Monopoly stocks trading heavy :भारी डिस्‍काउंट पर ट्रेड करने वाले 5 मोनोपोली स्टॉक्‍स। क्या आपको इन शेयरों में निवेश करना चाहिए?

इन मोनोपोली स्‍टॉक्‍स में निवेश करने का क्‍या यह अच्छा समय है?

Monopoly stocks trading heavy

निवेश गुरु वॉरेन बफे मोनोपोली स्‍टॉक्‍स में निवेश करने वाले एक बड़े प्रपोनेंट (प्रस्‍तावक) रहे हैं, यद्यपि उनके पास स्पष्ट प्रतिस्पर्धात्मक लाभ और भविष्य में वृद्धि की संभावनाएं हैं। हाल ही में, भारत में सबसे अच्छे मोनोपोली स्‍टॉक्‍स में भी कई घरेलू और अंतरराष्ट्रीय कारकों के कारण गिरावट आई है।

यहां भारत के कुछ शीर्ष मोनोपोली स्टॉक हैं जो वर्तमान में अपने 52-सप्ताह के उच्च स्तर से डिस्‍काउंट पर ट्रेड कर रहे हैं।

सेंट्रल डिपॉजिटरी सर्विसेज (इंडिया) लिमिटेड (CDSL)
बाजार में हिस्सेदारी: 70%

स्‍टॉक डिस्‍काउंट: -32%

देश में 90 मिलियन से ज्‍यादा ट्रेडिंग अकाउंट्स में से लगभग 63 मिलियन को सीडीएसएल द्वारा प्रबंधित किया जाता है। कंपनी डीमैट अकाउंट खोलने और उसका मेनटेनेंस करने, ट्रांजैक्‍शन चार्जेस और कॉर्पोरेट/IPO गतिविधि से रेवेन्‍यू कमाती है।

भविष्य की संभावनाएं

4% से भी कम भारतीय सक्रिय रूप से शेयर बाजार में निवेश करते हैं, जो विकास की जबरदस्त क्षमता को प्रस्‍तुत करते हैं। महामारी के दौरान खोले गए डीमैट अकाउंट्स की संख्या में तेजी से उछाल आया और इस ट्रेंड के जारी रहने की उम्मीद है। सरलीकृत लेन-देन की प्रक्रिया से जुड़ी इंटरनेट तकनीक और स्मार्टफोन की गहरी पैठ महत्वपूर्ण दीर्घकालिक चालक हो सकते हैं।

नेस्ले इंडिया लिमिटेड (नेस्ले)

बाजार में हिस्सेदारी: 96.5%

स्‍टॉक डिस्‍काउंट: -17.5%

नेस्ले हेल्‍थ और न्‍यूट्रिशन सेगमेंट में दुनिया के अग्रणी FMCG ब्रांड्स में से एक है। कंपनी 100 से अधिक वर्षों से भारत में है और बेबी फूड सेगमेंट में पूर्ण मोनोपोली का आनंद लेती है, जबकि इंस्टेंट नूडल्स, कंडेंस्ड मिल्क और कॉफी के व्यवसायों में क्रमशः 60%, 70% और 50% बाजार हिस्सेदारी का आनंद लेती है।

भविष्‍य की संभावनाएं 

मुद्रास्फीति और कच्चे माल की बढ़ती लागत के कारण स्टॉक दबाव में रहा है। हालांकि, यह एक आकर्षक डिविडेंट स्टॉक रहा है और नोमुरा इन्वेस्टमेंट्स के अनुसार मध्यम अवधि में दो अंकों की वृद्धि देने के लिए तैयार है।

मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड (MCX)

