क्या आप इन सेक्टर में निवेश कर रहे हैं? धातु, आईटी, रियल्टी, बैंकिंग

इस लेख में पिछले एक साल में अलग अलग सेक्टर के प्रदर्शन का विश्लेषण किया गया। साथ ही इस लेख से यह भी पता कर सकते हैं कि धातु और आईटी सूचकांकों ने बाकी सूचकांक के मुकाबले क्यों बेहतर प्रदर्शन किया है।

इन सेक्टर में निवेश करें और दूसरों से आगे रहें

2020 की पहली छमाही में कोविड-19 के कारण बाजार में बड़ी गिरावट आई थी। लेकिन, 2020 की दूसरी छमाही में समग्र बाजार में जोरदार उछाल देखा गया। 2021 में तो बाजार ने 2020 के सभी नुकसानों की भरपाई की और नई नई ऊंचाई बना रहा है। समग्र बाजार 2021 में तो अच्छा प्रदर्शन कर रहा है, लेकिन अलग अलग सेक्टर कैसा प्रदर्शन कर रहे हैं, यह भी जानना जरूरी है।

अगर आपने पिछले एक साल में व्यापक मार्केट सूचकांक निवेश किया होता तो आपको अच्छा रिटर्न मिलता। हालांकि, यदि आपने खास खास सेक्टर जैसे धातु, आईटी, आदि में निवेश किया है, तो आपको और ज्यादा लाभ हुआ होगा। इस लेख में पिछले एक साल में अलग अलग सेक्टर के प्रदर्शन का विश्लेषण किया गया है। साथ ही यह भी बताया गया है कि किस सेक्टर ने निवेशकों के लिए धन बनाया है। यहां हम यह भी समझेंगे कि क्या उन सेक्टर में भविष्य में भी बेहतर प्रदर्शन जारी रहने की संभावना है।

सेक्टोरल सूचकांकों का एक साल का प्रदर्शन

आइए हम विश्लेषण करते हैं कि पिछले एक साल में विभिन्न निफ्टी इंडेक्स ने रिटर्न के मामले में कैसा प्रदर्शन किया है।

तालिका: सेक्टोरल सूचकांकों का एक वर्ष का प्रदर्शन

सेक्टोरल सूचकांकों का एक वर्ष का प्रदर्शन

उपरोक्त तालिका से पता चलता है कि धातु, आईटी और रियल्टी सूचकांक शीर्ष तीन सबसे बेहतर प्रदर्शन करने वाले रहे हैं। इन तीन सेक्टरों के अलावा फाइनेंशियल ने भी अच्छा प्रदर्शन किया है। अगले चार सूचकांक सभी फाइनेंशियल से संबंधित हैं।.

संबंधितकोविड-19 के बाद: कौन से सेक्टर संघर्ष करेंगे, जो नहीं करेंगे

 

आइए शीर्ष दो सूचकांकों के बेहतर प्रदर्शन पर चर्चा करें। 

निफ्टी धातु सूचकांक

मेटल इंडेक्स पिछले एक साल में सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाला सेक्टोरल इंडेक्स रहा है, जिसने 116% का रिटर्न दिया है। धातु सूचकांक का हिस्सा रहे कमोडिटी कंपनियों के शेयरों ने धातुओं की मजबूत वैश्विक मांग के कारण अच्छा प्रदर्शन किया।

दुनिया भर में आर्थिक गतिविधियों में तेजी, सरकारों द्वारा घोषित प्रोत्साहन पैकेज, केंद्रीय बैंकों द्वारा जारी नकदी, चीन द्वारा की गई डीकार्बोनाइजेशन पहल आदि के कारण धातुओं की मांग बढ़ी है। जिस हिसाब से धातुओं की मांग बढ़ी है, उस हिसाब से आपूर्ति नहीं हो पा रही है, जिसके परिणामस्वरूप धातु की कीमतें बढ़ रही हैं।

विभिन्न धातुओं जैसे स्टील, तांबा, एल्युमीनियम, जस्ता, कोयला आदि की कीमतें कई वर्षों के उच्च स्तर पर कारोबार कर रही हैं। नतीजतन, सूचीबद्ध धातु कंपनियों को लाभ हुआ है, जिससे धातु सूचकांक ऊपर जा रहा है और पिछले एक साल में सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाला सूचकांक बन गया है।

निफ्टी आईटी सूचकांक 

निफ्टी आईटी सूचकांक 89% रिटर्न के साथ पिछले एक साल में दूसरा सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाला सेक्टोरल सूचकांक है। कोविड-19 लॉकडाउन के कारण आईटी सेवाओं की मांग काफी बढ़ गई है। लोग घर से काम कर रहे हैं, घर से खरीदारी कर रहे हैं, घर से विभिन्न सेवाओं का लाभ उठा रहे हैं। और इन सभी गतिविधियों में आईटी की बड़ी भूमिका है।

आईटी सेवाओं की मांग बढ़ने के साथ, सूचीबद्ध आईटी कंपनियों ने अच्छे वित्तीय परिणाम, बड़े ऑर्डर मिलने और भविष्य के लिए मजबूत करार पाइपलाइन की घोषणा की है। नतीजतन, आईटी कंपनियों के शेयरों में तेजी आई है, जिससे आईटी सूचकांक दूसरा सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाला सेक्टोरल सूचकांक बन गया है।

