Reliance MG Deal: Reliance is now preparing to enter the auto sector, keeping an eye on the Indian business of MG Hector in hindi

अब ऑटो सेक्टर में उतरने की तैयारी में रिलायंस, इस कार कंपनी के भारतीय बिजनेस पर नजर

Reliance MG Deal

Reliance MG Deal: एमजी मोटर, कथित तौर पर अपने भारतीय कार कारोबार में अपनी मैक्सिम पार्टनरशिप को बेचने के लिए ग्राहक की तलाश कर रही है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज, दोपहिया निर्माता हीरो होंडा, प्रेमजी इन्वेस्ट और जेएसडब्ल्यू ग्रुप जैसे कई भारतीय निवेशक वर्तमान में चीनी कार निर्माता के साथ बातचीत कर रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक भारतीय कंपनियों के साथ चल रही है और एमजी मोटर इस साल के अंत तक ये सौदा पूरा करने की सोच रही है। 

कंपनी को अपने ग्रोथ को बढ़ावा देने के लिए तुरंत पैसों की जरूरत है। एक रिपोर्ट के मुताबिक एमजी मोटर ने गुजरात में 5,000 करोड़ रुपये के निवेश की योजना बनाई है। हालांकि  MG Motor की मूल कंपनी SAIC Motors ने  Reliance, Hero Group, Premji Invest, और JSW के साथ बातचीत की खबरों को अभी चांस की बात कहा है।

एमजी मोटर इंडिया के एमेरिटस सीईओ राजीव चबाटोल्ड ने कहा- हम अगले दो-चार सालों में कंपनी के बोर्ड, मैनेजमेंट, इंपोर्ट चेन में भारतीय पार्टनरशिप का इरादा रखते हैं।  मुकेश अंबानी के नेतृत्व में रिलायंस इंडस्ट्रीज ने हाल ही में अपने कस्टमर ओरिएंटेड अप्रोच को बढ़ाने के लिए अलग-अलग बिजनेस सेक्टर में बदलाव किया है। एफएमसीजी और कैपिटल रियल एस्टेट में एंट्री करने के बाद कंपनी कथित तौर पर बीमा और प्रॉपर्टी मैनेजमेंट संबंधी बिजनेस में अवसर की तलाश कर रही है।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि जून 2020 में दोनों देशों की सेनाओं के बीच गलवान संघर्ष के बाद चीनी कंपनियों और चीन के निवेशों को बढ़ी हुई जांच का सामना करना पड़ा है। इसके जवाब में, भारत सरकार ने भारतीय कंपनियों के अवसरवादी अधिग्रहण को रोकने के लिए अपनी एफडीआई नीति में बदलाव किया है। चीनी संस्थाओं को भारत के साथ लैंड बार्डर पार्टनरशिप करने वाले देशों से निवेश के लिए सरकार की मंजूरी की आवश्यकता होती है। चीनी फर्मों पर कार्रवाई के तहत भारत सरकार ने देश में चल रहे कई गेमिंग और लोन ऐप पर भी प्रतिबंध लगा दिया है।

संवादपत्र

संबंधित लेख