Long term Investment can make Billionaire: लंबी अवधि के निवेश ने बनाया करोड़पति

सरकारी कंपनी के शेयर ने अपने शेयरधारकों को भरोसा जताने के बदले बनाया करोड़पति।

Long term Investment

BPCL: सरकारी सेक्टर की कंपनी भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) के शेयर की कीमत भारतीय स्टॉक एक्सचेंज (NSE) पर गुरुवार को ₹331.80 तक पहुँच गई। शेयरों में निवेश सिर्फ किस्मत की बदौलत रिटर्न नहीं देता बल्कि इसके लिए धीरज से काम लेना पड़ता है। यदि निवेशक कम समय में ज्यादा मुनाफ़े की होड़ छोड़ दें तो लंबी अवधि के लिए किए गए निवेशों से वे मालामाल बन सकते हैं। लंबी अवधि के शेयर न सिर्फ स्टॉक रैली से लाभ पहुँचाते हैं बल्कि कई बार निवेशकों को कंपनी के बोनस शेयर से भी लाभ मिलता है। भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड ने अपने निवेशकों को इन्हीं सबका लाभ पहुँचाते हुए ₹1 लाख के निवेश को 23 साल में ₹2.65 करोड़ बना दिया। 

एक आम बोनस शेयर इश्यू किस प्रकार लंबी अवधि में, अपने निवेशक के लिए रिटर्न के रूप में बदल जाता है, यह समझने के लिए बीपीसीएल एक बहुत अच्छा उदाहरण है। बीपीसीएल ने अपने निवेशकों के लिए दिसंबर 2000 से अब तक चार बार बोनस शेयर की घोषणा की है। बीते 23 वर्षों में कंपनी द्वारा दिसंबर 2000, जुलाई 2012, जुलाई 2016 और जुलाई 2017 में भी ट्रेड एक्स बोनस शेयर जारी किया गया था। 2017 में कंपनी द्वारा 1:2 तो वहीं अन्य तीन मौकों पर 1:1 के अनुपात में बोनस शेयर घोषित किए थे। 

यह भी पढ़ें: 13 गुना उछला इस कंपनी का प्रॉफिट, इसी शेयर ने बनाया था 'बिग बूल' 

भारत पेट्रोलियम के बोनस शेयर की करामात 

यदि दिसंबर 2000 में किसी निवेशक के पास बीपीसीएल का एक शेयर होता तो दिसंबर 2000 के बोनस शेयर के बाद उसके पास 1:1 के हिसाब से शेयर की संख्या 2 हो जाती। इसी प्रकार जुलाई 2012 में और जुलाई 2016 में भी जारी किए गए 1:1 बोनस शेयर के अनुपात से शेयर की कुल संख्या 4 और 2016 में 8 तक पहुँच जाती। वहीं 2017 में बोनस शेयर जारी करने का अनुपात था 1:2 यानी (1*1.5),  यानी उस हिसाब से अब शेयर की संख्या हो गई (8*1.5 यानी) 12। इसका मतलब हुआ 2000 में एक शेयर खरीदने पर चार अवसरों के बोनस शेयर के बाद 2017 में शेयरधारिता 12 गुना तक बढ़ी। 

बोनस शेयरों से निवेश पर पड़नेवाला असर 

अगस्त 2000 में निवेशक द्वारा ₹1 लाख का निवेश करने पर बीपीसीएल का एक शेयर उसे ₹15 प्रति शेयर की कीमत से प्राप्त होता था। इस हिसाब से अगस्त 2000 में शेयरधारक को 6,667 बीपीसीएल के शेयर मिले होंगे। जो 2000 में जारी किए गए बोनस शेयर के बाद बढ़कर लगभग 8,000 बीपीसीएल के शेयर बने होंगे। इस हिसाब से देखा जाए तो एक साल के भीतर ही शेयरधारक को फायदा मिल गया। 

23 वर्षों के बाद निवेशक को हुआ तगड़ा फायदा 

पिछले हफ्ते गुरुवार को भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड के शेयर की कीमत भारतीय स्टॉक एक्सचेंज पर ₹331.80 पहुँच गई थी। इसका मतलब हुआ कि यदि ₹1 लाख का निवेश किया हो तो अब उसकी धनराशि बढ़कर ₹2.65 करोड़ (₹2,65,45,327) पहुँच गई होगी बशर्ते निवेशक इस पूरी अवधि तक शेयर के साथ बना रहा हो। इस तरह उसकी संपत्ति में लगभग 22.12 गुना वृद्धि हुई। इस पूरे समय में शेयर की कीमत ₹15 से छलांग लगाकर ₹331.80 तक आ गई। ₹1 लाख के ₹2.65 करोड़, उसके सभी बोनस शेयरों की कीमत को जोड़ने से प्राप्त हुई राशि है। 

यह भी पढ़ें: टीटीएमएल के शेयर ने एक लाख को 39 लाख कर दिया

BPCL share latest news

संवादपत्र

संबंधित लेख