Real Estate Company’s IPO and its plan

कंपनी दिसंबर के अंत तक अपना आईपीओ (IPO) लेकर आ रही है जिसके तहत ₹750 करोड़ के नए शेयर बेचे जाएँगे।

रियल एस्टेट कंपनी सिग्नेचर ग्लोबल दिसंबर के अंत तक अपना आईपीओ लॉन्च करेगी

IPO:  सिग्नेचर ग्लोबल (Signature Global) दिसंबर  के अंत तक अपना सार्वजनिक प्रारंभिक प्रस्ताव (IPO) लेकर आ सकती है। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार सिग्नेचर ग्लोबल द्वारा भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) में जुलाई के महीने में प्रारंभिक प्रस्ताव के लिए दस्तावेज जमा करवाए गए थे। 24 नवंबर 2022 को उन्हें आईपीओ प्रस्ताव पेश करने की स्वीकृति भी दी गई थी। बताया जा रहा है कि कंपनी द्वारा अन्य विवरण और दस्तावेज जल्द ही जमा करा दिए जाएँगे। कंपनी की मंशा है कि दिसंबर माह के अंत तक बाजार में आईपीओ पेश किया जा सके। 

क्या करती है सिग्नेचर ग्लोबल 

सिग्नेचर ग्लोबल रियल एस्टेट के क्षेत्र में वाजिब दरों पर मकान उपलब्ध कराती है। अन्य निर्माण के साथ कंपनी का विशेष ध्यान सस्ते मकानों पर है। इस प्रारंभिक प्रस्ताव (आईपीओ) के जरिए कंपनी ₹1,000 करोड़ का लक्ष्य प्राप्त करना चाहती है। इस प्रस्ताव में नए शेयर और ऑफर फॉर सेल (ओएफएस) दोनों शामिल होंगे। 

यह भी पढ़ें: ७ वित्तीय नियम

आईपीओ का विवरण 

सेबी में जमा कराए गए कागजात के अनुसार आईपीओ द्वारा कंपनी ₹750 करोड़ के नए शेयर बाजार में उतारेगी। साथ ही ₹250 करोड़ के ऑफर फॉर सेल शेयर भी उपलब्ध कराए जाएँगे। ऑफर फॉर सेल के अंतर्गत प्रमोटर सर्वप्रिय सिक्यूरिटीज द्वारा ₹125 करोड़ के इक्विटी शेयर उपलब्ध कराए जाएँगे। इतनी ही संख्या में निवेशक इंटरनेशनल फाइनेंस कॉर्पोरेशन द्वारा भी शेयर दिए जाएँगे। 

सिग्नेचर ग्लोबल आईपीओ द्वारा प्राप्त होने वाली रकम का उपयोग लिए गए ऋण के भुगतान और भूमि अधिग्रहण के लिए करेगी। भूमि अधिग्रहण के जरिए कंपनी इनऑर्गेनिक ग्रोथ करना चाह रही है। साथ ही इस रकम का उपयोग सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों के लिए भी किया जाएगा। 

प्रस्ताव से इकट्ठी की गई रकम का उपयोग कंपनी अपनी सब्सिडरी कंपनी सिग्नेचर ग्लोबल होम्स, सिग्नेचर ग्लोबल डेवलपर्स के साथ सिग्नेचर इन्फ्राबिल्ड और स्टर्नल बिल्डकॉन के ऋण के भुगतान के लिए भी करेगी। 

कंपनी के बारे में जानकारी 

सिग्नेचर ग्लोबल दिल्ली-एनसीआर की कंपनी है जिसने 2014 में अपनी सब्सिडरी कंपनी सिग्नेचर बिल्डर्स द्वारा काम की शुरुआत की थी। सेबी में प्रस्तुत कागजात के अनुसार कंपनी का ऑपरेशन पिछले एक दशक से भी कम समय में तेजी से बढ़ा है। प्राप्त आंकड़ों से यह कहा जा सकता है कि 31 मार्च 2022 तक कंपनी द्वारा 23,453 आवासीय और वाणिज्यिक इकाइयाँ बेची गई हैं जिनका कुल बिक्री योग्य क्षेत्रफल 1.45 करोड़ वर्गफुट रहा है। 

यह भी पढ़ें: निफ़्टी ५० से रिटर्न 

संवादपत्र

संबंधित लेख