Meta Layoff: Meta is likely to fire 6,000 more employees next week says Report in hindi

मेटा में छटनी का दौर खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। खबर है कि कंपनी अगले हफ्ते 6 हजार लोगों को नौकरी से बाहर कर सकती है।

Meta Layoff

Meta Layoff: फेसबुक-इंस्टाग्राम की पेरेंट कंपनी मेटा में छटनी का दौर खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। खबर है कि कंपनी अगले हफ्ते 6 हजार लोगों को नौकरी से बाहर कर सकती है। मेटा ग्लोबल अफेयर्स प्रेसिडेंट निक क्लेग ने कर्मचारियों को एक मीटिंग के दौरान इसके बारे में सूचित किया है। मेटा के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने हाल ही में घोषणा की कि छंटनी का अगला दौर मई 2023 में आयोजित किया जाएगा। उसी के बारे में अब आधिकारिक घोषणा की जानी है।

कहा जा रहा है कि अगले सप्ताह करीब 6,000 कर्मचारियों को मेटा से निकाल दिया जाएगा। इससे पहले कंपनी ने नवंबर में 11,000 कर्मचारियों को बर्खास्त किया और मार्च 2023 में 10,000 नौकरियों में कटौती की घोषणा की थी। फेसबुक की पेरेंट कंपनी मेटा ने 4,000 कर्मचारियों को हटा दिया है, जिसका मतलब है कि लिस्ट में 6,000 और लोग बचे हैं जिन्हें मई में छोड़ने के लिए कहा जाएगा।

क्लेग ने कहा- यह बहुत चिंता और अनिश्चितता का समय है। काश मेरे पास सांत्वना देने का कोई आसान तरीका होता। छटनी की तीसरी लहर आने वाली है और ये सभी टीमों को प्रभावित करेगी। मीडिया सूत्रों के मुताबिक मेटा के वरिष्ठ अधिकारी जल्द ही कर्मचारियों को एक नोट भेजेंगे, जिसमें उन्हें सूचित किया जाएगा कि छंटनी की प्रक्रिया कब शुरू होगी और छंटनी से कौन सी टीमें प्रभावित होंगी। रिपोर्ट के अनुसार, इससे प्रभावित होने वाले कर्मचारियों को इसके लिए एक ईमेल मिलेगा।

मेटा के कार्यकारी ने कर्मचारियों के कुछ सवालों के जवाब भी दिए और अधिकांश लोगों द्वारा पूछे गए शीर्ष प्रश्नों में से एक यह है कि क्या भविष्य में छंटनी होगी। मेटा के सीटीओ एंड्रयू बोसवर्थ ने कहा कि हमारे पास कुछ भी योजना नहीं है। एक कंपनी के रूप में हमने लंबे समय तक जो किया है उसे जारी रखने और आगे बढ़ने और निर्माण करने और बढ़ने की योजना है। मैं आपको यह नहीं बता सकता कि क्या रेवेन्यू टैंक और इकनॉमिक टैंक या लागत किसी कारण से बढ़ती है या किसी और प्रकार की चीजें होती है। मैं भविष्य नहीं जान सकता।

कंपनी ने पिछले हटाए गए कर्मचारियों को मुआवजा दिया है और नए लोगों के लिए भी ऐसा ही करने की उम्मीद है। लेकिन मेटा इतने सारे लोगों को क्यों निकाल रहा है? टेक कंपनी के सीईओ मार्क जुकरबर्ग पहले छंटनी के कई कारण बता चुके हैं। एक है आर्थिक मंदी और धीमी वृद्धि जो मेटा देख रही है। इस वजह से कंपनी की रेवेन्यू ग्रोथ कम रही है।

संवादपत्र

संबंधित लेख