CPI inflation vs Personal inflation: व्यक्तिगत मुद्रास्फीति बनाम CPI मुद्रास्फीति: क्या अंतर है?

अप्रैल 2022 के लिए CPI मुद्रास्फीति की दर 7.79% थी। लेकिन आपके सालाना खर्चे कहीं अधिक दर से बढ़ सकते थे। यहां बताया गया है CPI से तुलना करके अपनी व्‍यक्तिगत मुद्रास्‍फीति की गणना कैसे करें और निवेश करते समय इसका उपयोग कैसे करें।

CPI inflation vs Personal inflation

मुद्रास्फीति वस्तुओं और सेवाओं की कीमतों में साल-दर-साल होने वाली सामान्य वृद्धि है। उदाहरण के लिए, 12 मई 2022 को, सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय (MOSPI) ने अप्रैल 2022 की मुद्रास्फीति की दर जारी की। अप्रैल 2022 के लिए उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (CPI) में 7.79% की वृद्धि हुई। इसका मतलब है कि वस्तुओं और सेवाओं की कीमत (मुद्रास्फीति की दर) साल दर साल औसतन 7.79% बढ़ी है।

क्‍या हमें मुद्रास्फीति के बारे में चिंतित होना चाहिए?

यदि आपके निवेश पर रिटर्न मुद्रास्फीति दर से कम है तो इसका आसान उत्तर 'हां' है। उदाहरण के लिए, अप्रैल 2022 तक, मुद्रास्फीति की दर 7.79% थी और अधिकांश बैंक एक साल के फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट पर प्रति वर्ष लगभग 5% ब्याज का भुगतान कर रहे हैं। इसलिए, यदि आपका पैसा प्रति वर्ष 5% (उपभोक्ता मूल्य मुद्रास्फीति) की दर से बढ़ रहा है और आपका खर्च 7.79% प्रति वर्ष की दर से बढ़ रहा है, इसका अर्थ है कि आपका निवेश आपको नकारात्मक रिटर्न दे रहा है।

उदाहरण के लिए, यदि आपने एक वर्ष के लिए 100 रुपए का निवेश किया है, तो आपको 105 रुपए (टैक्‍स से पहले) मिल रहे हैं, और आपका खर्च (जीवन यापन की लागत) 107.79 रुपए हैं। तो, आपको उसी जीवन शैली को बनाए रखने के लिए अपनी जेब से 2.79 रुपए लगाने होंगे। इसे दूसरे तरीके से देखने पर, मुद्रास्फीति आपके पैसे की क्रय शक्ति को कम कर रही है। इसलिए, आपको अपना इन्‍वेस्‍टमेंट पोर्टफोलियो इस तरह से बनाना चाहिए कि यह मुद्रास्फीति पर विचार करने के बाद आपको अच्छा रिटर्न दे।

चार्ट: 1 साल की CPI मुद्रास्फीति का रुझान

ऊपर दिए गए चार्ट से पता चलता है कि पिछले कुछ महीनों से भारत में मुद्रास्‍फीति कैसे बढ़ रही है। साथ ही, भोजन, कच्चे तेल और अन्य वस्तुओं की ऊंची कीमतों के कारण, आने वाले महीनों में हमें मुद्रास्फीति से राहत मिलने की संभावना नहीं है।

व्यक्तिगत मुद्रास्फीति क्या है?

MOSPI द्वारा जारी CPI मुद्रास्फीति की दर आपको उन वस्तुओं और सेवाओं की कीमतों में वृद्धि की भारित औसत दर देती है जो उपभोक्ता मूल्य सूचकांक का हिस्सा हैं। हालाँकि, आप कुछ कैटेगरीज़ पर बहुत अधिक पैसा खर्च कर सकते हैं, और इसलिए आप पर इन कैटेगरीज़ में मूल्य वृद्धि का प्रभाव अधिक होगा।

