:खराब स्‍टॉक को कैसे पहचानें? शेयर मार्केट के लिए शुरूआत करने वालों के लिए गाइड | How to identify a bad stock?

यहां पर संभावित खतरे के संकेत दिए गए हैं जिन्‍हें आपको निवेश के लिए स्‍टॉक का मूल्‍यांकन करते समय देखना चाहिए।

खराब स्‍टॉक को पहचानने के 6 तरीके

शेयर बाजार में निवेश करना जितना कला है उतना ही विज्ञान भी। शुरुआत करने वाले लोगों के लिए शेयर बाजार में निवेश करना विभिन्न स्रोतों से बड़ी मात्रा में जानकारी के साथ भ्रमित करने वाला हो सकता है।कई शुरुआत करने वाले निवेश के ट्रेड में निवेश करने और लहर के साथ बाहर निकलने की कोशिश करते हैं। हालांकि वे कम अवधि में पैसा कमा सकते हैं, यह पूरी तरह से भाग्य पर आधारित है, और यदि आप खराब स्टॉक में निवेश करते हैं तो यह कठिन सबक सीखने का एक महंगा तरीका बन सकता है।

मूल सिद्धांत, बिजनेस का पक्षपात रहित विश्‍लेषण, रिस्‍क-रिवार्ड मूल्‍यांकन, और समय-समय पर निगरानी कुछ ऐसे टूल्‍स हैं जिनका आप खराब स्टॉक की पहचान करने या उनसे बाहर निकलने के लिए उपयोग कर सकते हैं। शेयर बाजार में ट्रेडिंग के लिए शुरूआत करने वालों के लिए गाइड

1. डेब्ट-टू-इक्विटी का उच्च अनुपात

बिजनेस कई कारणों से पैसे उधार लेते हैं, और हर किसी की तरह, उन्हें उस पैसे पर ब्याज देना पड़ता है। जिन कंपनियों के अधिक मात्रा में ॠण लिया है, वे इस ऋण का भुगतान करने के लिए अपने राजस्व का एक महत्वपूर्ण हिस्सा खो सकते हैं, जो सीधे लाभप्रदता को प्रभावित करता है।

यदि अप्रत्याशित समय पर या बाजार में मंदी के दौरान राजस्व में गिरावट आती है, तो यह पूरे व्यवसाय को खतरे में डाल सकता है, और स्टॉक की कीमतों में गिरावट आ सकती है। कंपनी के डेट-टू-इक्विटी (D/E) अनुपात की जांच करना शुरुआत करने वाले लोगों के लिए शेयर मार्केट की सबसे पहले टिप्‍स हैं। जिन कंपनियों का D/E अनुपात 1 से अधिक है, उन्हें बहुत जोखिम वाला माना जाता है और उनसे बचना चाहिए। आदर्श रूप से, आपको उन व्यवसायों में निवेश करना चाहिए जिनका D/E अनुपात 0.5 से कम है। बैलेंस शीट पर कम ॠण अधिक ऋण पात्रता और कम जोखिम को दर्शाता है।

2. लगाई गई पूंजी पर कम रिटर्न 

ऊपर दिये गए बिंदु के आधार पर, कम ऋण या उच्च इक्विटी कैपिटल अपने आप में एक निर्धारक नहीं हो सकती है। निवेशकों को यह भी देखना होगा कि बिजनेस पूंजी का उपयोग कैसे कर रहा है। उदाहरण के लिए, मान लें कि कंपनी X ने 200 करोड़ रुपये की पूंजी जुटाई है और 9% का लाभ अर्जित किया है, और कंपनी Z ने 500 करोड़ रुपये की पूंजी जुटाई है और 12% का लाभ अर्जित किया है। देखने पर, ऐसा लग सकता है कि कंपनी Z अधिक लाभ कमा रही है, लेकिन जब आप नियोजित पूंजी के आधार पर लाभ का आकलन करते हैं, तो कंपनी X बहुत बेहतर कर रही है।

दूसरी ओर, लगाई गई पूंजी पर उच्च रिटर्न (ROCE) दर्शाता है कि प्रबंधन विवेकपूर्ण है और पूंजी का अधिकतम उपयोग करने में सक्षम है। हालांकि, व्यवसायों की तुलना करते समय, बेहतर अनुमान लगाने के लिए हमेशा एक ही उद्योग के भीतर और कम से कम 3-5 वर्षों की अवधि के लिए ऐसा करें।

