Government Savings Scheme: छोटी बचत योजना के बड़े लाभ

सरकार द्वारा लागू की गई छोटी बचत की इस योजना द्वारा निवेशक को गारंटीड रिटर्न मिलता है।

Govt Saving Scheme Guarantees ₹1cr

Government savings scheme: सार्वजनिक भविष्य निधि यानी पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ) एक सरकारी निवेश योजना है। इस योजना में लंबी अवधि के लिए निवेश करने पर गारंटीकृत रिटर्न मिलता है। इस स्कीम के तहत किसी भी पोस्ट ऑफिस में बड़ी ही सुविधाजनक तरीके से पीपीएफ खाता खोला जा सकता है। पीपीएफ में परिपक्वता (मैच्योरिटी) की अवधि 15 सालों की है। इसका ज्यादातर उपयोग नौकरी से जुड़े हुए लोग भविष्य के लिए एक सुरक्षित फंड बनाने के लिए करते हैं। 

लेकिन यदि इसे बच्चों के नाम पर शुरू किया जाए तो बच्चों के वयस्क होने पर उनकी उच्च शिक्षा के लिए सुरक्षित निधि का इंतजाम किया जा सकता है। वयस्क होने के बाद बच्चे पीपीएफ के तहत इस खाते को स्वयं भी संचालित कर सकते हैं। यह खाता बेटे या बेटी दोनों के नाम पर खोला जा सकता है। पीपीएफ योजना के और भी लाभ हैं जिसमें पीपीएफ खातों पर सेक्शन 80सी के अंतर्गत कर में रियायत मिलना भी शामिल है। इसमें प्रतिवर्ष ₹1.5 लाख तक के निवेश पर कर में छूट की सुविधा दी गई है। सबसे महत्त्वपूर्ण बात है कि इस पर मिलनेवाले ब्याज और मैच्योरिटी पर मिलनेवाली रकम करमुक्त (टैक्सफ्री) है। 

यह भी पढ़ें: अस्थिर मार्केट उच्च डिविडेंड वाले स्टॉक

आंशिक निकासी संभव 

यदि यह स्कीम बच्चों के नाम से ली गई है तो इसमें आंशिक निकासी का भी प्रावधान रखा गया है। 

योजना बढ़ाने के विकल्प 

वैसे तो पीपीएफ खाते 15 सालों की मैच्योरिटी के साथ खोले जाते हैं, लेकिन यदि निवेशक चाहें तो पूर्व सूचना देकर इसे प्रत्येक पाँच-पाँच वर्षों के लिए और बढ़ा सकते हैं। इस स्कीम या खाते में निवेश करने के लिए न्यूनतम सीमा ₹500 प्रतिवर्ष है और अधिकतम सीमा ₹1.50 लाख प्रतिवर्ष है। 

यदि यह खाता बच्चों के नाम खोला गया हो तो दोनों मिलाकर अधिकतम ₹1.50 लाख प्रतिवर्ष जमा कर सकते हैं। पीपीएफ खाते में निवेश के बारे में और अधिक जानकारी नीचे दी जा रही है।

पीपीएफ रिटर्न कैलकुलेटर 

  • प्रतिमाह अधिकतम निवेश - ₹12,500 
  • वार्षिक अधिकतम निवेश - ₹1.50 लाख
  • ब्याज की दर 7.1% वार्षिक कंपाउंड 
  • 15 साल पर मिलनेवाली राशि ₹40,68,209 
  • 15 साल का कुल निवेश ₹22.5 लाख 
  • ब्याज से लाभ ₹18,18,209 

स्कीम 5 साल के लिए बढ़ाने पर 

प्रतिमाह अधिकतम ₹12,500 निवेश के अनुसार एक वर्ष में ₹1.50 लाख का निवेश करने पर और ब्याज की दर 7.1% वार्षिक कंपाउंड हो तो 20 साल में मिलनेवाली राशि होगी ₹66.58 लाख। कुल निवेश ₹30 लाख और ब्याज से मिलनेवाला लाभ ₹36.58 लाख होगा। 

10 साल के लिए स्कीम बढ़ाने पर 

प्रतिमाह अधिकतम ₹12,500 के निवेश के अनुसार एक वर्ष में ₹1.50 लाख का निवेश करने पर और ब्याज की दर 7.1% वार्षिक कंपाउंड हो तो 25 साल पर मिलनेवाली राशि होगी ₹1.03 करोड़। कुल निवेश ₹37.50 लाख और ब्याज से लाभ ₹65.58 लाख होगा। 

