Stocks in news today: टाटा स्टील सहित इन शेयरों पर रखें नजर। मुनाफ़े के लिए इंट्राडे हो सकता है विकल्प

यदि निवेशक के पास टाटा स्टील सहित ये शेयर हों तो 1 नवंबर, 2022 का कारोबार महत्त्वपूर्ण हो सकता है।

मुनाफ़े के लिए इंट्राडे हो सकता है विकल्प

Profit in these shares: बाजार की उतार-चढ़ाव की हालत को देखते हुए 1 नवंबर, 2022 का दिन कुछ निवेशकों के लिए बहुत महत्त्वपूर्ण साबित हो सकता है। यदि आपके पास ये शेयर हों तो इन पर नजर बनाए रखना बहुत जरूरी हो जाएगा क्योंकि बाजार में इन शेयरों के प्रति सकारात्मक रुख देखने को मिल सकता है। वहीं यदि आप निवेश के लिए कुछ फ़ायदेमंद विकल्प ढूँढ रहे हैं तो इंट्राडे आपके प्रश्नों का उत्तर हो सकता है। आइए एक नजर डालते हैं उन शेयरों पर जिन पर बाजार का ध्यान केंद्रित होगा। 
इनमें खास शेयर हैं एयरटेल, एलएंडटी, अडानी पोर्ट्स, टाटा स्टील और टेक महिंद्रा। इतना ही नहीं इसके साथ सन फार्मा, ग्लेनमार्क, चंबल फर्टिलाइजर्स, धानुका एग्रीटेक ये भी इस सूची में शामिल हैं। वहीं इक्विटी स्मॉल फाइनैंस बैंक, डाटा पैटर्न्स, पीएनबी, कर्नाटक बैंक, एलआईसी हाउसिंग फाइनांस जैसी वित्तीय संस्थाएँ भी लोगों को अपनी ओर आकर्षित करेंगी। इसी के साथ कैस्ट्रॉल इंडिया, सीएमएस इंफोसिस्टम्स, सारेगामा इंडिया, नायका, जेके टायर्स, मैक्रोटेक डेवलपर्स, वरुण बेवरेजेस आदि कंपनियाँ भी बाजार में ट्रेंड करेंगी। वोल्टास और व्हर्लपूल जैसी घरेलू उपकरणों की कंपनियाँ भी इसी कतार में खड़ी हैं। इन कंपनियों के ट्रेंड करने की वजह इनके तिमाही के नतीजे और बाजार में उनके प्रति सकारात्मक रुझान को माना जा रहा है। कुछ चुनिंदा कंपनियों के हालिया प्रदर्शन यहाँ दिए जा रहे हैं। 

यह भी पढ़ें: ७ वित्तीय नियम

अडानी पोर्ट्स और टेक महिंद्रा

1 नवंबर, 2022 को अडानी पोर्ट्स और टेक महिंद्रा के साथ वोल्टास और व्हर्लपूल द्वारा तिमाही के नतीजे जारी किए जाएँगे। इसी के साथ अन्य वित्तीय कंपनियाँ जैसे एफएसए, एन ई-कॉमर्स वेंचर्स, नायका, युपीएल, पीएनबी, कर्नाटक बैंक, चोलामंडलम इन्वेस्टमेंट एंड फाइनांस कंपनी और एलआईसी हाउसिंग फाइनांस आदि भी अपने तिमाही के नतीजे घोषित करेंगे। इस लिस्ट में अगले नाम हैं चंबल फर्टिलाइजर्स, धानुका एग्रीटेक, कानसाई नैरोलैक पेंट और सन फार्मा। कुछ और कंपनियाँ जैसे जेके टायर्स एंड इंडस्ट्रीज, सीएमएस इंफोसिस्टम्स भी अपने नतीजे घोषित करेंगे।  

भारती एयरटेल का मुनाफा

गौरतलब है कि भारती एयरटेल का मुनाफा वार्षिक तौर पर 89% से बढ़कर ₹2,145 करोड़ तक पहुँच गया है। इसी के साथ उसकी कुल रेवेन्यू 22% वृद्धि के साथ ₹34,527 करोड़ हो गई है। 

