मजा, मस्ती के लिए शुरू की गई क्रिप्टोकरेंसी ने सालभर में 5996 प्रतिशत का रिटर्न दिया| Dogecoin Price in INR in Hindi 2021

डॉजकॉइन बिटकॉइन और इथेरियम की ही तरह एक क्रिप्टोकरेंसी है। इसे मजाक के तौर पर शुरू किया गया था। निवेशक इसमें भी पैसे लगाकर पैसा कमा रहे हैं।

dogecoin price in INR

डॉजकॉइन की 23 जून 2022 को कीमत: ₹4.88

(स्रोत: https://www.coinbase.com/price/dogecoin)

बिटकॉइन, इथेरियम, लाइटकॉइन, पोल्काडॉट की तरह डॉजकॉइन भी एक क्रिप्टोकरेंसी है। हालांकि, यह कई मायनों में बिटकॉइन से अलग है। डॉजकॉइन बनाने वालों का कहना है कि जब इसे शुरू किया गया था, तब एक बिटकॉइन की कीमत 20 हजार डॉलर तक पहुंच गई थी। बिटकॉइन के इतना महंगा होने की वजह से बाजार में कई फर्जी क्रिप्टोकरेंसी शुरू की गई थी। डॉजकॉइन को मजाकिया क्रिप्टो के तौर पर शुरू किया गया, जिसे काफी लोग पसंद करने लग गए थे।   

डॉजकॉइन अब तहलका मचा रहा है। इसने पिछले सालभर में सबसे लोकप्रिय मानी जाने वाली क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन, इथेरियम से कई गुना ज्यादा रिटर्न दिया है। कॉइनबेस एक्सचेंज के मुताबिक, डॉजकॉइन ने पिछले साल नवंबर से इस साल नवंबर के दौरान 5996 प्रतिशत रिटर्न दिया है। वहीं, दूसरी क्रिप्टोकरेंसी जैसे टीथर ने 0.31 प्रतिशत, पोल्काडॉट ने करीब 800 प्रतिशत, लाइटकॉइन ने 200 प्रतिशत, बिटकॉइन ने 300 प्रतिशत और इथेरियम ने 900 प्रतिशत का मुनाफा दिया है। 

पिछले एक साल में डॉजकॉइन का प्रदर्शन:

क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज कॉइनबेस पर एक डॉजकॉइन की कीमत 24 नवंबर 2020 को ₹0.27 थी, जो कि 23 नंवबर 2021 को ₹16.35 पर पहुंच गई यानि साल भर में करीब 5996 प्रतिशत का मुनाफा। कहने का मतलब हुआ कि अगर आपने 24 नंवबर 2020 को डॉजकॉइन में पैसे लगाया होता, तो आपका पैसा 5,996 प्रतिशत का शानदार रिटर्न देता।   

अगर डॉजकॉइन के मार्केट कैप की बात करें, तो कॉइनबेस के मुताबिक, 23 नवंबर 2021 को इसका मार्केट कैप ₹2.2 ट्रिलियन था। वहीं बिटकॉइन का बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैप) ₹91.3 ट्रिलियन और इथेरियम का ₹39.5 ट्रिलियन था। कुल क्रिप्टोकरेंसी मार्केट कैप में इथेरियम की हिस्सेदारी 7 प्रतिशत और बिटकॉइन की 35 प्रतिशत है। 

बाजार में काफी अधिक संख्या में करीब 130 अरब डॉजकॉइन मौजूद है। इसके निर्माण पर कोई सीमा नहीं है यानि जितना चाहे, उतना डॉजकॉइन का निर्माण किया जा सकता है। कॉइनबेस वेबसाइट के मुताबिक, हर मिनट करीब 10 हजार नए डॉजकॉइन बनाए जा रहे हैं।

पिछले एक साल में डॉजकॉइन का प्रदर्शन

अगर ऑल टाईम हाई की बात करें तो एक्सचेंज पर लिस्ट होने या लॉन्च किए जाने के बाद डॉजकॉइन एक्सचेंज पर ₹55.15 के आंकड़े को छू चुका है।

भारत में डॉगकॉइन में कैसे निवेश करें: 

क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज के जरिए डॉजकॉइन में निवेश किया जा सकता है। आप क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज से ही डॉजकॉइन खरीद, बेच, होल्ड या फिर लेन-देन कर सकते हैं। हालांकि, सभी क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज डॉगकॉइन में निवेश के लिए प्लेटफॉर्म मुहैया नहीं कराते हैं।   

