महिलाओं को डेब्ट फंड में निवेश क्यों करना चाहिए

महिलाओं के लिए अभी रूढ़िवादी निवेशक बनने की बजाय , अधिक आत्मविश्वासी दृष्टिकोण की तरफ रुख करने का समय है । यहां बताया गया है कि डेब्ट फंड आपको अपने लघु और दीर्घकालिक वित्तीय लक्ष्यों को प्राप्त करने में कैसे मदद कर सकते हैं।

महिलाओं को डेब्ट फंड में निवेश क्यों करना चाहिए

यह एक लंबे समय से मानी जा रही धारणा है कि पुरुष महिलाओं की तुलना में अधिक आक्रामक निवेशक है और जब दांव पर अधिक रिटर्न  हो,तो उनमे अधिक जोखिम लेने की संभावना होती है । दुनिया भर में किए गए शोध में विभिन्न कारणों से इसे काफी हद तक सच पाया गया है ।

सबसे पहले, महिलाओं को हमेशा औसतन कम मजदूरी दी जाती है,जिससे उनके पास निवेश करने के लिए तुलनात्मक रूप से कम पैसे रह जाते है । दूसरा, अध्ययनों से पता चलता है कि एक महिला की प्राकृतिक मातृ वृत्ति के परिणामस्वरूप वे एक सतर्क निवेशक होते हैं । यह भी ध्यान रखना जरूरी है कि पुरुषों की तुलना में महिलाओं में आमतौर पर वित्तीय साक्षरता कम होती है। इसके अतिरिक्त, भारतीय संदर्भ में, परिवार के पुरुष ही वो सदस्य होता है ,जो पारंपरिक रूप से निवेश के मामलों को संभालता है।

हालांकि, समय बदल रहा है । अधिक से अधिक महिलाओं के कॉर्पोरेट क्षेत्र में मध्यम और वरिष्ठ प्रबंधन के पदों पर आसीन होने के साथ-साथ सफल उद्यमी बनने के कारण, वे निवेश के बेहतर अवसरों की तलाश में हैं । इसके अलावा, पुरुषों की तुलना में लंबे समय तक जीने के कारण महिलाओं के खर्च समय की अवधि भी अधिक होने की संभावना है, इसलिए अधिक रणनीतिक निवेश की आवश्यकता है जो उच्च रिटर्न देती है।

महिलाएं पारंपरिक साधनों जैसे सोना, चांदी, फिक्स्ड डिपॉजिट (एफडी), आवर्ती जमा (आरडीएस) आदि में ज्यादा निवेश करती हैं। हालांकि इनमे स्थिर रिटर्न का लाभ है, पर इनमे निवेश पर रिटर्न (आर.ओ.आई.) शेयर बाजार और म्यूचुअल फंड जैसे जोखिम भरे विकल्पों की तुलना में काफी कम है।

यदि आप अपेक्षाकृत कम जोखिम भरे निवेश विकल्प की तलाश कर रहे हैं जो अभी भी आपको एफडी की तुलना में अधिक रिटर्न देता हो, तो आपको निश्चित रूप से डेब्ट म्यूचुअल फंड पर विचार करना चाहिए। इक्विटी म्यूचुअल फंड की तुलना में ये निवेश के सुरक्षित विकल्प हैं। डेब्ट फंड आमतौर पर कॉर्पोरेट बॉन्ड, सरकारी प्रतिभूतियों, ट्रेजरी बिल और वाणिज्यिक कागजात जैसे मुद्रा बाजार इंस्ट्रूमेंट में निवेश करते हैं। डेब्ट फंड का फंड मैनेजर कई तरह की प्रतिभूतियों में निवेश करेगा,उनकी संबंधित क्रेडिट रेटिंग के आधार पर  - जो निवेश की सुदृढ़ता का संकेत होता है ।

यहां 5 कारण दिए गए हैं जो बताते हैं कि डेब्ट फंड आपके लिए एक ठोस निवेश विकल्प क्यों हैं:

1. बेहतर रिटर्न

जब आर.ओ.आई. की बात आती है तो डेब्ट म्यूचुअल फंड्स आपको इक्विटी म्यूचुअल फंड्स कि तुलना में ज्यादा रिटर्न नहीं दे सकते होंगे, लेकिन अगर आपने अपना पैसा एफडी में डाला है तो आपको उसके मुकाबले इसमें बेहतर रिटर्न की दर मिल सकती है । इसलिए, सबसे अच्छा डेब्ट फंड श्रेष्ठ जोखिम और रिटर्न का एक अच्छा संयोजन होता है । 

2. निवेश स्थिरता

इससे पहले कि आप अपने पैसे को डेब्ट म्यूचुअल फंड में डालें, आप पॉलिसी स्कीम के कागज़ात में सभी प्रासंगिक जानकारी अच्छे से पढ़ें , जिसमें एक सुझाई गई परिपक्वता तिथि और ब्याज दर शामिल है जो बाजार के उतार-चढ़ाव से काफी हद तक अप्रभावित होगी  । 

3. चयन करने की स्वतंत्रता

जब आप डेब्ट म्यूचुअल फंड में निवेश करते हैं, तो आपको अपने वित्तीय लक्ष्यों और निवेश क्षितिज के अनुसार निवेश की अवधि चुनने की छूट होती है। डेब्ट फंड की अवधि 1 दिन (केवल रातभर के लिए फंड) से लेकर 7 + वर्ष (आमतौर पर लंबी अवधि के फंड के रूप में जाना जाता है) तक होता है।

4. आयकर लाभ

यदि आप 3 साल से कम समय के लिए किसी योजना में इकाइयों को रखते हैं, तो आपके रिटर्न को अल्पकालिक पूंजीगत लाभ के रूप में वर्गीकृत किया जाता है और आप पर कर  इसी के आयकर स्लैब के तहत लागू होता है। हालांकि, यदि आपने अपने पैसे को 3 साल से अधिक समय तक फंड में रखा है, तो आपके रिटर्न को दीर्घकालिक पूंजीगत लाभ के रूप में वर्गीकृत किया जाता है, और इंडेक्सेशन लाभों के साथ 20% की दर पर कर लगाया जाता है। 

5. आसान तरलता

चूंकि आप चुन सकते हैं कि आप अपने पैसे को डेब्ट फंड में कितनी दिन तक निवेश करना चाहते हैं, इसलिए यह आपको पहले से आवश्यक तरलता की रणनीति बनाने की अनुमति देता है। हालांकि, आपात स्थिति में, आप हमेशा इस योजना से अपना पैसा निकाल सकते हैं, और आप इसे दो कार्य दिवसों के भीतर अपने बैंक खाते में प्राप्त करेंगे। 

अब जब आप जानते हैं कि आपके लिए डेब्ट म्यूचुअल फंड में निवेश करना कितना सरल और लाभदायक है, तो यह समय है कि आप उपलब्ध सर्वोत्तम फंडों पर शोध करें और विश्वास कर के बस कूद जाएं! यह लेख आपको शुरुआत करने के लिए सभी आवश्यक जानकारी देता है ।

डिस्क्लेमर : यह लेख केवल सामान्य जानकारी उद्देश्यों के लिए है और इसे निवेश या कर या कानूनी सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। इन क्षेत्रों में निर्णय लेते समय आपको अलग से स्वतंत्र सलाह प्राप्त करनी चाहिए ।

संबंधित लेख