इक्विटास स्मॉल फाइनांस बैंक 

इस वित्तीय संस्था का लाभ तीन गुना बढ़कर ₹116 करोड़ हो गया है। लाभ का कारण लोन वितरण करने में हुई अच्छी खासी बढ़ोतरी का रहा। यदि पिछले वर्ष की इसी तिमाही को देखें तो कंपनी को ₹41 करोड़  का लाभ हुआ था। 

लार्सन एंड टूब्रो 

लार्सन एंड टुब्रो (एलएंडटी L&T) की आय 23% बढ़कर ₹42,763 करोड़ हो गई है। कंपनी का सितंबर की तिमाही में वार्षिक आधार पर 22.5% लाभ के साथ ₹2,229 करोड़ का लाभ हुआ है। 
कंपनी ने किसी तिमाही में ₹51,914 का ऑर्डर प्राप्त किया है तो सितंबर माह तक कंसोलिडेटेड ऑर्डर था ₹3,72,81 करोड़ का 

टाटा स्टील 

टाटा स्टील का कंसोलिडेटेड लाभ वार्षिक तौर पर 87% बढ़कर ₹1,514 करोड़ का हो गया है, वहीं कंपनी की आय ₹59,878 करोड़ की रही। ध्यान देने योग्य बात है कि इस तिमाही में उसके लाभ में 80% की कमी आई है। 

ग्लेनमार्क फार्मास्यूटिकल्स 

ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स इंक द्वारा हाल ही में फिंगोलिमोड कैप्सूल 0.5 मिलीग्राम और गिलेन्या 1 कैप्सूल संस्करण और 0.5 मिलीग्राम का संस्करण भी जारी किया था। ये सभी नोवर्टिस फार्मास्युटिकल कॉर्पोरेशन की दवाइयाँ हैं। बिक्री के लिहाज से देखें तो गिलेन्या कैप्सूल ने 1.8 बिलियन डॉलर की वार्षिक बिक्री की है। ये आँकड़े सितंबर माह 2022 को पूर्ण हुए 12 महीने में आईक्यूवीआईए (IQVIA) द्वारा उपलब्ध कराए गए हैं। 

यह भी पढ़ें: मार्केट में निफ़्टी ५० से रिटर्न कैसे पाए?

Profit in these shares: बाजार की उतार-चढ़ाव की हालत को देखते हुए 1 नवंबर, 2022 का दिन कुछ निवेशकों के लिए बहुत महत्त्वपूर्ण साबित हो सकता है। यदि आपके पास ये शेयर हों तो इन पर नजर बनाए रखना बहुत जरूरी हो जाएगा क्योंकि बाजार में इन शेयरों के प्रति सकारात्मक रुख देखने को मिल सकता है। वहीं यदि आप निवेश के लिए कुछ फ़ायदेमंद विकल्प ढूँढ रहे हैं तो इंट्राडे आपके प्रश्नों का उत्तर हो सकता है। आइए एक नजर डालते हैं उन शेयरों पर जिन पर बाजार का ध्यान केंद्रित होगा। 
इनमें खास शेयर हैं एयरटेल, एलएंडटी, अडानी पोर्ट्स, टाटा स्टील और टेक महिंद्रा। इतना ही नहीं इसके साथ सन फार्मा, ग्लेनमार्क, चंबल फर्टिलाइजर्स, धानुका एग्रीटेक ये भी इस सूची में शामिल हैं। वहीं इक्विटी स्मॉल फाइनैंस बैंक, डाटा पैटर्न्स, पीएनबी, कर्नाटक बैंक, एलआईसी हाउसिंग फाइनांस जैसी वित्तीय संस्थाएँ भी लोगों को अपनी ओर आकर्षित करेंगी। इसी के साथ कैस्ट्रॉल इंडिया, सीएमएस इंफोसिस्टम्स, सारेगामा इंडिया, नायका, जेके टायर्स, मैक्रोटेक डेवलपर्स, वरुण बेवरेजेस आदि कंपनियाँ भी बाजार में ट्रेंड करेंगी। वोल्टास और व्हर्लपूल जैसी घरेलू उपकरणों की कंपनियाँ भी इसी कतार में खड़ी हैं। इन कंपनियों के ट्रेंड करने की वजह इनके तिमाही के नतीजे और बाजार में उनके प्रति सकारात्मक रुझान को माना जा रहा है। कुछ चुनिंदा कंपनियों के हालिया प्रदर्शन यहाँ दिए जा रहे हैं। 

