Reliance Adani group and Jindal Power along with 49 big Companies is showing interest in buying future retail in hindi

Future Retail Deal: मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज, गौतम अडाणी की अडानी ग्रुप और जिंदल पावर समेत 49 कंपनियों ने फ्यूचर रिटेल खरीदने में दिलचस्पी दिखाई है।

Future Retail Bidding

Future Retail Deal: कर्ज में डूबी फ्यूचर रिटेल लिमिटेड (FRL) को खरीदने के लिए बड़ी-बड़ी कंपनियां कोशिश में लगी हैं। रिलायंस रिटेल, जिंदल पावर लिमिटेड और अडाणी ग्रुप समेत 49 कंपनियों ने फ्यूचर रिटेल की परिसंपत्तियों को खरीदने में दिलचस्पी दिखाते हुए अभिरुचि पत्र (EOI) सौंपा है। फ्यूचर रिटेल लिमिटेड फिलहाल अपनी किस्मत से उबरने की कोशिश में लगी है। रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के खुदरा परिचालन के लिए होल्डिंग कंपनी है। दूसरी ओर अप्रैल मून रिटेल प्राइवेट लिमिटेड, अडाणी एयरपोर्ट होल्डिंग्स और फ्लेमिंगो समूह का एक जॉइंट वेंचर है। इन दोनों कंपनियों ने अपना ईओआई पेश किया है।.

एफआरएल को खरीदने की कोशिश में डब्ल्यूएचस्मिथ ट्रैवल लिमिटेड, जेसी फ्लावर्स एसेट रिकंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड और गोर्डन ब्रदर्स की अगुवाई वाला कंसोर्टियम और सहारा एंटरप्राइजेज भी शामिल हैं। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो रिजॉल्यूशन प्रोफेशनल विजय अय्यर ने कंपनियों से दूसरी बार प्रस्ताव मांगे हैं। दरअसल, पहले दौर में ज्यादातर कंपनियों में एफआरएल को खरीदने में दिलचस्पी नहीं दिखाई थी।

आपको बता दें कि पिछले महीने फ्यूचर रिटेल लिमिटेड ने कहा था कि किशोर बियाणी ने एग्जिक्यूटिव चेयरमैन और डायरेक्टर पद से अपना इस्तीफा वापस ले लिया है। इससे पहले भी फ्यूचर ग्रुप ने 2020 के अगस्त महीने में रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड के साथ 24,713 करोड़ रुपये की डील की थी। इस समझौते के तहत रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड रिटेल, होलसेल और लॉजिस्टिक में सक्रिय फ्यूचर समूह की 19 कंपनियों को खरीदने वाली थी। लेकिन ई-कॉमर्स कंपनी ऐमजॉन के विरोध के बाद यह मामला कोर्ट पहुंच गया। इसके बाद साल 2022 में रिलायंस ने इस डील को कैंसल कर दिया। अब फिर से रिलायंस फ्यूचर ग्रुप की किस्मत बदलने की तैयारियों में लगी है।

संवादपत्र

संबंधित लेख