TomorrowMakers

एक स्मार्ट ट्रेवलर जानता है कि उसे यात्रा के समय कौनसी जरूरी चीजें अपने साथ रखनी चाहिए। इन चीजों से उसकी यात्रा ज्यादा मजेदार, सुरक्षित और तनाव रहित बन जाती है।

Necessary things for a frequent traveller

माइकल पालिन की यह टिप्पणी बहुत मशहूर है, ‘जब एक बार घूमने का कीड़ा काट ले तो उसकी कोई दवा नहीं है, और मैं जानता हूँ कि मैं जिंदगी के आखिरी पलों तक इस के साथ खुशी से जी लूंगा।’  यह कथन एक ट्रेवलर की भावनाओं को सही तरह से व्यक्त करता है। एक सच्चे ट्रेवलर को जीने का मजा घूमने में ही आता है। वह हमेशा नई जगहों को देखना और उनकी खूबसूरती को निहारना चाहता है। दुनिया के पर्यटन बाजार में भारतीयों का हिस्सा लगातार बढ़ रहा है। आज लगभग 1.4 करोड़ भारतीय अलग-अलग वजहों से हर साल विदेश यात्रा पर जा रहे हैं। 

तो अगर आपको भी घूमने का शौक है और आप अक्सर घूमते हैं तो यहां कुछ बातें बताई गयीं हैं जिनके इस्तेमाल से आपका सफर बेहतर बन सकता है। 

1. यात्रा बीमा :  यात्रा बीमा लेने से आप घूमने के दौरान सामान खोने या चोरी होने, यात्रा या फ्लाइट रद्द होने, अचानक आई मेडिकल इमरजेंसी और उससे जुड़े खर्चों जैसे कई जोखिमों से बच सकते हैं। आजकल बीमा कंपनियां बहुत तरह की यात्रा बीमा पॉलिसियां लेकर आई हैं। आप अपनी जरूरत के हिसाब से बीमा पॉलिसी चुन सकते हैं। बीमा लेने से पहले ऑनलाइन इनकी जांच पड़ताल जरूर कर लें। इससे आपको विभिन्न बीमा पॉलिसियों के बीच तुलना करके जरूरत के हिसाब से सही पॉलिसी चुनने में मदद मिलेगी। 

2. जरूरी दस्तावेजों का ई-बैकअप: इस बात का हमेशा ध्यान रखें कि यात्रा के जरूरी दस्तावेज जैसे  पासपोर्ट, वीजा, पहचान पत्र आदि की स्कैन कॉपी हमेशा आपके पास हो जिससे जरूरत के वक्त इनका तुरंत इस्तेमाल किया जा सके। जरूरत पड़ने पर आसानी से इस्तेमाल करने के लिए आप इन्हें फ्लैश ड्राइव या क्लाउड सॉफ्टवेयर पर स्टोर कर सकते हैं। इसके होने से आपके पहचान पत्र या दस्तावेजों के खो जाने पर उन्हें फिर से बनवाने में मदद मिलती है। इससे होटल चैक-इन, लोकल ट्रांसफर ( बस/ ट्रेन)  की बुकिंग आदि करने में भी मदद मिलती है। उदाहरण के लिए पासबुक जैसे एप्स आपके बोर्डिंग पास, टिकट आदि को एक साथ जमा करके रखने में मदद करते हैं। 

3. ट्रेवल एप्स: घूमने के लिए अब आपको भारी-भरकम नक्शों को साथ रखने और स्थानीय गाइडों ( जो अक्सर गै़रभरोसेमंद होते हैं) और टूर ऑपरेटरों  के सहारे की जरूरत नहीं है। अब स्काईस्कैनर और मेकमाईट्रिप जैसे ढ़ेरों एप्स हैं जो घूमने में आपकी हर तरह से सहायता करेंगे। इनकी सहायता से आप हवाई टिकट बुक करने से लेकर होटल और लोकल ट्रांसपोर्ट बुक करने सहित बहुत से काम कर सकते हैं। 

4. दवाईयां / फर्स्ट एड:  आपको नहीं पता कि कब कोई इमरजेंसी की स्थिति सामने आ जाए तो उसके लिए पहले से तैयार होकर जाना सही रहता है। कुछ जरुरी दवाईयां जैसे दर्द निवारक, खांसी , जुकाम और बुखार की दवाईयां, बैंड-एड और एंटीसेप्टिक जैसी चीजें हमेशा अपने साथ रखें। ये दवाईयां पास होने से किसी नए शहर में देर रात जरूरत पड़ने पर आपको  मेडिकल स्टोर ढूंढने की चिंता नहीं करनी होगी।

