फुल और फाइनल सेटलमेंट: अपनी कंपनी से इस्तीफा देते समय क्या करना है उसकी सूची, अवकाश नकदीकरण, ग्रेच्युटी, ईपीएफ

पैसा जिंदगी का एक महत्वपूर्ण पहलू है, व्यक्तिगत और पेशेवर दोनों के लिए। यह लेख अपनी कंपनी छोड़ने से पहले पैसों से जुड़े हुए जरूरी कामों को निपटाने के बारे में बात करता है।

कंपनी छोड़ते समय फुल और फाइनल सेटलमेंट

अपने मौजूदा संगठन को छोड़ना आसान नहीं होता है। जब आप नए अवसर के बारे में उत्साहित होते हैं, तो आपको अपने सहयोगियों को छोड़ने और नए सेटअप में जाने, नए-नए लोगों से मिलने आदि के बारे में एक कड़वा अहसास भी होता है। फुल और फाइनल सेटलमेंट प्रक्रिया तनाव को और बढ़ा देती है। नौकरी छोड़ने से पहले पैसों से जुड़े हुए काम को निपटाने के बारे में जान लेने से आपको संगठन से आसानी से बाहर निकलने में मदद मिल सकती है। ज्यादा जानकारी के लिए आगे पढ़ें।

इस्तीफा चेकलिस्ट

एक्जिट इंटरव्यू में जाने से पहले, निम्नलिखित चेकलिस्ट पर नजर डाल लें।

  • आप आगे के लिए तैयार रहें या प्लान बी को संभाल कर रखें
  • अपने पैसों से जुड़ी स्थिति को समझें और जरूरी होने पर उस पर दोबारा काम करें 
  • एक आपातकालीन कोष रखें
  • नया बजट तैयार करें  
  • सहकर्मियों को अपना इस्तीफा देने का इरादा मत बताएं   
  • काम के नमूने को सहेजें या उसे एक फोल्डर रखें   
  • कार्यालय की संपत्ति से व्यक्तिगत जानकारी (पासवर्ड आदि) को खत्म करना सुनिश्चित करें   

यदि आप इन चीजों को सुलझा लेते हैं, तो पूरी प्रक्रिया आसान हो जाएगी।

कंपनी कैसे छोड़ें?  

यदि आपने इस्तीफा देने का मन बना लिया है, तो इस प्रक्रिया का पालन करें:  

  • अपने इस्तीफे के बारे में अपने बॉस से बात करें
  • अपने त्यागपत्र को सूचनात्मक और निश्चित बनाएं  
  • अंतिम कार्य दिवस निर्धारित करें  
  • अपने जॉब समझौते की शर्तों के अनुसार उचित नोटिस दें
  • किसी भी आधिकारिक संपत्ति या सामग्री को मानव संसाधन या संबंधित व्यक्ति को सौंप दें

यदि आप ऊपर दिये काम कर लेते हैं, तो आपको यह प्रक्रिया बहुत बोझिल नहीं लगेगी। 

कंपनी कब छोड़ें?

नौकरी छोड़ने के आपके निर्णय के कई कारण हो सकते हैं। आपको एक्जिट इंटरव्यू के सवालों का सही और संक्षिप्त जवाब देना होगा। लेकिन एक्जिट इंटरव्यू के दौरान वास्तव में क्या होता है? जब आपने नौकरी छोड़ने का फैसला कर लिया है, तो यह आपके नियोक्ता को आपके साथ बात करने का मौका देता है। आपसे आपके इस्तीफे के कारणों को सूचीबद्ध करते हुए विवरण देने की उम्मीद की जाती है। मानव संसाधन विभाग आपके अनुभव के बारे में भी पूछ सकता है।

यहां लोगों के कंपनी छोड़ने के निर्णय के कुछ कारणों के बारे में बताया गया है: 

  • नैतिकता से समझौता  
  • अस्वस्थ कार्य वातावरण  
  • कम भुगतान या कौशल का कम उपयोग किया जाना   
  • वृद्धि की कोई संभावना नहीं  

