Sai Silks Company and Kfin Technologies IPO:सेबी ने साई सिल्क्स कंपनी और केफिन टेक्नोलॉजीज के आईपीओ को मंजूरी दी!

सेबी ने दो कंपनियों के आईपीओ को मंजूरी दे दी है। कंपनियों की 3600 करोड़ रुपए जुटाने की योजना है।

दो कंपनियों के आईपीओ को सेबी की मंजूरी

SEBI approves Sai Silks Company and Kfin Technologies IPO: दो कंपनियां, साई सिल्क्स कंपनी और केफिन टेक्नोलॉजीज जल्द ही अपना आईपीओ जारी करनेवाली हैं। सेबी ने इनके आईपीओ को मंजूरी दी है। साई सिल्क्स कंपनी अपने आईपीओ के ज़रिए 1,200 करोड़ रुपए जुटाना चाहती है, जबकि केफिन टेक्नोलॉजीज ने आईपीओ से 2400 करोड़ जुटाने की योजना बनाई है।

मार्केट रेगुलेटर सेबी की मंजूरी पारंपरिक पोशाकें बेचने वाली दक्षिण भारत की कंपनी केफिन टेक्नोलॉजीज और साई सिल्क्स, के आईपीओ को मिल चुकी है। साई सिल्क्स कंपनी आईपीओ से 1,200 करोड़ रुपए और केफिन टेक्नोलॉजीज अपने आईपीओ से 2400 करोड़ जुटाने की योजना बनाई है। 

ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस के अनुसार साई सिल्क्स द्वारा इस आईपीओ के तहत, 600 करोड़ रुपए के फ्रेश शेयर जारी किए जाएंगे। कंपनी के प्रमोटर ग्रुप एंटिटी और प्रमोटरों द्वारा ऑफर फॉर सेल के तहत 18,048,440 इक्विटी शेयरों की बिक्री की जाएगी। कंपनी ने जुलाई में सेबी के पास आईपीओ से संबंधित कागजात दाखिल किए थे। कंपनी को 7 नवंबर को ऑब्जर्वेशन लेटर मिला है। गौरतलब है कि आईपीओ से पूर्व सारी कंपनियों को ऑब्जर्वेशन लेटर मिलना आवश्यक है।

कंपनी इस इश्यू से जुटाई राशि से 25 नये स्टोर और दो गोदाम खोलेगी और साथ ही वर्किंग कैपिटल जरूरतों को भी पूरा करेगी। इन पैसों का उपयोग कर्ज के भुगतान और सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों के लिए भी किया जाएगा। मोतीलाल ओसवाल, एचडीएफसी बैंक और एडलवाइस फाइनेंशियल सर्विसेज इस के बुक-रनिंग लीड मैनेजर हैं। इक्विटी शेयरों को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्ट करने का प्रस्ताव है। 

वहीं, फाइनेंशियल सर्विसेज प्लेटफॉर्म केफिन टेक्नोलॉजीज ने 31 मार्च को सेबी के पास आईपीओ दस्तावेज दायर किए थे। इस कंपनी को ऑब्जर्वेशन लेटर दिनांक 7 नवंबर को मिला था। इसे भी आईपीओ के लिए सेबी की मंजूरी मिल चुकी है, और 2400 करोड़ रुपए का यह आईपीओ पूरी तरह ऑफर फॉर सेल पर आधारित है।

यह भी पढ़ें: ७ वित्तीय नियम

दोनों कंपनियों के बारे में कुछ खास बातें

साई सिल्क्स चार स्टोर फॉर्मेट्स – कलामंदिर, वर महालक्ष्मी सिल्क्स, मंदिर और केएलएम फैशन मॉल के माध्यम से साई सिल्क्स बाजार के अलग-अलग खंडों में उत्पादों की बिक्री करता है। इसमें प्रीमियम एथनिक फैशन, मिडिल इनकम के लिए एथनिक फैशन और वैल्यू फैशन शामिल हैं। साई सिल्क्स दक्षिण भारत में परंपरागत परिधान, विशेष रूप से साड़ियों की प्रमुख खुदरा विक्रेताओं में से एक है। इस समय कंपनी चार प्रमुख दक्षिण भारतीय राज्यों – आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक और तमिलनाडु में 50 स्टोर चलाती है।

केफिन 31 जनवरी, 2022 तक अपने ग्राहक एसेट मैनेजमेंट कंपनियों की संख्या के आधार पर देश में भारतीय म्यूचुअल फंड का सबसे बड़ा निवेशक समाधान प्रदाता है। यह कंपनी भारत की 25 को अपनी सेवाएं प्रदान करती है। दिसंबर को समाप्त नौ महीनों में संचालन से केफिन का राजस्व 458 करोड़ रुपए रहा और उसे 97.6 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ हुआ। कंपनी के राजस्व में 35 प्रतिशत और लाभ में 313 प्रतिशत की वार्षिक वृद्धि हुई है। आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज, कोटक महिंद्रा कैपिटल कंपनी, जेपी मॉर्गन इंडिया, आईआईएफएल सिक्योरिटीज और जेफरीज इंडिया इस इश्यू के बुक रनिंग लीड मैनेजर हैं।

यह भी पढ़ें: मार्केट में निफ़्टी ५० से रिटर्न कैसे पाए?