5. पावर बैंक/ चार्जर: आज की दुनिया में चौबीसों घंटे जुड़े रहना जरूरी हो गया है इसलिए अपने साथ पॉवर बैंक और चार्जर आदि जरूर रखें। इसके साथ ही विदेश यात्रा के समय ट्रेवल प्लग भी अपने साथ रखें। कुछ देशों में फ्लैट पिन सॉकेट होते हैं जिनमें आपका सामान्य प्लग नहीं लगेगा। इसलिए जाने से पहले पता कर लें कि उस देश में किस तरह का प्लग चलता है और उसके लिए सही कनेक्टर साथ लेकर जाएं, जिससे आपको मोबाइल फोन और दूसरी चीजों को चार्ज करने में कोई परेशानी ना हो। 

6. क्रेडिट कार्ड्स: कुछ लोगों के लिए क्रेडिट कार्ड परेशानी का कारण हो सकते हैं लेकिन स्मार्ट ट्रेवलर समझदारी से क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं। उन पर मिलने वाले क्रेडिट पॉइन्ट का इस्तेमाल करके हवाई टिकट से लेकर होटल बुकिंग तक में छूट पाई जा सकती है क्योंकि अधिकतर बैंकों का होटल और एयरलाइन कंपनियों के साथ समझौता होता है। ऐसे कार्ड का चुनाव करें जिसमें ज्यादा फायदे और ऑफर्स मिलते हों। आप इन ऑफर्स का इस्तेमाल करके काफी पैसे बचा सकते हैं। 

7. फ्रीकवेंट फ्लायर प्रोग्राम: अगर आप अक्सर हवाई यात्रा करते हैं तो हवाई कंपनियों के फ्रीकवेंट फ्लायर  प्रोग्राम से जुड़ सकते हैं। इसके इस्तेमाल से छुट्टियों पर जाते समय आप सस्ते हवाई टिकट का फायदा उठा सकते हैं। कहीं जाने से पहले उस जगह पर घूमने या खाने से  जुड़े डिस्काउंट कूपन के बारे में पता करने के लिए  बेवसाइट्स जरूर देख लें। इससे आपको खर्च कम रखने में मदद मिलेगी। 

8. वीजा : वीजा लेने के लिए कागजी कार्यवाही और उसकी प्रक्रियाओं को निपटाना विदेश यात्रा से जुड़ा सबसे कम पंसदीदा लेकिन सबसे जरूरी काम  है। अगर आप अक्सर विदेश यात्रा करते हैं तो किसी देश के वीजा का आवेदन करने से पहले उसकी प्रक्रिया के बारे में जरुर पता कर लें क्योंकि इससे जुड़े नियमों में बदलाव होता रहता है। यात्रा के समय से काफी पहले ही वीजा लेने की प्रक्रिया शुरू कर दें क्योंकि कुछ   दूतावास वीजा देने में काफी समय लगाते हैं । किसी - किसी देश के लिए आपको अतिरिक्त फॉर्म भरने के साथ  इंटरव्यू भी देना   पड़ सकता है। 

इनके अलावा कुछ दूसरी चीजें भी हैं जो आपकी यात्रा को आरामदायक बना सकती हैं जैसे नॉइज़-कैंसिलेशन इयरफोन, ई-रीडर, और इंस्टेंट फूड ( ग्रेनोला बार्स, ओटमील, इंस्टेंट सूप ) आदि । इंस्टेंट फूड अचानक लगी भूख को मिटाने के साथ बेवजह के खर्च को कम करने में भी मदद करता है। 

तो  आप चाहे बिजनेस ट्रिप पर जा रहे हों या मौज-मस्ती के लिए, अपनी यात्रा को आरामदायक बनाने के लिए ऊपर लिखी बातों का ध्यान जरूर रखें। 
क्रेडिट कार्ड्स का दूसरा फायदा यह है कि यात्रा के दौरान किसी तरह की इमरजेंसी की स्थिति होने और अचानक पैसों की जरूरत पड़ने पर  यह बहुत काम आ सकता है।  विशेषज्ञ कहते हैं कि विदेश यात्रा पर जाने से पहले अपने बैंक को इस बारे में सूचित कर दें जिससे विदेश में कार्ड से लेनदेन करने पर उस लेनदेन के अस्वीकार होने की संभावना ना रहे। विदेश में कार्ड के इस्तेमाल पर बैंक द्वारा लगाये जाने वाले शुल्क के बारे में भी पता कर लें। इन बातों की जानकारी होने पर आप सही क्रेडिट कार्ड का चुनाव कर सकते हैं। कुछ बैंकों के पार्टनर नेटवर्क भी होते हैं जो ग्राहकों को बिना किसी शुल्क के विदेशों में अपने नेटवर्क वाले एटीएम इस्तेमाल करने की सुविधा देते हैं।  

संबंधित लेख