क्या होगा, अगर आपको एक बेहतर मौका मिला है? आप यह सुनिश्चित करने के लिए कंपनी के साथ चर्चा कर सकते हैं कि आप वेतन या प्रोन्नति के अवसरों से नहीं चूक रहे हैं।

संबंधित:  ये 7 भत्ते आपको बेहतर नौकरी की संतुष्टि और कार्य-जीवन संतुलन दे सकते हैं 

फुल और फाइनल सेटलमेंट 

औपचारिकता के लिए अपनी नौकरी छोड़ते समय, आपको फुल और फाइनल सेटलमेंट (एफएनएफ) की प्रक्रिया को समझने की जरूरत है। आपके एक्जिट इंटरव्यू के बाद की प्रक्रिया को एफएनएफ सेटलमेंट कहा जाता है।

इस अवसर पर अपना बोनस, कर कटौती और महीने के लिए मूल वेतन निर्धारित करें। कभी-कभी, एक्जिट इंटरव्यू एफएनएफ सेटलमेंट का हिस्सा होता है। इस प्रक्रिया के दौरान, आपको अपने कब्जे वाली कंपनी की किसी भी संपत्ति- लैपटॉप, सिम कार्ड, वाई-फाई एक्सेस आदि को छोड़ देना होगा।

एफएनएफ निपटान नीतियां कंपनी की नीति के आधार पर अलग अलग हो सकती हैं। मानव संसाधन विभाग पूरी प्रक्रिया को संभालता है। एफएनएफ निपटान प्रक्रिया को आमतौर पर कर्मचारी के इस्तीफे की तारीख से पूरा होने में एक महीने का समय लगता है। इसलिए अपनी ईएमआई, मासिक खर्चों की योजना पहले से ही बना लें। इसके लिए ज्ञान और अनुभव की आवश्यकता होती है और आपकी कंपनी के पास इसके लिए एक विस्तृत प्रक्रिया होगी। 

यहां पैसों से जुड़े काम के सेटलमेंट के लिए जरूरी काम की सूची दी गई है: 

  • बकाया वेतन   
  • अवकाश नकदीकरण 
  • ग्रेच्युटी 
  • पेंशन
  • कटौती
  • प्रोफेशनल कर 
  • टीडीएस
  • ईपीएफ
  • सैलरी अकाउंट 

कंपनी से बाहर निकलने से पहले, आपने जितने दिनों तक काम किया है, उसका पैसा जरूर ले लें।

संबंधित: आपकी नौकरी चली गई है या छोड़ने की योजना बना रहे हैं? तो, आप अपने ईपीएफ से लाभ उठा सकते हैं, यहां जानिए कैसे 

कंपनी छोड़ने के बाद जरूरी दस्तावेज

सहमति आदेश दिए जाने और आपकी एफएलएफ निपटान प्रक्रिया शुरू होने के बाद आप एचआर से निम्नलिखित दस्तावेज मांग सकते हैं:

  • वेतन पर्ची
  • अनुभव पत्र  
  • अपने सरकारी दस्तावेजों की मूल प्रतियां  
  • टीडीएस प्रमाणपत्र
  • महीने के लिए अंतिम तनख्वाह
  • गणना की प्रतियां और कर रिटर्न या टीडीएस की पावती 
  • फॉर्म 16
  • अनुमोदन पत्र और कार्य से मुक्ति देने का पत्र 

इन दस्तावेजों पर एक्जिट इंटरव्यू के दौरान भी चर्चा की जा सकती है। 

आखिरी शब्द 

अब, आप अपने त्याग पत्र को सौंपने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। लेकिन सबसे पहले अपने पैसे से जुड़े सभी काम निपटा लें। इससे एफएलएफ निपटान और एक्जिट इंटरव्यू आसान हो जाएगा। सुनिश्चित करें कि आपको सभी दस्तावेज और सहमति आदेश मिल गए हों। आपके ईपीएफ और वेतन खाते की जानकारी होना सबसे जरूरी है। इस लेख में ऊपर बताए गए आवश्यक पत्र और दस्तावेज जरूर मांगें। 