3. लाभप्रदता और बिक्री में वृद्धि

जबकि बिजनेस का पिछला प्रदर्शन एक महत्वपूर्ण विचार है, आपका निवेश भविष्य के लिए स्टॉक के वादे से प्रेरित होना चाहिए। बिक्री और लाभ में वृद्धि व्यावसायिक दक्षता और प्रतिस्पर्धात्मकता में सुधार का एक संकेतक है।

शुरुआत करने वाले लोगों के लिए स्टॉक्स में निवेश करने की एक आवश्यक रणनीति बिजनेस की साल-दर-साल वृद्धि का आकलन करना होती है। उन स्‍टॉक्‍स से बचें जो पिछले 3-5 वर्षों में अपने बिजनेस को नहीं बढ़ा पाए हैं या यहां तक कि ऐसे बिजनेस से भी बचें जिनकी बिक्री में वृद्धि दिखती है लेकिन कुल मिलाकर लाभप्रदता नहीं दिखती है। स्पेक्ट्रम के दूसरे सिरे पर भी जोखिम के बारे में सावधान रहें - ऐसा बिजनेस जो असामान्य लाभ दिखाता है या जो व्यावसायिक गतिविधि या बाजार में बदलाव के अनुसार उचित नहीं है, उसकी भी पूरी तरह से जांच की जानी चाहिए।

4. प्रमोटर की संदिग्ध गतिविधि

प्रमोटर आमतौर पर कंपनी के सबसे बड़े शेयरधारक होते हैं और जाहिर तौर पर बंद दरवाजों के पीछे होने वाली हर एक चीज से जुड़े होते हैं। प्रमोटरों की अपने स्वयं के स्टॉक पर गतिविधि एक अनुमान दे सकती है कि वे चीजों को कैसे बदलते हुए देखते हैं। इनसाइडर ट्रेडिंग और स्टॉक में हेराफेरी के कई उदाहरण सामने आए हैं, जो बिना सोचे-समझे निवेश करने वाले निवेशकों की कीमत पर प्रमोटरों को अमीर बना देता है।

निवेशकों को 'पंप और डंप' शेयरों से सावधान रहने की जरूरत है, जहां प्रमोटर या बड़े निवेशक झूठी या भ्रामक 'सकारात्मक' जानकारी फैलाकर स्टॉक की कीमतों को बढ़ाने की कोशिश करते हैं, जो निवेशकों को खरीदने के लिए प्रेरित करती है और बाद में अपने स्टॉक को बढ़ी कीमतों पर डंप करते हैं और कीमतें नीचे आ जाती है। इसके विपरीत, प्रमोटर की हिस्सेदारी में वृद्धि आमतौर पर एक अच्छा संकेत होता है। प्रमोटरों को लगता है कि स्टॉक का मूल्यांकन कम है और उन्हें लगता है कि उनकी कीमतें जहां पर हैं वहां पैसा लगाने से बेहतर डिविडेंट मिलेगा।

Related YouTube Link: https://www.youtube.com/watch?v=8Ybp-2fzeTk

 

5. (कु)प्रबंधन के मुद्दे

प्रबंधन टीम बिजनेस को चलाने और शेयरहोल्‍डर वैल्‍यू बनाने के लिए जिम्मेदार होती है। निवेशकों को इस बात पर गहरी नजर रखनी चाहिए कि प्रबंधन क्या करता है न कि इस बात पर कि प्रबंधन क्या कहता है। व्यवसाय की मूलभूत विशेषताओं से दूर रहना, एसेट्स के लिए अधिक भुगतान करना, वेतन में ऐसी वृद्धि करना जो व्यवसाय की वृद्धि के  लिए तर्कसंगत नहीं है, बड़े पैमाने पर छंटनी, नियामक की समस्‍याएं, शेयरधारकों की राय को कम आंकना आदि कुछ ऐसे संकेत हैं जो आपको खराब स्टॉक में निवेश करने से बचा सकते हैं।