यह भी पढ़ें: ७ वित्तीय नियम

अडानी पोर्ट्स और टेक महिंद्रा

1 नवंबर, 2022 को अडानी पोर्ट्स और टेक महिंद्रा के साथ वोल्टास और व्हर्लपूल द्वारा तिमाही के नतीजे जारी किए जाएँगे। इसी के साथ अन्य वित्तीय कंपनियाँ जैसे एफएसए, एन ई-कॉमर्स वेंचर्स, नायका, युपीएल, पीएनबी, कर्नाटक बैंक, चोलामंडलम इन्वेस्टमेंट एंड फाइनांस कंपनी और एलआईसी हाउसिंग फाइनांस आदि भी अपने तिमाही के नतीजे घोषित करेंगे। इस लिस्ट में अगले नाम हैं चंबल फर्टिलाइजर्स, धानुका एग्रीटेक, कानसाई नैरोलैक पेंट और सन फार्मा। कुछ और कंपनियाँ जैसे जेके टायर्स एंड इंडस्ट्रीज, सीएमएस इंफोसिस्टम्स भी अपने नतीजे घोषित करेंगे।  

भारती एयरटेल का मुनाफा

गौरतलब है कि भारती एयरटेल का मुनाफा वार्षिक तौर पर 89% से बढ़कर ₹2,145 करोड़ तक पहुँच गया है। इसी के साथ उसकी कुल रेवेन्यू 22% वृद्धि के साथ ₹34,527 करोड़ हो गई है। 

इक्विटास स्मॉल फाइनांस बैंक 

इस वित्तीय संस्था का लाभ तीन गुना बढ़कर ₹116 करोड़ हो गया है। लाभ का कारण लोन वितरण करने में हुई अच्छी खासी बढ़ोतरी का रहा। यदि पिछले वर्ष की इसी तिमाही को देखें तो कंपनी को ₹41 करोड़  का लाभ हुआ था। 

लार्सन एंड टूब्रो 

लार्सन एंड टुब्रो (एलएंडटी L&T) की आय 23% बढ़कर ₹42,763 करोड़ हो गई है। कंपनी का सितंबर की तिमाही में वार्षिक आधार पर 22.5% लाभ के साथ ₹2,229 करोड़ का लाभ हुआ है। 
कंपनी ने किसी तिमाही में ₹51,914 का ऑर्डर प्राप्त किया है तो सितंबर माह तक कंसोलिडेटेड ऑर्डर था ₹3,72,81 करोड़ का 

टाटा स्टील 

टाटा स्टील का कंसोलिडेटेड लाभ वार्षिक तौर पर 87% बढ़कर ₹1,514 करोड़ का हो गया है, वहीं कंपनी की आय ₹59,878 करोड़ की रही। ध्यान देने योग्य बात है कि इस तिमाही में उसके लाभ में 80% की कमी आई है। 

ग्लेनमार्क फार्मास्यूटिकल्स 

ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स इंक द्वारा हाल ही में फिंगोलिमोड कैप्सूल 0.5 मिलीग्राम और गिलेन्या 1 कैप्सूल संस्करण और 0.5 मिलीग्राम का संस्करण भी जारी किया था। ये सभी नोवर्टिस फार्मास्युटिकल कॉर्पोरेशन की दवाइयाँ हैं। बिक्री के लिहाज से देखें तो गिलेन्या कैप्सूल ने 1.8 बिलियन डॉलर की वार्षिक बिक्री की है। ये आँकड़े सितंबर माह 2022 को पूर्ण हुए 12 महीने में आईक्यूवीआईए (IQVIA) द्वारा उपलब्ध कराए गए हैं। 

यह भी पढ़ें: मार्केट में निफ़्टी ५० से रिटर्न कैसे पाए?

Expert Article block example

संवादपत्र

संबंधित लेख