अपने मौजूदा संगठन को छोड़ना आसान नहीं होता है। जब आप नए अवसर के बारे में उत्साहित होते हैं, तो आपको अपने सहयोगियों को छोड़ने और नए सेटअप में जाने, नए-नए लोगों से मिलने आदि के बारे में एक कड़वा अहसास भी होता है। फुल और फाइनल सेटलमेंट प्रक्रिया तनाव को और बढ़ा देती है। नौकरी छोड़ने से पहले पैसों से जुड़े हुए काम को निपटाने के बारे में जान लेने से आपको संगठन से आसानी से बाहर निकलने में मदद मिल सकती है। ज्यादा जानकारी के लिए आगे पढ़ें।

इस्तीफा चेकलिस्ट

एक्जिट इंटरव्यू में जाने से पहले, निम्नलिखित चेकलिस्ट पर नजर डाल लें।

  • आप आगे के लिए तैयार रहें या प्लान बी को संभाल कर रखें
  • अपने पैसों से जुड़ी स्थिति को समझें और जरूरी होने पर उस पर दोबारा काम करें 
  • एक आपातकालीन कोष रखें
  • नया बजट तैयार करें  
  • सहकर्मियों को अपना इस्तीफा देने का इरादा मत बताएं   
  • काम के नमूने को सहेजें या उसे एक फोल्डर रखें   
  • कार्यालय की संपत्ति से व्यक्तिगत जानकारी (पासवर्ड आदि) को खत्म करना सुनिश्चित करें   

यदि आप इन चीजों को सुलझा लेते हैं, तो पूरी प्रक्रिया आसान हो जाएगी।

कंपनी कैसे छोड़ें?  

यदि आपने इस्तीफा देने का मन बना लिया है, तो इस प्रक्रिया का पालन करें:  

  • अपने इस्तीफे के बारे में अपने बॉस से बात करें
  • अपने त्यागपत्र को सूचनात्मक और निश्चित बनाएं  
  • अंतिम कार्य दिवस निर्धारित करें  
  • अपने जॉब समझौते की शर्तों के अनुसार उचित नोटिस दें
  • किसी भी आधिकारिक संपत्ति या सामग्री को मानव संसाधन या संबंधित व्यक्ति को सौंप दें

यदि आप ऊपर दिये काम कर लेते हैं, तो आपको यह प्रक्रिया बहुत बोझिल नहीं लगेगी। 

कंपनी कब छोड़ें?

नौकरी छोड़ने के आपके निर्णय के कई कारण हो सकते हैं। आपको एक्जिट इंटरव्यू के सवालों का सही और संक्षिप्त जवाब देना होगा। लेकिन एक्जिट इंटरव्यू के दौरान वास्तव में क्या होता है? जब आपने नौकरी छोड़ने का फैसला कर लिया है, तो यह आपके नियोक्ता को आपके साथ बात करने का मौका देता है। आपसे आपके इस्तीफे के कारणों को सूचीबद्ध करते हुए विवरण देने की उम्मीद की जाती है। मानव संसाधन विभाग आपके अनुभव के बारे में भी पूछ सकता है।

यहां लोगों के कंपनी छोड़ने के निर्णय के कुछ कारणों के बारे में बताया गया है: 

  • नैतिकता से समझौता  
  • अस्वस्थ कार्य वातावरण  
  • कम भुगतान या कौशल का कम उपयोग किया जाना   
  • वृद्धि की कोई संभावना नहीं  

क्या होगा, अगर आपको एक बेहतर मौका मिला है? आप यह सुनिश्चित करने के लिए कंपनी के साथ चर्चा कर सकते हैं कि आप वेतन या प्रोन्नति के अवसरों से नहीं चूक रहे हैं।

