Rakesh Jhunjhunwala Invested in Tata Group : के इस शेयर में काफी मात्रा में निवेश करते हैं।

गुरुवार की ट्रेडिंग के अनुसार, प्रसिद्ध फाइनेंसर राकेश झुनझुनवाला ने अपनी पत्नी रेखा के साथ आईएचसीएल में 667 करोड़ रुपये की संयुक्त 2.12% हिस्सेदारी खरीदी है। वार्षिक रिपोर्ट का अध्ययन करने वाले विशेषज्ञों के अनुसार, वर्तमान कानून प्राप्‍त करने योग्‍य और व्यावहारिक हैं।

Rakesh Jhunjhun invests in Tata

विशेषज्ञ टाटा समूह की वार्षिक रिपोर्ट की समीक्षा करते हैं:

  • वित्तीय विशेषज्ञ टाटा समूह के स्वामित्व वाले कॉर्पोरेशन के शेयर का समर्थन करते हैं। यह कंपनी इंडियन होटल्स कंपनी लिमिटेड (IHCL) है।
  • कुशल निवेशक राकेश झुनझुनवाला के लिए इंडियन होटल्स एक भारी निवेश है। गुरुवार, 22 जून, 2022, को टाटा की इस फर्म का एसेट 220.90 रुपये पर ट्रेड कर रहा है।
  • अपनी वार्षिक रिपोर्ट में, इंडियन होटल्स ने कहा है कि उसका प्रबंधन मैनेजमेंट एग्रीमेंट के माध्यम से एसेट लाइट विस्‍तार को प्राथमिकता देता है। इकोनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट में इस बात का जिक्र किया गया है।
  • ब्रोकरेज फर्म मोतीलाल ओसवाल के अनुसार, वार्षिक रिपोर्ट में कंपनी के अपने नए और मौजूदा व्यवसाय दोनों को बढ़ाने के प्रयासों को स्पष्ट किया गया है। मार्जिन बढ़ाने और अधिक रिटर्न प्रदान करने के लिए, यह आपकी पूंजी को कुशलतापूर्वक इस्‍तेमाल करने के बारे में भी है।

राकेश झुनझुनवाला के नवीनतम पोर्टफोलियो के बारे में और जानने के लिए वीडियो देखें।

राकेश झुनझुनवाला का निवेश:

  • मार्च 2022 तिमाही के लिए होल्डिंग्स के अनुसार, प्रमुख उद्योगपति राकेश झुनझुनवाला और उनकी पत्नी रेखा झुनझुनवाला की इंडियन होटल्स कंपनी में 2.12% की हिस्‍सेदारी है।
  • गुरुवार को हुए ट्रेड के आधार पर, राकेश झुनझुनवाला की शेयरहोल्डिंग करीब 667 करोड़ रुपये की है।
  • पिछले छह महीनों में इंडियन होटल्स के स्टॉक में 22 फीसदी की गिरावट आई है, और साथ ही, इस साल कंपनी के शेयर्स निवेशकों को 20.29 फीसदी रिटर्न दे चुके हैं।

भारत में शीर्ष 5 होटल शेयर्स के बारे में जानने के लिए लिंक पर टैप करें।

निवेशक अब क्या उम्मीद कर सकते हैं?

ब्रोकरेज आशावादी है क्‍योंकि कोविड के बाद ब्रोकरेज फर्म का राजस्‍व बढ़ा है:

  • कंपनी की वित्‍तीय वर्ष 22 की वार्षिक रिपोर्ट के बाद इंडियन होटल्‍स का स्टॉक ऊपर की ओर जा रहा है। यह अपनी नई और मौजूदा कंपनियों का विस्तार करने और उच्च रिटर्न प्रदान करने के लिए अपने पैसे का प्रभावी ढंग से उपयोग करने के अपने प्रयासों पर जोर दिया।
  • मोतीलाल ओसवाल के विश्लेषण के अनुसार, भारत में, होटल रूम के राजस्व में साल दर साल 80% की वृद्धि हुई है। कोरोनावायरस की नवीनतम लहर के चरम पर पहुंचने के बाद, ऑक्यूपेंसी रेट बढ़ा है।
  • वार्षिक आधार पर, भारत में होटलों की बेवरेज और भोजन से आय में 78% की वृद्धि हुई है।
  • आईसीआईसीआई सिक्‍योरिटीज़ ने स्‍टॉक के टारगेट प्राइज़ को 292 से थोड़ा कम करके 284 रूपये कर दिया है।
  • अपनी "आहवान 2025" रणनीति को लागू करने का कंपनी का उद्देश्य इसकी वित्‍तीय वर्ष 22 की वार्षिक रिपोर्ट में दोहराया गया है।

निष्‍कर्ष:

बिज़नेस और लैज़र ट्रैवल में लगातार वृद्धि के साथ, कंपनी ने बताया कि अप्रैल और मई का राजस्व कोविड के पहले के स्तरों की तुलना में 10% अधिक था। आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज़ का अनुमान है कि FY23E और FY24E का राजस्व कोविड (FY20) के पहले के चरणों की तुलना में, क्रमश: 104% और 122% होगा। शेयर 2.97 फीसदी बढ़ा है।

संवादपत्र

संबंधित लेख