भारत बॉन्ड ईटीएफ के तीसरे ट्रेंच के बारे में महत्वपूर्ण बातें

इस वर्ष के मार्च-अप्रैल में भारत बॉन्ड ईटीएफ का तीसरा ट्रेंच लॉन्च होने के लिए तैयार है। ज़्यादा जानने के लिए पढ़ें।

भारत बॉन्ड ईटीएफ के तीसरे ट्रेंच के बारे में महत्वपूर्ण बातें

भारत बॉन्ड ईटीएफ भारत सरकार द्वारा लॉन्च किया गया एक ऐक्सचेंज-ट्रेडेड फंड है। इसकी शुरुआत सेंट्रल पब्लिक सेक्टर एंटरप्राइजेज (सीपीएसई) के ऋण लेने की जरूरतों को पूरा करने के लिए की गई थी। बॉन्ड रिटेल, उच्च मूल्य व्यक्तियों, और संस्थागत निवेशकों से निवेश लेता है। 

यहां भारत बॉन्ड ईटीएफ के बारे में कुछ बातें हैं जिन्हें आपको जानना चाहिए:

  • भारत बॉन्ड ईटीएफ नैशनल स्टॉक ऐक्सचेंज (एनएसई) पर सूचीबद्ध है। 
  • यह निवेशकों के पैसे को सार्वजनिक क्षेत्र के बॉन्ड में निवेश करता है। 
  • फंड की एक निर्धारित परिपक्वता अवधि होती है। इसलिए, निवेशकों को परिपक्वता के समय अर्जित लाभ के साथ उनकी निवेशित पूंजी मिल जाती है। 
  • निवेशक ईटीएफ की संपूर्ण अवधि के दौरान एनएसई पर मौजूद डेट फंड के यूनिट्स की खरीद या बिक्री कर सकते हैं। 

भारत बॉन्ड ईटीएफ के तीसरे ट्रेंच के बारे में निवेशकों को क्या जानना चाहिए?

राज्य-स्वामित्व वाली इकाइयों के विकास को फंड प्रदान करने के दृष्टि से रिटेल निवेशकों से भारत बॉन्ड ईटीएफ के तीसरे ट्रेंच में लगभग 15,000 करोड़ की वृद्धि होने की उम्मीद है। श्रृंखला में नवीतम ट्रेंच तीसरा होगा और इसके मार्च या अप्रैल 2021 में लॉन्च होने की संभावना है। 

भारत बॉन्ड ईटीएफ एक डेट फंड है जिसका उद्देश्य है धनराशि इकट्ठा करना जिसे सीपीएसई और विभिन्न पब्लिक सेक्टर बैंकों की ऋण योजनाओं में योगदान दिया जा सके और मदद की जा सके। ईटीएफ से इन इकाइयों को अपनी पूंजी व्यय की जरूरतों को पूरा करने में भी मदद मिल सकती है। 

विशेष रूप से, भारत बॉन्ड ईटीएफ केवल पब्लिक सेक्टर कंपनियों के एएए-रेटेड बॉन्ड्स में ही निवेश करता है। इसके दो पिछले ट्रेंच थे। 

इससे जुड़ी बातें: भारत बॉन्ड ईटीएफ: निवेशकों को इसके बारे में क्या जानना चाहिए

भारत बॉन्ड ईटीएफ से निवेशकों को किस प्रकार लाभ मिलता है?

यहां कुछ तरीके दिए गए हैं जिनसे निवेशकों को इस बॉन्ड से लाभ मिल सकता है:

  • स्थिर रिटर्न: निवेशक निर्धारित अवधि के साथ तुलनात्मक रूप से स्थिर रिटर्न अर्जित कर सकते हैं। रिटर्न पर टैक्स में छूट भी है।
  • अधिक सुरक्षा: बॉन्ड एनआईएफटीवाय (निफ्टी) भारत बॉन्ड इंडेक्स में निवेश करता है जिसमें पब्लिक सेक्टर बॉन्ड्स होते हैं, जिससे अत्यधिक सुरक्षा सुनिश्चित होती है।
  • कम लागत: इसकी लागत बहुत कम है, मैनेजमेंट लागत 0.0005% प्रति वर्ष है। 
  • कोई कॉल-इन अवधि नहीं: इसमें कोई कॉल-इन अवधि नहीं है और निवेशक ट्रेडिंग की अवधि के दौरान एनएसई पर खरीद और बिक्री कर सकते हैं। 
  • पारदर्शिता: फंड का निवेश एनआईएफटीवाय (निफ्टी) भारत बॉन्ड इंडेक्स में होता है और इसके घटकों को निवेशकों के लिए वेबसाइट पर दिखाया गया है ताकि रोज-रोज जांच की जा सके, जिससे पूरी पारदर्शिता सुनिश्चित होती है। 
  • सुविधा: भारत बॉन्ड ईटीएफ एक निष्क्रिय रूप से प्रबंधित फंड है। इससे न केवल लागत कम होती है बल्कि सक्रिय रूप से प्रबंधित फंड्स की तुलना में परेशानी मुक्त अनुभव भी मिलता है। 

इससे जुड़ी बातें: टैक्स-फ्री बॉन्ड्स क्या हैं और वे कैसे काम करते हैं

भारत बॉन्ड ईटीएफ के पहले दो ट्रेंच में क्या था?

भारत बॉन्ड ईटीएफ के पहले ट्रेंच में 3 और 10 वर्षों के परिपक्वता विकल्प थे। पहले ट्रेंच की सफलता के बाद, जुलाई 2020 में निवेश के लिए दूसरा ट्रेंच उपलब्ध किया गया। दूसरे ट्रेंच को एडेल्विस असेट मैनेजमेंट द्वारा लॉन्च किया गया था। इस ट्रेंच में 5 और 12 वर्षों के परिपक्वता विकल्प थे। 

इसे भी पढ़ें: यदि आप ईटीएफ में निवेश करना चाहते हैं, तो गोल्ड ईटीएफ में निवेश करने के 7 फायदे देखें




संबंधित लेख