Fusion Microfinance IPO on 2nd Nov.: 2 नवंबर को फ्यूजन माइक्रोफाइनेंस का आईपीओ

फ्यूजन माइक्रोफाइनेंस कंपनी का 2 नवंबर को प्रारंभिक प्रस्ताव (आईपीओ) जारी होने जा रहा है।

Fusion Microfinance IPO

Equity Share: 2 नवंबर, 2022 को फ्यूजन माइक्रोफाइनेंस जो कि ग्लोबल प्राइवेट इक्विटी कंपनी वॉरबर्ग पिंकस द्वारा समर्थित है, अपना प्रारंभिक प्रस्ताव जारी करने जा रही है। इस आईपीओ के तहत 4 नवंबर तक निवेश किया जा सकता है। हेरिंग प्रॉस्पेक्टस ने जानकारी दी है कि एंकर निवेशकों के लिए यह प्रस्ताव 1 नवंबर को खुल जाएगा। कंपनी आईपीओ के अंतर्गत ₹600 करोड़ के नए इक्विटी शेयर जारी करने जा रही है। इसके साथ ही प्रमोटर और मौजूदा शेयरधारकों के स्वामित्व वाले 1,36,95,466 इक्विटी शेयर भी बाज़ार में ऑफर फॉर सेल के अंतर्गत उपलब्ध रहेंगे। 

प्रारंभिक प्रस्ताव (आईपीओकी जानकारी 

गौरतलब है कि फ्यूजन माइक्रोफाइनेंस कंपनी के प्रारंभिक प्रस्ताव में शेयरों की बिक्री से जो रकम इकट्ठी होगी उसका उपयोग कंपनी के कैपिटल बेस की वृद्धि के लिए होगा। ऑफर फॉर सेल में देवेश सचदेव, मिनी सचदेव, हनी से शेयर प्राप्त किए जा सकते हैं। साथ ही हनी रोज़ इन्वेस्टमेंट लिमिटेड, क्रिएशन इन्वेस्टमेंट्स फ्यूजन, एलएलसी, कोईकोक्रेडिट एक्यूमेनिकल डेवलपमेंट को-ऑपरेटिव सोसाइटी यू ए और ग्लोबल फाइनेंशियल इन्क्लूजन फंड आदि द्वारा भी ऑफर फॉर सेल शेयर प्राप्त किए जा सकते हैं। 

यह भी पढ़ें: मार्केट स्टॉक उच्च डिविडेंड वाले 

फ्यूजन माइक्रोफाइनेंस कंपनी की जानकारी 

फ्यूजन माइक्रोफाइनेंस कंपनी का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है और यह कंपनी पिछड़ी हुई महिलाओं के लिए ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहायता और आर्थिक अवसर उपलब्ध कराने की दिशा में काम करती है। कंपनी उन महिलाओं को अच्छे अवसर देने के लिए आर्थिक सहायता देती है। गौरतलब है कि बांग्लादेश में ग्रामीण बैंक द्वारा विकासित किए गए जॉइंट लायबिलिटी ग्रुप्स के प्रयोग से कंपनी ₹50,000 तक के ऋण देने की सेवाएँ देती है। इस प्रस्ताव के लिए मर्चेंट बैंकर हैं- आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज, सीएलएसए इंडिया जेएम फाइनेंशियल और आईआईएफएल सिक्योरिटीज आदि। दिसंबर 2018 में वारबर्ग कंपनी द्वारा फ्यूजन माइक्रोफाइनेंस में ₹520 करोड़ का निवेश किया गया था। 2018-19 के बीच एसेट अंडर मैनेजमेंट में 45% की वृद्धि हुई और दिसंबर 2019 तक कंपनी का आउटस्टैंडिंग पोर्टफोलियो करीब ₹3,350 करोड़ का था।

यह भी पढ़ें: पेनी स्टॉक्स अधिक रिटर्न 

Equity Share: 2 नवंबर, 2022 को फ्यूजन माइक्रोफाइनेंस जो कि ग्लोबल प्राइवेट इक्विटी कंपनी वॉरबर्ग पिंकस द्वारा समर्थित है, अपना प्रारंभिक प्रस्ताव जारी करने जा रही है। इस आईपीओ के तहत 4 नवंबर तक निवेश किया जा सकता है। हेरिंग प्रॉस्पेक्टस ने जानकारी दी है कि एंकर निवेशकों के लिए यह प्रस्ताव 1 नवंबर को खुल जाएगा। कंपनी आईपीओ के अंतर्गत ₹600 करोड़ के नए इक्विटी शेयर जारी करने जा रही है। इसके साथ ही प्रमोटर और मौजूदा शेयरधारकों के स्वामित्व वाले 1,36,95,466 इक्विटी शेयर भी बाज़ार में ऑफर फॉर सेल के अंतर्गत उपलब्ध रहेंगे। 

प्रारंभिक प्रस्ताव (आईपीओकी जानकारी 

गौरतलब है कि फ्यूजन माइक्रोफाइनेंस कंपनी के प्रारंभिक प्रस्ताव में शेयरों की बिक्री से जो रकम इकट्ठी होगी उसका उपयोग कंपनी के कैपिटल बेस की वृद्धि के लिए होगा। ऑफर फॉर सेल में देवेश सचदेव, मिनी सचदेव, हनी से शेयर प्राप्त किए जा सकते हैं। साथ ही हनी रोज़ इन्वेस्टमेंट लिमिटेड, क्रिएशन इन्वेस्टमेंट्स फ्यूजन, एलएलसी, कोईकोक्रेडिट एक्यूमेनिकल डेवलपमेंट को-ऑपरेटिव सोसाइटी यू ए और ग्लोबल फाइनेंशियल इन्क्लूजन फंड आदि द्वारा भी ऑफर फॉर सेल शेयर प्राप्त किए जा सकते हैं। 

यह भी पढ़ें: मार्केट स्टॉक उच्च डिविडेंड वाले 

फ्यूजन माइक्रोफाइनेंस कंपनी की जानकारी 

फ्यूजन माइक्रोफाइनेंस कंपनी का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है और यह कंपनी पिछड़ी हुई महिलाओं के लिए ज्यादा से ज्यादा आर्थिक सहायता और आर्थिक अवसर उपलब्ध कराने की दिशा में काम करती है। कंपनी उन महिलाओं को अच्छे अवसर देने के लिए आर्थिक सहायता देती है। गौरतलब है कि बांग्लादेश में ग्रामीण बैंक द्वारा विकासित किए गए जॉइंट लायबिलिटी ग्रुप्स के प्रयोग से कंपनी ₹50,000 तक के ऋण देने की सेवाएँ देती है। इस प्रस्ताव के लिए मर्चेंट बैंकर हैं- आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज, सीएलएसए इंडिया जेएम फाइनेंशियल और आईआईएफएल सिक्योरिटीज आदि। दिसंबर 2018 में वारबर्ग कंपनी द्वारा फ्यूजन माइक्रोफाइनेंस में ₹520 करोड़ का निवेश किया गया था। 2018-19 के बीच एसेट अंडर मैनेजमेंट में 45% की वृद्धि हुई और दिसंबर 2019 तक कंपनी का आउटस्टैंडिंग पोर्टफोलियो करीब ₹3,350 करोड़ का था।

यह भी पढ़ें: पेनी स्टॉक्स अधिक रिटर्न 

Expert Article block example

संवादपत्र

संबंधित लेख