यह भी पढ़ें: पेनी स्टॉक्स 700% से अधिक रिटर्न वाले

Government savings scheme: सार्वजनिक भविष्य निधि यानी पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ) एक सरकारी निवेश योजना है। इस योजना में लंबी अवधि के लिए निवेश करने पर गारंटीकृत रिटर्न मिलता है। इस स्कीम के तहत किसी भी पोस्ट ऑफिस में बड़ी ही सुविधाजनक तरीके से पीपीएफ खाता खोला जा सकता है। पीपीएफ में परिपक्वता (मैच्योरिटी) की अवधि 15 सालों की है। इसका ज्यादातर उपयोग नौकरी से जुड़े हुए लोग भविष्य के लिए एक सुरक्षित फंड बनाने के लिए करते हैं। 

लेकिन यदि इसे बच्चों के नाम पर शुरू किया जाए तो बच्चों के वयस्क होने पर उनकी उच्च शिक्षा के लिए सुरक्षित निधि का इंतजाम किया जा सकता है। वयस्क होने के बाद बच्चे पीपीएफ के तहत इस खाते को स्वयं भी संचालित कर सकते हैं। यह खाता बेटे या बेटी दोनों के नाम पर खोला जा सकता है। पीपीएफ योजना के और भी लाभ हैं जिसमें पीपीएफ खातों पर सेक्शन 80सी के अंतर्गत कर में रियायत मिलना भी शामिल है। इसमें प्रतिवर्ष ₹1.5 लाख तक के निवेश पर कर में छूट की सुविधा दी गई है। सबसे महत्त्वपूर्ण बात है कि इस पर मिलनेवाले ब्याज और मैच्योरिटी पर मिलनेवाली रकम करमुक्त (टैक्सफ्री) है। 

यह भी पढ़ें: अस्थिर मार्केट उच्च डिविडेंड वाले स्टॉक

आंशिक निकासी संभव 

यदि यह स्कीम बच्चों के नाम से ली गई है तो इसमें आंशिक निकासी का भी प्रावधान रखा गया है। 

योजना बढ़ाने के विकल्प 

वैसे तो पीपीएफ खाते 15 सालों की मैच्योरिटी के साथ खोले जाते हैं, लेकिन यदि निवेशक चाहें तो पूर्व सूचना देकर इसे प्रत्येक पाँच-पाँच वर्षों के लिए और बढ़ा सकते हैं। इस स्कीम या खाते में निवेश करने के लिए न्यूनतम सीमा ₹500 प्रतिवर्ष है और अधिकतम सीमा ₹1.50 लाख प्रतिवर्ष है। 

यदि यह खाता बच्चों के नाम खोला गया हो तो दोनों मिलाकर अधिकतम ₹1.50 लाख प्रतिवर्ष जमा कर सकते हैं। पीपीएफ खाते में निवेश के बारे में और अधिक जानकारी नीचे दी जा रही है।

पीपीएफ रिटर्न कैलकुलेटर 

  • प्रतिमाह अधिकतम निवेश - ₹12,500 
  • वार्षिक अधिकतम निवेश - ₹1.50 लाख
  • ब्याज की दर 7.1% वार्षिक कंपाउंड 
  • 15 साल पर मिलनेवाली राशि ₹40,68,209 
  • 15 साल का कुल निवेश ₹22.5 लाख 
  • ब्याज से लाभ ₹18,18,209 

स्कीम 5 साल के लिए बढ़ाने पर 

प्रतिमाह अधिकतम ₹12,500 निवेश के अनुसार एक वर्ष में ₹1.50 लाख का निवेश करने पर और ब्याज की दर 7.1% वार्षिक कंपाउंड हो तो 20 साल में मिलनेवाली राशि होगी ₹66.58 लाख। कुल निवेश ₹30 लाख और ब्याज से मिलनेवाला लाभ ₹36.58 लाख होगा। 

10 साल के लिए स्कीम बढ़ाने पर 

प्रतिमाह अधिकतम ₹12,500 के निवेश के अनुसार एक वर्ष में ₹1.50 लाख का निवेश करने पर और ब्याज की दर 7.1% वार्षिक कंपाउंड हो तो 25 साल पर मिलनेवाली राशि होगी ₹1.03 करोड़। कुल निवेश ₹37.50 लाख और ब्याज से लाभ ₹65.58 लाख होगा। 

यह भी पढ़ें: पेनी स्टॉक्स 700% से अधिक रिटर्न वाले

Expert Article block example

संवादपत्र

संबंधित लेख