वे अहम कारक जो आपको यह निर्णय लेने में मदद करते हैं कि आप कितना मॉर्गेज वहन कर सकते हैं

बैंक चाहते हैं कि ईएमआइ आपके टेक-होम पे के 30% से ज्यादा न बढ़ें। यहां इसके कारण है।

वे अहम कारक जो आपको यह निर्णय लेने में मदद करते हैं कि आप कितना मॉर्गेज वहन कर सकते हैं

आप कितना मॉर्गेज वहन कर सकते हैं? यह प्रश्न अक्सर ऐसे लोगों को परेशान करता है, जो लोन लेकर घर खरीदना चाहते हैं। अन्य चिंताएं ईएमआइ और वहन कर सकने वाले बजट से जुड़ी हैं।

कारक जो लोन की राशियों को प्रभावित करते हैं और ईएमआइ नीचे सूचीबद्ध हैं; यदि आप होम लोन की योजना बना रहे हैं, तो यह सूची आपको स्वीकार्य मॉर्गेज साइज का निर्णय लेने में गाइड कर सकती है।

डाउन पेमेंट

आरबीआइ दिशा-निर्देशों के अनुसार, कर्जदाता प्रॉपर्टी मूल्य के 80% तक का ऋण ऑफर कर सकता है, हालांकि कई 90% तक ऑफ़र करते हैं। जब आप अपनी पसंद की प्रॉपर्टी को चुन लेते हैं, तो आपको आवश्यक डाउन पेमेंट की जानकारी लेने होगी।

कर्जदाता एक न्यूनतम डाउन पेमेंट का उल्लेख कर सकता है, हालांकि विशेषज्ञ सलाह देते हैं कि खरीददार प्रॉपर्टी वैल्यू का कम से कम 15%-20% जमा कराएं। बेशक, आप ज्यादा भी भुगतान कर सकते हैं; आप जितना भुगतान करेंगे, आपका मॉर्गेज साइज प्रभावित होगा।

इससे जुड़ी बातें: होम इक्विटी लोन या 'सेकंड मॉर्गेज’ डिमिस्टिफाइड

उपयुक्त ईएमआइ

आपका मॉर्गेज आपके ईएमआइ पर टिका होगा। विभिन्न लोन राशियों के लिए ईएमआइ और ब्याज दरों की जांच के लिए होम लोन कैलकुलेटर का इस्तेमाल करें, जो आपकी चुनी हुई प्रॉपर्टी के मूल्य के समान होता है।

अब अपनी मासिक आय और व्ययों का अध्ययन करें; इसमें मौजूदा किराया, यदि आप कोई देते हों, शामिल होगा। महीने भर के लिए अपने बकायों का भुगतान करने ए बाद आप जो भी बचत करते हैं, वह आपके ईएमआइ से अधिक होनी चाहिए। यदि आप अपनी मासिक बचत को सबसे कम ईएमआइ से कम पाते हैं, तो आपको अपनी जीवन-शैली में बदलाव करने की जरूरत है। अन्यथा, आप एक लंबी अवधि का विकल्प अपनाएं (छोटे ईएमआइ आने के लिए)।

प्रो टिप: कर्जदाता चाहता है कि लोन ईएमआइ उधारकर्ता की नेट सैलरी के 30% (करों और देय राशियों के भुगतान के बाद टेक-होम) से ज्यादा न हो। क्या आप इस अलिखित शर्त को पूरा करते हैं?

मौजूदा ईएमआइ

यदि आपके कोई पूर्व के ऋण या कोई बड़ी खरीद हो, तो ये लोन और उनके ईएमआइ भी आपके होम लोन झेलने की क्षमता भी प्रभावित होगी (नीचे उधार-से-आय देखें)। यदि आप कुछ मौजूदा लोन को समाप्त कर सकते हैं, और ज्यादा डाउन पेमेंट करने और होम लोन ईएमआइ को चुकाने के लिए कुछ डिस्पोजेबल कैश की व्यवस्था कर सकते हैं, तो आप अपनी भुगतान क्षमता को बढ़ा सकते हैं। यहां भी जीवन-शैली में बदलाव आवश्यक हो सकता है।

इससे जुड़ी बातें: यदि आपका स्टूडेंट लोन मॉर्गेज हासिल करना कठिन बनाता है, तो क्या करें?

उधार और आय

बैंक होम लोन को चुकाने की आपकी क्षमता की गणना करने के दौरान सकल आय को ध्यान में नहीं रखते हैं; कर चुकाने के बाद और अन्य कटौतियों के बाद आपका टेक-होम पे से ही होम लोन चुकाने की क्षमता का संकेत मिलता है। 

इसलिए, बैंक आपके डेट-टू-इनकम (डीटीआइ) से आपकी भुगतान क्षमता का आकलन करने का प्रयास करते हैं; यह आपकी आमदनी का आकलन होता है, जिसका इस्तेमाल उधार चुकाने और सर्विसिंग के लिए किया जाता है। एक निम्न अनुपात किसी कर्ज को चुकाने की क्षमता (यानी कर्ज लेने की आपकी योग्यता) को दर्शाता है और आश्वासन देता है कि आप वित्तीय रूप से आरामदायक स्थिति में हैं। उच्च अनुपात नए ईएमआइ के भुगतान की संभावित अक्षमता का संकेत करता है।

ज्यादातर कर्जदाताओं के लिए, 40% का डीटीआइ होम समेत अन्य ऋण आवंटन के लिए सीमा रेखा होता है।

क्रेडिट स्कोर

डीटीआइ आपके क्रेडिट स्कोर और क्रेडिट रेटिंग को भी प्रभावित करता है, जो आपके पिछले ऋणों और अदायगी इतिहास पर आधारित होता है। उच्चतर क्रेडिट रेटिंग लोन मंजूरी को तीव्र बनाता है। गौरतलब है कि पूर्व में किसी लोन आवेदन के खारिज होने से आपका क्रेडिट स्कोर को नुकसान पहुंचता है।

कोलैटरल/सिक्योरिटी

बैंकों के लिए एक सुरक्षित ऋण, एक असुरक्षित ऋण से कम जोखिम भरा होता है। इसलिए यदि आप भूमि या सोने जैसी चीजों का कोलैटरल प्रदान कर सकते हैं, जिनका इस्तेमाल सिक्योरिटी के रूप में किया जा सकता है, तो यह अधिक ऋण राशि पाने की आपकी संभावना को बढ़ाएगा।

इससे जुड़ी बातें: प्रॉपर्टी के एवज में लोन क्या है?

अंतिम शब्द

ऊपर के सभी बिंदुओं की चर्चा इस आधार पर की जाती है कि आपके पास एक स्थाई नौकरी है। बैंक अनियमित की बजाए एक स्थाई आमदनी देखना चाहते हैं, भले ही अनियमित आमदनी का वार्षिक मान ज्यादा ही क्यों न हो।

आपकी उम्र भी मायने रखती है। आपके सामने जितने कार्य वर्ष बचे होते हैं, उच्च ऋण राशि पाने और तीव्र मंजूरी हासिल करने की आपकी संभावना अधिक हो जाती है। अपने ईएमआइ की सभी पहलु जानें। क्या आप उससे ज्यादा भुगतान कर रहे हैं, जितना कि आपको करना चाहिए?

संबंधित लेख