयरों ने 3.15 प्रतिशत से ज्यादा लुढ़क कर 3130 रुपये से नीचे कारोबार किया। टीसीएस के शेयरों में बावन हफ्ते की उच्चतम दर से 25 प्रतिशत का लुढ़काव देखा गया। आईटी सेक्टर की इस बहुमूल्य कंपनी के शेयर पिछले 5 सालों में 1250.18 रुपये से 4074.46 रुपये तक पहुंचे थे, जो इनकी 52 हफ्ते की उच्चतम कीमत है।

यह भी पढ़ेंअस्थिर मार्केट उच्च डिविडेंड वाले स्टॉक

टीसीएस के बारे में एक्सपर्ट्स की राय

शुक्रवार को टीसीएस के शेयर 1.19 प्रतिशत की गिरावट के साथ 3064.90 रुपये पर बंद हुआ था। पिछले तीन साल में लगभग 50 प्रतिशत मुनाफा देने वाला यह शेयर अपने 52 हफ्ते के निम्नतम स्तर के बेहद पास पहुंच गया है। पिछले एक साल में यह स्टॉक 21.27 प्रतिशत तक टूट चुका है। टीसीएस के शेयरों में 25% लुढ़काव होने के बावजूद बाजार के कई विशेषज्ञ टीसीएस को बुलिश मान रहे हैं। विशेषज्ञ इसे निवेश का सुनहरा मौका बता रहे हैं और टीसीएस के शेयरों को खरीदने की सलाह दे रहे हैं। उनका कहना है कि शेयर का भाव 3700 तक पहुंच सकता है। वे इस रेट पर इसमें भारी खरीदारी की सलाह दे रहे हैं।

हालांकि, टीसीएस के शेयरों को लेकर जानकारों की राय अलग-अलग है। बीएनपी परिबास सिक्योरिटीज ने टीसीएस के शेयरों की टार्गेट प्राइस 3700 रुपए रखी है, वहीं एचडीएफसी सिक्योरिटीज ने इसे 3620 रुपए रखा है। कुल 43 विशेषज्ञों में से 6 इन शेयरों को तुरंत खरीदने और 14 ने खरीदने की सलाह दी है। इसके अलावा जिनके पास पहले से ये शेयर हैं, 13 विशेषज्ञों ने उन्हें रोके रखने की सलाह दी है। जबकि 10 विशेषज्ञ कह रहे हैं कि इस स्टॉक को जितनी जल्दी हो बेच देना ही सही होगा।

वर्ष 2022 के 30 जून तक के आंकड़ों के अनुसार टीसीएस का 72.30 प्रतिशत स्टॉक प्रमोटर्स के पास है, जिसमें से 0.48 प्रतिशत बंधक है। विदेशी निवेशकों ने इसमें अपनी हिस्सेदारी कम करके 14.15 प्रतिशत से 13.50 प्रतिशत कर दी है, वहीं घरेलू निवेशकों की हिस्सेदारी 7.85 प्रतिशत से बढ़ाकर 8.36 प्रतिशत हो गई है। इसके अलावा म्यूचुअल फंड्स ने भी टीसीएस में अपनी हिस्सेदारी को 3.22 प्रतिशत से बढ़ाकर 3.38 प्रतिशत कर दिया है। साथ ही इसका मार्केट कैपिटल भी 11 लाख 45 हजार करोड़ रुपए रहा है।

यह भी पढ़ें: पेनी स्टॉक्स 700% से अधिक रिटर्न वाले

Expert Article block example

संवादपत्र

संबंधित लेख