बाजार में हिस्सेदारी: 92%

स्‍टॉक डिस्‍काउंट: -37%

वित्त मंत्रालय के अंतर्गत स्थापित, MCX भारत का पहला और सबसे बड़ा कमोडिटी डेरिवेटिव एक्सचेंज है। कारोबार कमोडिटी ट्रेडिंग पर स्पॉट और फॉरवर्ड कॉन्ट्रैक्ट की सुविधा प्रदान करता है। यह अकाउंट खोलने और उसका मेंटेनेंस करने के साथ-साथ ट्रांजैक्‍शन चार्जेस से रेवेन्‍यू कमाता है।

भविष्‍य की संभावनाएं

अपने एकमात्र प्रतिद्वंद्वी NCDEX की तुलना में बहुत बड़े पैमाने के अलावा, MCX की प्रीशस मेटल्‍स, बेस मेटल्‍स और एनर्जी सेगमेंट में 100% मोनोपोली है। महामारी और रूस-यूक्रेन के युद्ध से कमोडिटी सेगमेंट बुरी तरह प्रभावित हुआ है; हालांकि, सोने-चांदी और कच्चे तेल में ट्रेड वॉल्‍यूम धीरे-धीरे वापस आ रहा है।  HDFC सिक्योरिटीज के विश्लेषण के अनुसार नए ट्रेडिंग उत्पादों (इंडेक्स ऑप्‍शन), नियामक टेलविंड, और बेहतर और लागत प्रभावी IT के बुनियादी ढांचे को शुरू करने से विकास को गति मिलने की उम्मीद है।

इंडियन एनर्जी एक्सचेंज (IEX)

बाजार में हिस्‍सेदारी: 95%

स्‍टॉक डिस्‍काउंट: -45%

IEX एनर्जी ट्रेडिंग (फिजि़कल डिलीवरी) के लिए भारत का पहला और सबसे बड़ा डिजिटल मार्केटप्लेस है, जिसमें रिटेल/वाणिज्यिक बिजली, ग्रीन एनर्जी और रिन्‍यूबल एनर्जी सार्टिफिकेट शामिल हैं।

भविष्‍य की संभावनाएं 

कंपनी पिछले पांच वर्षों से लगातार विकास करती रही है, और फंडामेंटल्‍स मजबूत बने हुए हैं। ICICI डायरेक्ट के अनुसार, कारोबार रोबोटिक प्रोसेस ऑटोमेशन की ओर बढ़ कर और अधिक प्रतिस्पर्धात्मक लाभ हासिल करना चाहता है जो सभी कार्यों को स्वचालित करेगा, फोरकास्टिंग मॉडल्‍स को बढ़ाएगा और ट्रांजैक्‍शन के समय और अनुभव में सुधार करेगा।

इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन लिमिटेड (IRCTC)

बाजार में हिस्‍सेदारी: 100%

स्‍टॉक डिस्काउंट: -49%

'मिनी रत्नों' में से एक के रूप में माना जाने वाला, IRCTC भारत की वास्‍तविक मोनोपोली कंपनियों में से एक है। यह भारतीय रेलवे के लिए टिकट और खानपान सेवाओं का एकमात्र प्रदाता है।

भविष्‍य की संभावनाएं 

पिछले सात महीनों में शेयर की कीमतों में धीरे-धीरे गिरावट आ रही है। चौथी कोविड-19 लहर के पुनरुत्थान से टिकटों की बिक्री प्रभावित हो सकती है, जबकि ऊर्जा की बढ़ती कीमतों से परिचालन लागत प्रभावित होगी। चार्ट पर स्टॉक कमजोर दिख रहा है और GCL सिक्योरिटीज के अनुसार फिलहाल के लिए यह अच्छा दांव नहीं हो सकता है।

अस्वीकरण: यह आर्टिकल केवल सामान्य सूचना के उद्देश्यों के लिए है और इसे निवेश या कर या कानूनी सलाह के रूप में नहीं माना जाना चाहिए। इन क्षेत्रों में निर्णय लेते समय आपको अलग से स्वतंत्र सलाह लेनी चाहिए।

M Stock

संवादपत्र

संबंधित लेख