Kfin Technology IPO News

SEBI approves Sai Silks Company and Kfin Technologies IPO: दो कंपनियां, साई सिल्क्स कंपनी और केफिन टेक्नोलॉजीज जल्द ही अपना आईपीओ जारी करनेवाली हैं। सेबी ने इनके आईपीओ को मंजूरी दी है। साई सिल्क्स कंपनी अपने आईपीओ के ज़रिए 1,200 करोड़ रुपए जुटाना चाहती है, जबकि केफिन टेक्नोलॉजीज ने आईपीओ से 2400 करोड़ जुटाने की योजना बनाई है।

मार्केट रेगुलेटर सेबी की मंजूरी पारंपरिक पोशाकें बेचने वाली दक्षिण भारत की कंपनी केफिन टेक्नोलॉजीज और साई सिल्क्स, के आईपीओ को मिल चुकी है। साई सिल्क्स कंपनी आईपीओ से 1,200 करोड़ रुपए और केफिन टेक्नोलॉजीज अपने आईपीओ से 2400 करोड़ जुटाने की योजना बनाई है। 

ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस के अनुसार साई सिल्क्स द्वारा इस आईपीओ के तहत, 600 करोड़ रुपए के फ्रेश शेयर जारी किए जाएंगे। कंपनी के प्रमोटर ग्रुप एंटिटी और प्रमोटरों द्वारा ऑफर फॉर सेल के तहत 18,048,440 इक्विटी शेयरों की बिक्री की जाएगी। कंपनी ने जुलाई में सेबी के पास आईपीओ से संबंधित कागजात दाखिल किए थे। कंपनी को 7 नवंबर को ऑब्जर्वेशन लेटर मिला है। गौरतलब है कि आईपीओ से पूर्व सारी कंपनियों को ऑब्जर्वेशन लेटर मिलना आवश्यक है।

कंपनी इस इश्यू से जुटाई राशि से 25 नये स्टोर और दो गोदाम खोलेगी और साथ ही वर्किंग कैपिटल जरूरतों को भी पूरा करेगी। इन पैसों का उपयोग कर्ज के भुगतान और सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों के लिए भी किया जाएगा। मोतीलाल ओसवाल, एचडीएफसी बैंक और एडलवाइस फाइनेंशियल सर्विसेज इस के बुक-रनिंग लीड मैनेजर हैं। इक्विटी शेयरों को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्ट करने का प्रस्ताव है। 

वहीं, फाइनेंशियल सर्विसेज प्लेटफॉर्म केफिन टेक्नोलॉजीज ने 31 मार्च को सेबी के पास आईपीओ दस्तावेज दायर किए थे। इस कंपनी को ऑब्जर्वेशन लेटर दिनांक 7 नवंबर को मिला था। इसे भी आईपीओ के लिए सेबी की मंजूरी मिल चुकी है, और 2400 करोड़ रुपए का यह आईपीओ पूरी तरह ऑफर फॉर सेल पर आधारित है।

यह भी पढ़ें: ७ वित्तीय नियम

दोनों कंपनियों के बारे में कुछ खास बातें

साई सिल्क्स चार स्टोर फॉर्मेट्स – कलामंदिर, वर महालक्ष्मी सिल्क्स, मंदिर और केएलएम फैशन मॉल के माध्यम से साई सिल्क्स बाजार के अलग-अलग खंडों में उत्पादों की बिक्री करता है। इसमें प्रीमियम एथनिक फैशन, मिडिल इनकम के लिए एथनिक फैशन और वैल्यू फैशन शामिल हैं। साई सिल्क्स दक्षिण भारत में परंपरागत परिधान, विशेष रूप से साड़ियों की प्रमुख खुदरा विक्रेताओं में से एक है। इस समय कंपनी चार प्रमुख दक्षिण भारतीय राज्यों – आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक और तमिलनाडु में 50 स्टोर चलाती है।

केफिन 31 जनवरी, 2022 तक अपने ग्राहक एसेट मैनेजमेंट कंपनियों की संख्या के आधार पर देश में भारतीय म्यूचुअल फंड का सबसे बड़ा निवेशक समाधान प्रदाता है। यह कंपनी भारत की 25 को अपनी सेवाएं प्रदान करती है। दिसंबर को समाप्त नौ महीनों में संचालन से केफिन का राजस्व 458 करोड़ रुपए रहा और उसे 97.6 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ हुआ। कंपनी के राजस्व में 35 प्रतिशत और लाभ में 313 प्रतिशत की वार्षिक वृद्धि हुई है। आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज, कोटक महिंद्रा कैपिटल कंपनी, जेपी मॉर्गन इंडिया, आईआईएफएल सिक्योरिटीज और जेफरीज इंडिया इस इश्यू के बुक रनिंग लीड मैनेजर हैं।

यह भी पढ़ें: मार्केट में निफ़्टी ५० से रिटर्न कैसे पाए?

Kfin Technology IPO News

Expert Article block example

संवादपत्र

संबंधित लेख