यह जानना महत्वपूर्ण है कि आपने जिस बिजनेस में निवेश किया है, उसे कौन चला रहा है। शीर्ष प्रबंधन में बार-बार बदलाव इस बात का संकेत है कि चीजें ठीक नहीं चल रही हैं। ब्लू-चिप दिग्गजों के कई सीईओ(CEOs) के उदाहरण हैं, जिनके शब्दों, कार्यों या अक्षमता ने बिजनेस के अच्छे मूल सिद्धांतों के प्रदर्शन के बावजूद शेयरहोल्‍डर की वैल्‍यू को कम कर दिया है।

6. फुटनोट्स में खतरे के संकेत

शुरुआती निवेश करने वाले लोगों के लिए शेयर बाजार में निवेश कैसे करें, इस पर सलाह का पहला भाग बिजनेस की वित्तीय रिपोर्ट को देखने पर जोर देता है। कंपनी के प्रदर्शन के बारे में सब कुछ लिखित में रखा जाता है। हालांकि, कई व्यवसाय अपने प्रदर्शन को ताम-झाम से आकर्षक दिखाने की कोशिश करते हैं, जिससे नए निवेशक सही बात देखने से चूक सकते हैं।

जैसा कि पुरानी कहावत है, 'द डेविल इज़ इन द डिटेल्स’ (किसी ज़रूरी चीज़ को अनदेखा करके मुश्किल में पड़ना)। वित्तीय विवरणों के फ़ुटनोट में सभी छोटे प्रिंट में दी गई चीजों को स्‍पष्‍ट करना चाहिए- उपयोग में लाया गया अकाउंट का तरीक़ा, ऋण का विवरण, ESOPs, कानूनी मुद्दे, और बहुत कुछ। लेखांकन पद्धति के बीच एक स्विच, गलत राजस्व की रिपोर्टिंग, असामान्य रूप से उच्च लीगल फीस, आदि, ऐसे खतरे के संकेत हैं जिन्‍हें देखा जाना चाहिए।

स्‍टॉक मार्केट में निवेश करने से पहले जानने योग्य महत्वपूर्ण बातें

कुछ कंपनियां निवेशकों को भ्रमित करने के लिए फ़ुटनोट में कानूनी शब्दावली और तकनीकी शब्दों का उपयोग करने के लिए भी जानी जाती हैं। अगर आपको लगता है कि जो दिखता है वही सब कुछ नहीं है, तो बेहतर होगा कि आप अपनी मेहनत की कमाई को निवेश करने के लिए किसी अन्य स्टॉक को देखें।

&

शेयर बाजार में निवेश करना जितना कला है उतना ही विज्ञान भी। शुरुआत करने वाले लोगों के लिए शेयर बाजार में निवेश करना विभिन्न स्रोतों से बड़ी मात्रा में जानकारी के साथ भ्रमित करने वाला हो सकता है।कई शुरुआत करने वाले निवेश के ट्रेड में निवेश करने और लहर के साथ बाहर निकलने की कोशिश करते हैं। हालांकि वे कम अवधि में पैसा कमा सकते हैं, यह पूरी तरह से भाग्य पर आधारित है, और यदि आप खराब स्टॉक में निवेश करते हैं तो यह कठिन सबक सीखने का एक महंगा तरीका बन सकता है।

मूल सिद्धांत, बिजनेस का पक्षपात रहित विश्‍लेषण, रिस्‍क-रिवार्ड मूल्‍यांकन, और समय-समय पर निगरानी कुछ ऐसे टूल्‍स हैं जिनका आप खराब स्टॉक की पहचान करने या उनसे बाहर निकलने के लिए उपयोग कर सकते हैं। शेयर बाजार में ट्रेडिंग के लिए शुरूआत करने वालों के लिए गाइड

1. डेब्ट-टू-इक्विटी का उच्च अनुपात

बिजनेस कई कारणों से पैसे उधार लेते हैं, और हर किसी की तरह, उन्हें उस पैसे पर ब्याज देना पड़ता है। जिन कंपनियों के अधिक मात्रा में ॠण लिया है, वे इस ऋण का भुगतान करने के लिए अपने राजस्व का एक महत्वपूर्ण हिस्सा खो सकते हैं, जो सीधे लाभप्रदता को प्रभावित करता है।