अगर भारत की बात करें तो यहाँ कॉइनस्विचकुबेर क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज में डॉजकॉइन में निवेश का विकल्प मौजूद है। इसके अलावा, विदेशी क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज कॉइनबेस के जरिए भी आप डॉजकॉइन में निवेश कर सकते हैं। इसके लिए आपको संबंधित एक्सचेंज के साथ अकाउंट ओपन करना होगा। अकाउंट ओपन करने के लिए केवाईसी डॉक्यूमेंट भी जमा करना जरुरी होता है।  

कॉइनस्विचकुबेर के जरिए डॉजकॉइन में निवेश कैसे करें:

आप कॉइनस्विचकुबेर के जरिए 5 मिनट के अन्दर डॉजकॉइन में निवेश शुरू कर सकते हैं। इसके लिए ऐप स्टोर या प्ले स्टोर से कॉउनस्विच ऐप डाउनलोड करें। फिर एक अकाउंट बनाएं। अकाउंट बनाने के लिए केवाईसी प्रक्रिया को पूरा करना होता है। यूपीआई या नेट बैंकिंग के माध्यम से अपने बैंक खाते से अपने कॉइनस्विच खाते में पैसे जमा करें और फिर आप डॉजकॉइन में कारोबार शुरू करने के लिए तैयार हैं।

कॉइनस्विचकुबेर के साथ डॉजकॉइन में निवेश करने के कई फायदे हैं। इसमें आप डॉजकॉइन के अलावा, 75 से ज्यादा क्रिप्टोकरेंसी में बेफिक्र होकर कारोबार कर सकते हैं। यहाँ भारतीय रुपये में भी डॉजकॉइन में कारोबार की सुविधा है। कुछ ही क्लिक में आप भारतीय रुपये में डॉगकॉइन खरीद और बेच सकते हैं। आप ₹100 से भी निवेश शुरू कर सकते हैं। यह एक्सचेंज बिना किसी शुल्क के सबसे बेहतर कीमत पर क्रिप्टोकरेंसी खरीदने-बेचने की सुविधा देने का दावा करता है। इस एक्सचेंज के 80 लाख से ज्यादा ग्राहक हैं।     

(डिस्क्लेमर: डॉजकॉइन में निवेश करने के लिए स्वतंत्र फैसला लें। हम डॉजकॉइन में निवेश करने की सलाह नहीं दे रहे हैं। इस लेख का मकसद सिर्फ जानकारी देना है।)

डॉजकॉइन की 23 जून 2022 को कीमत: ₹4.88

(स्रोत: https://www.coinbase.com/price/dogecoin)

बिटकॉइन, इथेरियम, लाइटकॉइन, पोल्काडॉट की तरह डॉजकॉइन भी एक क्रिप्टोकरेंसी है। हालांकि, यह कई मायनों में बिटकॉइन से अलग है। डॉजकॉइन बनाने वालों का कहना है कि जब इसे शुरू किया गया था, तब एक बिटकॉइन की कीमत 20 हजार डॉलर तक पहुंच गई थी। बिटकॉइन के इतना महंगा होने की वजह से बाजार में कई फर्जी क्रिप्टोकरेंसी शुरू की गई थी। डॉजकॉइन को मजाकिया क्रिप्टो के तौर पर शुरू किया गया, जिसे काफी लोग पसंद करने लग गए थे।   

डॉजकॉइन अब तहलका मचा रहा है। इसने पिछले सालभर में सबसे लोकप्रिय मानी जाने वाली क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन, इथेरियम से कई गुना ज्यादा रिटर्न दिया है। कॉइनबेस एक्सचेंज के मुताबिक, डॉजकॉइन ने पिछले साल नवंबर से इस साल नवंबर के दौरान 5996 प्रतिशत रिटर्न दिया है। वहीं, दूसरी क्रिप्टोकरेंसी जैसे टीथर ने 0.31 प्रतिशत, पोल्काडॉट ने करीब 800 प्रतिशत, लाइटकॉइन ने 200 प्रतिशत, बिटकॉइन ने 300 प्रतिशत और इथेरियम ने 900 प्रतिशत का मुनाफा दिया है। 

पिछले एक साल में डॉजकॉइन का प्रदर्शन:

क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज कॉइनबेस पर एक डॉजकॉइन की कीमत 24 नवंबर 2020 को ₹0.27 थी, जो कि 23 नंवबर 2021 को ₹16.35 पर पहुंच गई यानि साल भर में करीब 5996 प्रतिशत का मुनाफा। कहने का मतलब हुआ कि अगर आपने 24 नंवबर 2020 को डॉजकॉइन में पैसे लगाया होता, तो आपका पैसा 5,996 प्रतिशत का शानदार रिटर्न देता।   

अगर डॉजकॉइन के मार्केट कैप की बात करें, तो कॉइनबेस के मुताबिक, 23 नवंबर 2021 को इसका मार्केट कैप ₹2.2 ट्रिलियन था। वहीं बिटकॉइन का बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैप) ₹91.3 ट्रिलियन और इथेरियम का ₹39.5 ट्रिलियन था। कुल क्रिप्टोकरेंसी मार्केट कैप में इथेरियम की हिस्सेदारी 7 प्रतिशत और बिटकॉइन की 35 प्रतिशत है। 

बाजार में काफी अधिक संख्या में करीब 130 अरब डॉजकॉइन मौजूद है। इसके निर्माण पर कोई सीमा नहीं है यानि जितना चाहे, उतना डॉजकॉइन का निर्माण किया जा सकता है। कॉइनबेस वेबसाइट के मुताबिक, हर मिनट करीब 10 हजार नए डॉजकॉइन बनाए जा रहे हैं।

पिछले एक साल में डॉजकॉइन का प्रदर्शन

अगर ऑल टाईम हाई की बात करें तो एक्सचेंज पर लिस्ट होने या लॉन्च किए जाने के बाद डॉजकॉइन एक्सचेंज पर ₹55.15 के आंकड़े को छू चुका है।

भारत में डॉगकॉइन में कैसे निवेश करें: 

क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज के जरिए डॉजकॉइन में निवेश किया जा सकता है। आप क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज से ही डॉजकॉइन खरीद, बेच, होल्ड या फिर लेन-देन कर सकते हैं। हालांकि, सभी क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज डॉगकॉइन में निवेश के लिए प्लेटफॉर्म मुहैया नहीं कराते हैं।   

अगर भारत की बात करें तो यहाँ कॉइनस्विचकुबेर क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज में डॉजकॉइन में निवेश का विकल्प मौजूद है। इसके अलावा, विदेशी क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज कॉइनबेस के जरिए भी आप डॉजकॉइन में निवेश कर सकते हैं। इसके लिए आपको संबंधित एक्सचेंज के साथ अकाउंट ओपन करना होगा। अकाउंट ओपन करने के लिए केवाईसी डॉक्यूमेंट भी जमा करना जरुरी होता है।  

कॉइनस्विचकुबेर के जरिए डॉजकॉइन में निवेश कैसे करें:

आप कॉइनस्विचकुबेर के जरिए 5 मिनट के अन्दर डॉजकॉइन में निवेश शुरू कर सकते हैं। इसके लिए ऐप स्टोर या प्ले स्टोर से कॉउनस्विच ऐप डाउनलोड करें। फिर एक अकाउंट बनाएं। अकाउंट बनाने के लिए केवाईसी प्रक्रिया को पूरा करना होता है। यूपीआई या नेट बैंकिंग के माध्यम से अपने बैंक खाते से अपने कॉइनस्विच खाते में पैसे जमा करें और फिर आप डॉजकॉइन में कारोबार शुरू करने के लिए तैयार हैं।

कॉइनस्विचकुबेर के साथ डॉजकॉइन में निवेश करने के कई फायदे हैं। इसमें आप डॉजकॉइन के अलावा, 75 से ज्यादा क्रिप्टोकरेंसी में बेफिक्र होकर कारोबार कर सकते हैं। यहाँ भारतीय रुपये में भी डॉजकॉइन में कारोबार की सुविधा है। कुछ ही क्लिक में आप भारतीय रुपये में डॉगकॉइन खरीद और बेच सकते हैं। आप ₹100 से भी निवेश शुरू कर सकते हैं। यह एक्सचेंज बिना किसी शुल्क के सबसे बेहतर कीमत पर क्रिप्टोकरेंसी खरीदने-बेचने की सुविधा देने का दावा करता है। इस एक्सचेंज के 80 लाख से ज्यादा ग्राहक हैं।     

(डिस्क्लेमर: डॉजकॉइन में निवेश करने के लिए स्वतंत्र फैसला लें। हम डॉजकॉइन में निवेश करने की सलाह नहीं दे रहे हैं। इस लेख का मकसद सिर्फ जानकारी देना है।)

Expert Article block example

संवादपत्र

संबंधित लेख