व्यक्तिगत मुद्रास्फीति आपके कुल बजट पर आपकी व्यय वाली कैटेगरीज़ में मूल्य वृद्धि के प्रभाव को समझने में आपकी सहायता करती है। उदाहरण के लिए, कुल मिलाकर CPI मुद्रास्फीति की दर के विभाजन के अनुसार, अप्रैल 2022 के लिए शिक्षा की मुद्रास्फीति 4.12% थी। लेकिन, अगर आपके बच्चे के स्कूल ने वार्षिक फीस में 10% -15% की वृद्धि की है, तो आपकी व्यक्तिगत शिक्षा मुद्रास्फीति बहुत अधिक होगी।

इसी तरह, कुल मिलाकर CPI  मुद्रास्फीति की दर के विभाजन के अनुसार, अप्रैल 2022 के लिए ईंधन और लाइट की मुद्रास्फीति 10.80% थी। लेकिन, हम सभी जानते हैं कि पेट्रोल और डीजल की कीमतों में काफी बढ़ोत्तरी हुई है (पिछले साल की तुलना में 10.80 फीसदी से ज्यादा)। इसके अलावा, यदि आप एक फील्ड मार्केटिंग जॉब में हैं, तो ईंधन की कीमतों में वृद्धि का असर आपके बजट पर अधिक पड़ेगा।

इस तरह से, खाद्य और पेय पदार्थ, कपड़े, स्वास्थ्य, मनोरंजन आदि व्‍यय वाली कैटेगरीज में आपकी वार्षिक वृद्धि, CPI मुद्रास्फीति की 7.79% की दर से बहुत अधिक हो सकती है। तो, आपको अपनी व्यक्तिगत मुद्रास्फीति दर की गणना करने की आवश्यकता होगी।

अपनी व्यक्तिगत मुद्रास्फीति की दर कैसे निर्धारित करें?

अपनी व्यक्तिगत मुद्रास्फीति दर निर्धारित करने के लिए, आपको अपने खर्चों में गहराई से जाना होगा। आप निम्नलिखित कदम उठा सकते हैं:

  • एक्सेल शीट में अपनी व्यय कैटेगरीज की सूची बनाएं और उन्हें विशिष्‍ट भार प्रदान करें। आप व्यय कैटेगरीज को सूचीबद्ध करने के लिए MOSPI मुद्रास्फीति के डेटा का उपयोग कर सकते हैं। प्रत्येक कैटेगरीज (जैसे आपके बच्चे की स्कूल फीस) पर आपके द्वारा खर्च की गई राशि को चेक करें। इन दिनों, कई बैंकिंग और मनी मैनेजमेंट ऐप आपको विभिन्न कैटेगरीज जैसे भोजन, फैशन, स्वास्थ्य देखभाल आदि पर खर्च की गई राशि का विभाजन देते हैं।
  • एक्सेल शीट में प्रत्‍येक कैटेगरी पर खर्च की गई राशि लिखें।
  • अब वर्तमान वर्ष के खर्चो की तुलना पिछले वर्ष से करें, आपको अपनी व्‍यक्तिगत मुद्रास्फिति की दर मिल जाएगी।
  • एक बार जब आपको अपनी व्‍यक्तिगत मुद्रास्फिति की दर मिल जाती है तो अपने पोर्टफोलियो के रिटर्न की दर से इसकी तुलना करें। यदि पोर्टफोलियो के रिटर्न की दर आपकी व्‍यक्तिगत मुद्रास्फिति की दर से अधिक है, तो आपका वास्‍तविक रिटर्न धनात्‍मक है। अन्‍यथा आपका पैसा क्रय शक्ति खो रहा है।

हमेशा मुद्रास्फीति को मात देने वाले रिटर्न का लक्ष्य बनाएं

हमने देखा कि कैसे मुद्रास्फीति चुपचाप आपके पैसे की क्रय शक्ति को नष्ट कर सकती है। इसलिए, निवेश करते समय आपको हमेशा अपनी व्यक्तिगत मुद्रास्फीति दर पर विचार करना चाहिए। हमेशा मुद्रास्फीति को मात देने वाले रिटर्न का लक्ष्य रखें; जो आपके वित्तीय लक्ष्यों को प्राप्त करने में आपकी मदद कर सकता है।

संवादपत्र

संबंधित लेख