यदि अप्रत्याशित समय पर या बाजार में मंदी के दौरान राजस्व में गिरावट आती है, तो यह पूरे व्यवसाय को खतरे में डाल सकता है, और स्टॉक की कीमतों में गिरावट आ सकती है। कंपनी के डेट-टू-इक्विटी (D/E) अनुपात की जांच करना शुरुआत करने वाले लोगों के लिए शेयर मार्केट की सबसे पहले टिप्‍स हैं। जिन कंपनियों का D/E अनुपात 1 से अधिक है, उन्हें बहुत जोखिम वाला माना जाता है और उनसे बचना चाहिए। आदर्श रूप से, आपको उन व्यवसायों में निवेश करना चाहिए जिनका D/E अनुपात 0.5 से कम है। बैलेंस शीट पर कम ॠण अधिक ऋण पात्रता और कम जोखिम को दर्शाता है।

2. लगाई गई पूंजी पर कम रिटर्न 

ऊपर दिये गए बिंदु के आधार पर, कम ऋण या उच्च इक्विटी कैपिटल अपने आप में एक निर्धारक नहीं हो सकती है। निवेशकों को यह भी देखना होगा कि बिजनेस पूंजी का उपयोग कैसे कर रहा है। उदाहरण के लिए, मान लें कि कंपनी X ने 200 करोड़ रुपये की पूंजी जुटाई है और 9% का लाभ अर्जित किया है, और कंपनी Z ने 500 करोड़ रुपये की पूंजी जुटाई है और 12% का लाभ अर्जित किया है। देखने पर, ऐसा लग सकता है कि कंपनी Z अधिक लाभ कमा रही है, लेकिन जब आप नियोजित पूंजी के आधार पर लाभ का आकलन करते हैं, तो कंपनी X बहुत बेहतर कर रही है।

दूसरी ओर, लगाई गई पूंजी पर उच्च रिटर्न (ROCE) दर्शाता है कि प्रबंधन विवेकपूर्ण है और पूंजी का अधिकतम उपयोग करने में सक्षम है। हालांकि, व्यवसायों की तुलना करते समय, बेहतर अनुमान लगाने के लिए हमेशा एक ही उद्योग के भीतर और कम से कम 3-5 वर्षों की अवधि के लिए ऐसा करें।

3. लाभप्रदता और बिक्री में वृद्धि

जबकि बिजनेस का पिछला प्रदर्शन एक महत्वपूर्ण विचार है, आपका निवेश भविष्य के लिए स्टॉक के वादे से प्रेरित होना चाहिए। बिक्री और लाभ में वृद्धि व्यावसायिक दक्षता और प्रतिस्पर्धात्मकता में सुधार का एक संकेतक है।

शुरुआत करने वाले लोगों के लिए स्टॉक्स में निवेश करने की एक आवश्यक रणनीति बिजनेस की साल-दर-साल वृद्धि का आकलन करना होती है। उन स्‍टॉक्‍स से बचें जो पिछले 3-5 वर्षों में अपने बिजनेस को नहीं बढ़ा पाए हैं या यहां तक कि ऐसे बिजनेस से भी बचें जिनकी बिक्री में वृद्धि दिखती है लेकिन कुल मिलाकर लाभप्रदता नहीं दिखती है। स्पेक्ट्रम के दूसरे सिरे पर भी जोखिम के बारे में सावधान रहें - ऐसा बिजनेस जो असामान्य लाभ दिखाता है या जो व्यावसायिक गतिविधि या बाजार में बदलाव के अनुसार उचित नहीं है, उसकी भी पूरी तरह से जांच की जानी चाहिए।

4. प्रमोटर की संदिग्ध गतिविधि

प्रमोटर आमतौर पर कंपनी के सबसे बड़े शेयरधारक होते हैं और जाहिर तौर पर बंद दरवाजों के पीछे होने वाली हर एक चीज से जुड़े होते हैं। प्रमोटरों की अपने स्वयं के स्टॉक पर गतिविधि एक अनुमान दे सकती है कि वे चीजों को कैसे बदलते हुए देखते हैं। इनसाइडर ट्रेडिंग और स्टॉक में हेराफेरी के कई उदाहरण सामने आए हैं, जो बिना सोचे-समझे निवेश करने वाले निवेशकों की कीमत पर प्रमोटरों को अमीर बना देता है।

