ऑनलाइन ई.पी.एफ. ट्रांसफर| एक कदम-दर-कदम मार्गदर्शिका

नौकरी बदलते समय आप अपना ई.पी.एफ. खाता ट्रांसफर कर सकते हैं - और करना ही चाहिए। ट्रांसफर प्रक्रिया आरंभ करने से पहले आपको क्या तैयार रखना चाहिए,यह जानें ।

ऑनलाइन ई.पी.एफ. ट्रांसफर| एक कदम-दर-कदम मार्गदर्शिका

कर्मचारी भविष्य निधि और विविध प्रावधान अधिनियम, 1952 में कहा गया है कि कंपनियों और कर्मचारियों को कर्मचारी के भविष्य निधि में कर्मचारी के वेतन (मूल वेतन में महंगाई भत्ता जोड़कर) का 12% योगदान करना चाहिए। संचित राशि कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (इ.पी.एफ.ओ.) द्वारा निर्धारित एक निश्चित ब्याज अर्जित करती है।

नौकरियाँ बदलते वक़्त, नए नियोक्ता के पास अपना ई.पी.एफ. खाता भी ट्रांसफर करना जरूरी है। ई.पी.एफ.ओ. ने इस ट्रांसफर को निर्विघ्न बनाने के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों प्रावधान किए हैं। यह दो अलग-अलग खातों में जमा शेष राशि से समग्र कर देयता को कम करने के लिए किया जाता है। भले ही आपके नौकरी छोड़ने के बाद ई.पी.एफ. खाता निष्क्रिय हो जाते हैं, पर शेष राशि पर अर्जित ब्याज कर योग्य हो जाती है।

अपने पी.एफ. बैलेंस पर कर छूट का आनंद लेने के लिए, यहां बताया गया है कि आपको क्या करना चाहिए:

पात्रता की शर्तों की जाँच करना

एक नए नियोक्ता को ई.पी.एफ. ट्रांसफर करने के लिए, एक व्यक्ति को दिशानिर्देशों के समूह का पूरा पालन करना होगा। निम्नलिखित चरणों को पूरा करने से आप निर्विघ्न ऑनलाइन ट्रांसफर कर पाएंगे ।

  • एक ई.पी.एफ. खाता धारक के पास एक सक्रिय यू.ए.एन. (यूनिवर्सल अकाउंट नंबर) होना चाहिए। एक निष्क्रिय नंबर को सक्रिय करने के लिए, ई.पी.एफ. पोर्टल पर लॉग ऑन करें।
  • व्यक्तिगत विवरण जैसे बैंक खाता संख्या, बैंक का आई.एफ.एस.सी. और आधार विवरण पोर्टल पर सत्यापित किए जाने चाहिए। इसके बाद, ट्रांसफर प्रक्रिया को पूरा करने के लिए इसे नियोक्ता और यू.आई.डी.ए.आई. द्वारा डिजिटल रूप से सत्यापित किया जाना चाहिए। सदस्य के सेवा पोर्टल के 'मैनेज ' टैब के तहत आप इसके पूरा होने की स्थिति की जाँच कर सकते हैं। आपका नियोक्ता बैंक खाते के विवरण को मंजूरी देगा, जबकि आधार को यू.ए.एन. खाते से लिंक किया जाएगा।
  • फॉर्म में जॉब में शामिल होने और जॉब से बाहर निकलने की तारीख स्पष्ट रूप से बताई जानी चाहिए।
  • ऑनलाइन प्रक्रिया पूरी करने के बाद, आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक ओ.टी.पी. भेजा जाएगा। सुनिश्चित करें कि नंबर सक्रिय है ताकि एस.एम.एस. आप तक पहुंचाया जा सके।
  • आप एक सदस्य आई.डी. से केवल एक ट्रांसफर अनुरोध कर सकते हैं। सफल ई.पी.एफ. ट्रांसफर के लिए ई.पी.एफ.ओ. में जमा करने से पहले ऑनलाइन फॉर्म को दोबारा जांच लें।

ई.पी.एफ. खाते को ऑनलाइन ट्रांसफर करते समय, केवल एक नियोक्ता को आपके फॉर्म को सत्यापित करने का अधिकार है। यह या तो पिछले नियोक्ता या नया हो सकता है। ई.पी.एफ. ट्रांसफर को ऑनलाइन पूरा करने के लिए उनके द्वारा पोर्टल पर एक डिजिटल हस्ताक्षर अपलोड किया जाना होगा।

ई.पी.एफ. ऑनलाइन ट्रांसफर करने कि प्रक्रिया

ई.पी.एफ. ऑनलाइन ट्रांसफर करने का अनुरोध करने के लिए, एक कर्मचारी को निम्नलिखित चरणों का पालन करने और पूरा करने की आवश्यकता है:

  • अपने यू.ए.एन. और पासवर्ड का उपयोग करके https://unifiedportal-mem.epfindia.gov.in/memberinterface पर लॉग ऑन करें।
  • 'ऑनलाइन सर्विसेज' अनुभाग में, 'वन ई.पी.एफ. खाता,ट्रांसफर रिक्वेस्ट' पर क्लिक करें।
  • आपके ई.पी.एफ. विवरण के साथ एक वेबपेज पॉप अप होगा। अपने व्यक्तिगत विवरण, बैंक खाता संख्या और वर्तमान ई.पी.एफ. खाते की जांच करें जिन्हें आप ट्रांसफर करना चाहते हैं।
  • अगला, अपना वर्तमान पी.एफ. नंबर (आपकी वेतन पर्ची पर उपलब्ध) प्रदान करें। कभी भी पूछे जाने पर, आवश्यक फ़ील्ड भरने के लिए अपनी सदस्य आई.डी. या यू.ए.एन. को संभाल कर पास में रखें।
  • अपने ऑनलाइन फॉर्म को प्रमाणित करने के लिए अपनी पसंद के नियोक्ता का चयन करें। निर्णय लेने से पहले नियोक्ता की उपलब्धता के बारे में हमेशा एच.आर. से सुनिश्चित करें।
  • यदि आपका यु.ए.एन. दोनों नियोक्ताओं के लिए समान है, तो अपनी सदस्य आई.डी. दर्ज करें। एम.आई.डी. विकल्प पर क्लिक करके एक सदस्य आई.डी. आसानी से उत्पन्न की जा सकती है, और आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक ओ.टी.पी. भेजा जाएगा।
  • ओ.टी.पी. प्राप्त होने के बाद, इसे भरें और ’विवरण प्राप्त करें' पर क्लिक करें। फॉर्म जमा करने से पहले अपने ई.पी.एफ. ट्रांसफर विवरण की जांच करना आवश्यक है।
  • एक बार फॉर्म स्वीकृत हो जाए तो इ.पी.एफ. ट्रांसफर आरंभ करने के लिए नए ई.पी.एफ. खाते का चयन करें।
  • सभी विवरणों को सही से भरकर , ई.पी.एफ.ओ. को अंतिम स्वीकृति के लिए फॉर्म जमा करें।

ऑनलाइन फॉर्म जमा करने पर, एक ट्रैकिंग आई.डी. उत्पन्न हो जाएगी। इसका इस्तेमाल ई.पी.एफ. ट्रांसफर की स्थिति की जांच के लिए किया जा सकता है। अपने भरे हुए फॉर्म का पी.डी.एफ. संस्करण डाउनलोड करें और इसे मैनुअल रिकॉर्ड के रूप में अन्य दस्तावेजों के साथ सुरक्षित रूप से रखें। ऐसा करने से यह सुनिश्चित हो जाएगा कि यदि कभी कोई हार्ड कॉपी की आवश्यकता हो तो आप इसे ई.पी.एफ.ओ. कार्यालय में जमा करा सकते हैं।

ई.पी.एफ. ट्रांसफर के लिए आवश्यक दस्तावेज

प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए, ट्रांसफर प्रक्रिया शुरू करने से पहले निम्नलिखित दस्तावेज तैयार रखें:

  • वैध आई.डी. प्रमाण (आधार, पैन कार्ड, या ड्राइविंग लाइसेंस)
  • संशोधित फॉर्म 13
  • यू.ए.एन.
  • पंजीकृत सिम के साथ मोबाइल फोन
  • वर्तमान नियोक्ता का विवरण
  • बैंक खाता संख्या (वेतन खाता)
  • पुराने और नए पी.एफ. खाते का विवरण

एक निर्विघ्न ई.पी.एफ. ट्रांसफर के लिए अतिरिक्त ध्यान रखने योग्य बिंदुएं

ई.पी.एफ. ट्रांसफर के लिए आवेदन करते समय, एक कर्मचारी को इन बिंदुओं पर विचार करना चाहिए:

  • पंजीकृत मोबाइल नंबर सक्रिय हो
  • यू.ए.एन. पोर्टल पर सक्रिय हो
  • बैंक खाता (वेतन खाता) यू.ए.एन. से जुड़ा हुआ हो
  • यू.ए.एन. की के.वाई.सी. सत्यापित की गई हो
  • फॉर्म को सत्यापित करने के लिए चुने गए नियोक्ता के पास एक पंजीकृत अधिकृत डिजिटल हस्ताक्षर होना चाहिए
  • पुराने और वर्तमान नियोक्ता दोनों का पी.एफ. नंबर ई.पी.एफ.ओ. डेटाबेस पर पंजीकृत होना चाहिए

ई.पी.एफ. ट्रांसफर की स्थिति ऑनलाइन कैसे जांचें?

अपनी ई.पी.एफ. ट्रांसफर की स्थिति की जांच करने के लिए, दिए गए चरणों का पालन करें:

  • इ.पी.एफ.ओ. ​​के मुख पृष्ठ पर जाएं
  • आवश्यक विवरण भरने के बाद कर्मचारी के पेज पर लॉग ऑन करें
  • ’ऑनलाइन सर्विसेज ’ टैब में 'ट्रैक क्लेम स्टेटस ’पर क्लिक करें
  • एक बार लॉग इन करने के बाद, अपने सत्यापन के लिए अपने यू.ए.एन. और अद्वितीय कैप्चा कोड का विवरण डालें
  • स्क्रीन पर, आपको एक सदस्य आई.डी. के लिए स्थान दिखाई देगा; उस खाते का चयन करें जिसकी स्थिति आप जांचना चाहते हैं
  • अपने आवेदन की स्थिति देखने के लिए,'व्यू योर क्लेम स्टेटस ’पर क्लिक करें

एक बार नियोक्ताअपने हिस्से की स्वीकृति को पूरा कर लेता है, तो नियोक्ता द्वारा फॉर्म की स्थिति को 'एप्रूव्ड' में बदल दिया जाता है। प्रक्रिया सरल और पालन करने में आसान है लेकिन थोड़ा समय लेने वाली हो सकती है। आपके आवेदन फॉर्म को जमा करने के बाद स्वीकृत होने में लगभग दो महीने लग सकते हैं, इसलिए धैर्य रखियेगा |