TomorrowMakers

कुछ ऐसी आम चीज़ें हैं जिनसे हर वो व्यक्ति डरता है जिसके पास अपना घर है।

Situations any home-owner is afraid of

हो सकता है कि आपने अपने घर में चोरी रोकने का उपकरण, स्मोक अलार्म और आग बुझाने वाला सबसे अच्छा यंत्र लगाया हो। लेकिन इतना करने के बाद भी आप खुद को और अपने परिवार को कई स्थितियों से सुरक्षित रखने के लिए नए और बेहतर तरीकों की तलाश में रहते हैं। आप नहीं चाहते कि किसी दिन जब आप घर वापस लौटें, तो ऐसी हालत नज़र आए कि आप अपने घर को पहचान ही न सकें।

 

यहां वो 4 स्थितियां दी गई हैं जिनसे हरेक घर मालिक डरते हैं:

 

  1. आग – आप हर बार घर से निकलते समय दो बार ज़रूर यह देखते होंगे कि आपने गैस बंद कर दी है या नहीं। आप यह भी देखते होंगे कि घर में कोई अत्यधिक ज्वलनशील सामग्री तो नहीं रखी है। लेकिन बस एक गलती से सब कुछ खत्म हो सकता है। चाहे वॉशिंग मशीन हो या कपड़ों से भरे कार्डबोर्ड के बक्से या ज़रूरी दस्तावेज़, आग लगने की स्थिति में इनमें से कुछ भी नहीं बचेगा। आपके घर में आग लगने से जितना नुकसान होता है, उसके आधार पर आपको गंभीर आर्थिक मुश्किल का सामना करना पड़ सकता है। लेकिन अच्छी बात यह है कि एक साधारण बीमा पॉलिसी भी आग के लिए कवरेज देती है। आपको आग के खतरों को देखते हुए अपने घर का बीमा ज़रूर करवाना चाहिए।

 

  1. चोरी – क्या होगा अगर एक दिन आप घर लौटें और पाएं कि आपका सारा क़ीमती सामान गायब है? क्या आपको यकीन है कि आपके महंगे लॉकिंग सिस्टम में सेंध लगाना नामुमकिन है या आपका सिक्योरिटी गार्ड भरोसेमंद है? उससे भी बुरी स्थिति तब हो सकती है जब यह काम घर में किसी डिनर पार्टी या शादी के दौरान आए मेहमानों में से किसी व्यक्ति या घर के नौकर का ही काम हो। ज़रा उन सभी क़ीमती चीज़ों के बारे में सोचिए जिनके लिए आपको लगता था कि वो आपके घर में सुरक्षित हैं। जैसे आपका पहला लैपटॉप या वो पहला टीवी जो आपके माता-पिता की शादी के समय से आपके घर में था। ऐसी चोरी का आपकी ज़िंदगी पर आर्थिक प्रभाव तो पड़ता ही है, साथ ही आपको भावनात्मक ठेस भी पहुंचती है। अगर आपने घर का बीमा नहीं करवाया है तो आपके पास खोने के लिए बहुत कुछ है, चाहे उसे रोकने की आप कितनी भी कोशिश कर लें। एक सामान्य बीमा पॉलिसी आपके घर के साथ-साथ घर में मौजूद सामान को भी सुरक्षा देती है।

 

  1. भूकंप और अन्य प्राकृतिक आपदाएं – भूकंप, बाढ़, सुनामी आदि जैसी प्राकृतिक आपदाओं या ईश्वर की मर्ज़ी से पैदा हुई कुछ स्थितियों पर आपका कोई नियंत्रण नहीं होता। यह सुनिश्चित करने का कोई तरीका नहीं है कि इनसे आपके घर को नुकसान नहीं पहुंचेगा। अगर इनमें से कोई आपदा आती है तो आपके घर के ढांचे को काफी नुकसान पहुंच सकता है। बड़े पैमाने पर ऐसी आपदाएं आपको बेघर भी बना सकती हैं। ऐसी सूरत में आपके पास ज़ीरो से शुरुआत करके अपने घर को दोबारा बनवाने के अलावा और कोई विकल्प नहीं रह जाता। ऐसी गंभीर परिस्थितियों में पैसे का इंतज़ाम करना मुश्किल हो सकता है। यही नहीं बल्कि छोटे पैमाने की आपदाएं भी आपके घर के बुनियादी ढांचे को काफी नुकसान पहुंचा सकती हैं। इसके अतिरिक्त यह आपके घर के सामान को भी नुकसान पहुंचाती हैं। इसलिए बेहतर होगा कि घर खरीदने या किराए पर लेने से पहले यह पता कर लें कि घर किसी ऐसे इलाके में तो नहीं है जहां प्राकृतिक आपदाएं आने का ज़्यादा खतरा हो।
     
     
  2. दूसरों को चोट लगना – आप यह बिल्कुल नहीं चाहेंगे कि आपकी प्रॉपर्टी पर रहते हुए किसी व्यक्ति को कोई शारीरिक नुकसान पहुंचे। आपको शायद यह याद होगा कि आपके घर की एक सीढ़ी टूटी हुई है लेकिन क्या आपके मेहमान यह जानते हैं? या फिर घर के नौकरों को यह मालूम हैयदि आपकी लापरवाही की वजह से आपके घर में किसी को चोट लगती है तो उचित होगा कि उसका भुगतान आप ही करें। घर के लिए करवाया गया बीमा, आपको इसका कवर भी देता है। कुछ मूल बीमा पॉलिसियां इस फीचर के साथ आती हैं। जिस पॉलिसी में यह फीचर मौजूद न हो, उसके साथ आप थर्ड पार्टी लाएबिलिटी (तीसरे पक्ष की देयता) वाला अतिरिक्त राइडर ले सकते हैं।

 

अपने घर की सुरक्षा के लिए हर ज़रूरी कदम उठाने के बावजूद भी आप यह सोचने पर मजबूर होंगे कि क्या इतना करना काफी है। अपने मन की शांति के लिए घर का बीमा ज़रूर करवाएं। हालांकि ऐसा करने के बाद भी आपकी संपत्ति को नुकसान पहुंचने की आशंका पूरी तरह खत्म नहीं होगी। लेकिन कुछ ग़लत होने पर इससे आपको वित्तीय रूप से सहारा ज़रूर मिलेगा।

 

शीर्षकबीमा, घर के लिए बीमा, घर

 

संबंधित लेख