संबंधित:  ये 7 भत्ते आपको बेहतर नौकरी की संतुष्टि और कार्य-जीवन संतुलन दे सकते हैं 

फुल और फाइनल सेटलमेंट 

औपचारिकता के लिए अपनी नौकरी छोड़ते समय, आपको फुल और फाइनल सेटलमेंट (एफएनएफ) की प्रक्रिया को समझने की जरूरत है। आपके एक्जिट इंटरव्यू के बाद की प्रक्रिया को एफएनएफ सेटलमेंट कहा जाता है।

इस अवसर पर अपना बोनस, कर कटौती और महीने के लिए मूल वेतन निर्धारित करें। कभी-कभी, एक्जिट इंटरव्यू एफएनएफ सेटलमेंट का हिस्सा होता है। इस प्रक्रिया के दौरान, आपको अपने कब्जे वाली कंपनी की किसी भी संपत्ति- लैपटॉप, सिम कार्ड, वाई-फाई एक्सेस आदि को छोड़ देना होगा।

एफएनएफ निपटान नीतियां कंपनी की नीति के आधार पर अलग अलग हो सकती हैं। मानव संसाधन विभाग पूरी प्रक्रिया को संभालता है। एफएनएफ निपटान प्रक्रिया को आमतौर पर कर्मचारी के इस्तीफे की तारीख से पूरा होने में एक महीने का समय लगता है। इसलिए अपनी ईएमआई, मासिक खर्चों की योजना पहले से ही बना लें। इसके लिए ज्ञान और अनुभव की आवश्यकता होती है और आपकी कंपनी के पास इसके लिए एक विस्तृत प्रक्रिया होगी। 

यहां पैसों से जुड़े काम के सेटलमेंट के लिए जरूरी काम की सूची दी गई है: 

  • बकाया वेतन   
  • अवकाश नकदीकरण 
  • ग्रेच्युटी 
  • पेंशन
  • कटौती
  • प्रोफेशनल कर 
  • टीडीएस
  • ईपीएफ
  • सैलरी अकाउंट 

कंपनी से बाहर निकलने से पहले, आपने जितने दिनों तक काम किया है, उसका पैसा जरूर ले लें।

संबंधित: आपकी नौकरी चली गई है या छोड़ने की योजना बना रहे हैं? तो, आप अपने ईपीएफ से लाभ उठा सकते हैं, यहां जानिए कैसे 

कंपनी छोड़ने के बाद जरूरी दस्तावेज

सहमति आदेश दिए जाने और आपकी एफएलएफ निपटान प्रक्रिया शुरू होने के बाद आप एचआर से निम्नलिखित दस्तावेज मांग सकते हैं:

  • वेतन पर्ची
  • अनुभव पत्र  
  • अपने सरकारी दस्तावेजों की मूल प्रतियां  
  • टीडीएस प्रमाणपत्र
  • महीने के लिए अंतिम तनख्वाह
  • गणना की प्रतियां और कर रिटर्न या टीडीएस की पावती 
  • फॉर्म 16
  • अनुमोदन पत्र और कार्य से मुक्ति देने का पत्र 

इन दस्तावेजों पर एक्जिट इंटरव्यू के दौरान भी चर्चा की जा सकती है। 

आखिरी शब्द 

अब, आप अपने त्याग पत्र को सौंपने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। लेकिन सबसे पहले अपने पैसे से जुड़े सभी काम निपटा लें। इससे एफएलएफ निपटान और एक्जिट इंटरव्यू आसान हो जाएगा। सुनिश्चित करें कि आपको सभी दस्तावेज और सहमति आदेश मिल गए हों। आपके ईपीएफ और वेतन खाते की जानकारी होना सबसे जरूरी है। इस लेख में ऊपर बताए गए आवश्यक पत्र और दस्तावेज जरूर मांगें। 

Expert Article block example

संवादपत्र

संबंधित लेख