निवेशकों को 'पंप और डंप' शेयरों से सावधान रहने की जरूरत है, जहां प्रमोटर या बड़े निवेशक झूठी या भ्रामक 'सकारात्मक' जानकारी फैलाकर स्टॉक की कीमतों को बढ़ाने की कोशिश करते हैं, जो निवेशकों को खरीदने के लिए प्रेरित करती है और बाद में अपने स्टॉक को बढ़ी कीमतों पर डंप करते हैं और कीमतें नीचे आ जाती है। इसके विपरीत, प्रमोटर की हिस्सेदारी में वृद्धि आमतौर पर एक अच्छा संकेत होता है। प्रमोटरों को लगता है कि स्टॉक का मूल्यांकन कम है और उन्हें लगता है कि उनकी कीमतें जहां पर हैं वहां पैसा लगाने से बेहतर डिविडेंट मिलेगा।

Related YouTube Link: https://www.youtube.com/watch?v=8Ybp-2fzeTk

 

5. (कु)प्रबंधन के मुद्दे

प्रबंधन टीम बिजनेस को चलाने और शेयरहोल्‍डर वैल्‍यू बनाने के लिए जिम्मेदार होती है। निवेशकों को इस बात पर गहरी नजर रखनी चाहिए कि प्रबंधन क्या करता है न कि इस बात पर कि प्रबंधन क्या कहता है। व्यवसाय की मूलभूत विशेषताओं से दूर रहना, एसेट्स के लिए अधिक भुगतान करना, वेतन में ऐसी वृद्धि करना जो व्यवसाय की वृद्धि के  लिए तर्कसंगत नहीं है, बड़े पैमाने पर छंटनी, नियामक की समस्‍याएं, शेयरधारकों की राय को कम आंकना आदि कुछ ऐसे संकेत हैं जो आपको खराब स्टॉक में निवेश करने से बचा सकते हैं।

यह जानना महत्वपूर्ण है कि आपने जिस बिजनेस में निवेश किया है, उसे कौन चला रहा है। शीर्ष प्रबंधन में बार-बार बदलाव इस बात का संकेत है कि चीजें ठीक नहीं चल रही हैं। ब्लू-चिप दिग्गजों के कई सीईओ(CEOs) के उदाहरण हैं, जिनके शब्दों, कार्यों या अक्षमता ने बिजनेस के अच्छे मूल सिद्धांतों के प्रदर्शन के बावजूद शेयरहोल्‍डर की वैल्‍यू को कम कर दिया है।

6. फुटनोट्स में खतरे के संकेत

शुरुआती निवेश करने वाले लोगों के लिए शेयर बाजार में निवेश कैसे करें, इस पर सलाह का पहला भाग बिजनेस की वित्तीय रिपोर्ट को देखने पर जोर देता है। कंपनी के प्रदर्शन के बारे में सब कुछ लिखित में रखा जाता है। हालांकि, कई व्यवसाय अपने प्रदर्शन को ताम-झाम से आकर्षक दिखाने की कोशिश करते हैं, जिससे नए निवेशक सही बात देखने से चूक सकते हैं।

जैसा कि पुरानी कहावत है, 'द डेविल इज़ इन द डिटेल्स’ (किसी ज़रूरी चीज़ को अनदेखा करके मुश्किल में पड़ना)। वित्तीय विवरणों के फ़ुटनोट में सभी छोटे प्रिंट में दी गई चीजों को स्‍पष्‍ट करना चाहिए- उपयोग में लाया गया अकाउंट का तरीक़ा, ऋण का विवरण, ESOPs, कानूनी मुद्दे, और बहुत कुछ। लेखांकन पद्धति के बीच एक स्विच, गलत राजस्व की रिपोर्टिंग, असामान्य रूप से उच्च लीगल फीस, आदि, ऐसे खतरे के संकेत हैं जिन्‍हें देखा जाना चाहिए।

स्‍टॉक मार्केट में निवेश करने से पहले जानने योग्य महत्वपूर्ण बातें

कुछ कंपनियां निवेशकों को भ्रमित करने के लिए फ़ुटनोट में कानूनी शब्दावली और तकनीकी शब्दों का उपयोग करने के लिए भी जानी जाती हैं। अगर आपको लगता है कि जो दिखता है वही सब कुछ नहीं है, तो बेहतर होगा कि आप अपनी मेहनत की कमाई को निवेश करने के लिए किसी अन्य स्टॉक को देखें।

&

Expert Article block example

संवादपत्र

संबंधित लेख