सेक्टोरेल सूचकांकों का एक महीने का प्रदर्शन

उपरोक्त खंड में, हमने विभिन्न निफ्टी सूचकांकों का एक साल का प्रदर्शन देखा। इसके बाद, आइए इन निफ्टी इंडेक्स के पिछले एक महीने के प्रदर्शन को देखें।

तालिका: क्षेत्रीय सूचकांकों का एक महीने का प्रदर्शन 

क्षेत्रीय सूचकांकों का एक महीने का प्रदर्शन

जैसा कि पिछले एक महीने में देखा गया है, आईटी सेक्टर शीर्ष प्रदर्शन करने वाला रहा है। धातु सेक्टर मुश्किल से सकारात्मक रिटर्न देने में कामयाब रहा, जबकि रियल्टी इंडेक्स में 5% की गिरावट आई।

संबंधित: सेक्टोरेल और विषयगत फंड क्या हैं और आपको किसमें पैसे लगाना चाहिए?

क्या धातु और आईटी सेक्टर का प्रदर्शन बेहतर रहेगा?

इस बात की बहुत संभावना है कि धातु और आईटी सेक्टर भविष्य में भी अच्छा प्रदर्शन करते रहेंगे। धातुओं के लिए मांग-आपूर्ति बेमेल बने रहने की संभावना है, जिससे धातु की कीमतें अधिक बनी रहेंगी। धातु की ऊंची कीमतों से सूचीबद्ध धातु कंपनियों को अधिक मुनाफा होगा, जिससे उनके शेयर की कीमतों को फायदा होगा।

आईटी कंपनियों ने पिछले एक साल में पिछले कई सालों में सबसे ज्यादा सौदों की घोषणा की है। उन्होंने भविष्य में इस तरह के और नए सौदों के लिए एक मजबूत ऑर्डर पाइपलाइन की भी घोषणा की है। इसलिए, आईटी क्षेत्र के भी भविष्य में अच्छा प्रदर्शन जारी रखने की उम्मीद है।

आप सेक्टोरेल सूचकांकों के बेहतर प्रदर्शन से कैसे लाभ उठा सकते हैं?

एक खुदरा निवेशक के रूप में, आप सेक्टोरल म्युचुअल फंड योजनाओं में निवेश करके सेक्टोरल इंडेक्स के बेहतर प्रदर्शन से लाभ उठा सकते हैं। शीर्ष आईटी और कमोडिटी सेक्टोरल म्युचुअल फंड योजनाएं निम्नलिखित हैं।

शीर्ष आईटी और कमोडिटी सेक्टोरल म्युचुअल फंडशीर्ष आईटी और कमोडिटी सेक्टोरल म्युचुअल फंड

नोट: उपरोक्त रिटर्न 25 अगस्त 2021 तक के हैं। रिटर्न ग्रोथ विकल्प के साथ डायरेक्ट प्लान के लिए हैं। फंड के एक साल के रिटर्न के आधार पर ये सूची तैयार की गई है। 

तो, अगर आईटी इंडेक्स (89%) और मेटल इंडेक्स (116%) ने पिछले एक साल में उच्च रिटर्न दिया है, तो सेक्टोरल म्युचुअल फंड का रिटर्न उनके साथ मेल क्यों नहीं खा रहा है? इस प्रश्न का उत्तर देने के लिए, आपको यह समझना होगा कि उपरोक्त सभी सक्रिय फंड हैं। फंड मैनेजर सेक्टोरेल सूचकांक के शेयरों में उसके वेटेज के हिसाब से निवेश करने को बाध्य नहीं हैं। इस वजह से, सेक्टोरल सूचकांक रिटर्न और सेक्टोरल म्युचुअल फंड रिटर्न के बीच एक बड़ा अंतर है।

Related: महामारी के दौरान भी SIP में निवेशित रहने के 4 कारण

 

संपत्ति आवंटन बहुत जरूरी है

पिछले एक साल में आईटी और मेटल सूचकांक ने शानदार रिटर्न दिया है। वे भविष्य में भी अच्छा रिटर्न देना जारी रख सकते हैं। हालाँकि, आपको सेक्टोरल फंडों में बहुत अधिक निवेश नहीं करना चाहिए क्योंकि वे प्रकृति में चक्रीय होते हैं। सेक्टोरल फंड आपके समग्र इक्विटी संपत्ति आवंटन का एक छोटा सा हिस्सा हो सकता है, लेकिन प्रमुख निवेश व्यापक, विविध इक्विटी म्युचुअल फंड में होना चाहिए। 

संपत्ति आवंटन प्रत्येक निवेश पोर्टफोलियो का मूल क्यों होना चाहिए?

अस्वीकरण: यह लेख केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है और इसे बीमा या निवेश या कर या कानूनी सलाह के रूप में नहीं माना जाना चाहिए। इन क्षेत्रों में निर्णय लेते समय आपको अलग से स्वतंत्र सलाह लेनी चाहिए।

 

 

संवादपत्र

संबंधित लेख