2022 में अपने स्टॉक पोर्टफोलियो में ये 4 सेक्टर होने चाहिए- एआई, 5जी टेक्नोलॉजी, इलेक्ट्रिक वाहन, डिजिटलाइजेशन

यहां उन चार सेक्टर के बारे में जानकारी दी गई, जिन्हें आपको 2022 में अपने स्टॉक पोर्टफोलियो में शामिल करना चाहिए।

2022 में आपके स्टॉक पोर्टफोलियो को चमकाने वाले चार सेक्टर्स

शेयर बाजार एक गतिशील जगह है। यह लगातार विकसित हो रहा है, इसलिए लाभ कमाने और वित्तीय लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए उपयुक्त निवेश रणनीतियों के साथ लीक से आगे रहना होगा। हमने नए साल में कदम रख दिया है, तो बेहतर रिटर्न के लिए कुछ शेयरों पर नजर रखना चाहिए। यहां चार शेयर बाजार सेक्टर्स की जानकारी दी जा रही है, जिन पर आप विचार कर सकते हैं:

  • आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई): 

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस अब भविष्य नहीं, बल्कि वर्तमान है। एआई उद्योग फलफूल रहा है और निकट भविष्य में इसके पर्याप्त रूप से बढ़ने की उम्मीद है। अनुसंधान से पता चलता है कि वैश्विक एआई बाजार का राजस्व 2024 तक 554 बिलियन अमेरिकी डॉलर से अधिक बढ़ने की उम्मीद है। इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आईओटी), स्मार्ट उपकरण, मशीन लर्निंग, आदि धीरे-धीरे हर प्राथमिक उद्योग का हिस्सा बन रहे हैं। यदि आप 2022 में खरीदने के लिए शेयरों की तलाश कर रहे हैं, तो टाटा एलेक्सी, जेनसार टेक्नोलॉजीज, हैपिएस्ट माइंड्स इत्यादि जैसी एआई कंपनियां कुछ अच्छे विकल्प हो सकती हैं।

 यह भी पढ़ें: स्टॉक में निवेश करने से पहले ये 6 सवाल जरूर पूछे 

  • 5जी टेक्नोलॉजी: 

5जी शेयरों में निवेश करना लंबी अवधि के लिए अच्छी निवेश रणनीति हो सकती है। कई स्मार्टफोन, ऐप, स्मार्ट डिवाइस और लैपटॉप के बाजार में आने के साथ 5जी उद्योग जल्द ही चरम पर पहुंचने की उम्मीद है। 5जी भी एआई के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, क्योंकि एआई काफी हद तक वायरलेस कनेक्टिविटी पर निर्भर करेगा। 5जी के लिए 2022 अच्छा समय हो सकता है, क्योंकि बैंगलोर, चंडीगढ़, हैदराबाद, चेन्नई, दिल्ली, मुंबई, पुणे और कोलकाता जैसे कई भारतीय शहरों को यह तकनीक मिलने की उम्मीद है। हालांकि, 5जी प्रौद्योगिकी क्षेत्र को वर्तमान में कुछ अस्थिरता का सामना करना पड़ सकता है, इसलिए सलाह दी जाती है कि ऐसे शेयरों को पूरी तरह से मूल्यांकन के बाद ही चुनें। भारती नेटवर्क, टेक महिंद्रा, आदि कुछ विकल्पों पर विचार कर सकते हैं। 

  • इलेक्ट्रिक वाहन: 

2021 में, भारत सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवीज) को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रीय इलेक्ट्रिक मोबिलिटी मिशन योजना (एनईएमएणपी) की शुरुआत की। जीवाश्म-ईंधन ऑटोमोबाइल से होने वाले प्रदूषण को देखते हुए ऐसे वाहन समय की आवश्यकता हैं। इलेक्ट्रिक वाहन जलवायु संकट को काफी हद तक हल करने में मदद करने के लिए एक स्थायी विकल्प पेश कर सकते हैं। इस क्षेत्र की क्षमता को देखना चाहते हैं तो टेस्ला सबसे अच्छा उदाहरण हो सकता है। भारतीय ईवी बाजार में कई अन्य प्रमुख खिलाड़ी हैं, जैसे टाटा मोटर्स, हीरो मोटोकॉर्प, टीवीएस और यहां तक कि ओला। हीरो मोटोकॉर्प भी ईवी बैटरी की निर्माता है। यह इस क्षेत्र में निवेश करने का एक अच्छा समय प्रतीत होता है। 

यह भी पढ़ें: शीर्ष पांच गेमिंग स्टॉक

  • डिजिटलाइजेशन:

 भारत में इंटरनेट उपयोगकर्ताओं के तेजी से बढ़ने के साथ ही सूचना प्रौद्योगिकी और डिजिटल भारत का सपना निवेशकों को बेहतरीन मौका देता है। डिजिटलाइजेशन हमारे देश के काम करने के तरीके को बदल रहा है; यह विभिन्न नए और लाभदायक आर्थिक रास्ते पेश कर सकता है। सरकार की डिजिटल इंडिया पहल का लक्ष्य 2025 तक देश को 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाना है। महामारी ने पूरी तरह से डिजिटल भारत की आवश्यकता और प्रासंगिकता को उजागर करने का काम किया है। यदि आप सामान्य शेयरों और असामान्य मुनाफे की तलाश में हैं तो इस क्षेत्र में निवेश करने का यह अच्छा समय हो सकता है। आप आईआरसीटीसी, जियो, इन्फोएज आदि जैसे शेयरों पर विचार कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: भारतीय शेयर बाजार: भविष्य के संभावित नए बदलाव?

आखिरी शब्द

फ्यूचर्स और शेयरों में निवेश करते समय, अपडेट रहना और बाजार की बदलती परिस्थितियों का अधिकतम लाभ उठाना जरूरी है। सही शेयर सलाह से काफी फर्क पड़ सकता है। ऊपर बताए गए सेक्टर्स दुनिया में क्रांति ला रहे हैं। इसलिए, खुद से शोध करें और सही समय पर उनमें निवेश करें।

डिस्क्लेमर: यह लेख केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है और इसे निवेश या कर या कानूनी सलाह के रूप में नहीं माना जाना चाहिए। इन क्षेत्रों में निर्णय लेते समय आपको अलग से स्वतंत्र सलाह लेनी चाहिए।

M Stock

संवादपत्र

संबंधित लेख