BSE Sensex jumps 1277 points: बीएसई सेंसेक्स ने लगाई 1277 अंक की लंबी छलांग

शेयर बाजार में भारी तेजी, सेंसेक्स 58 हजार के पार पहुंचा

शेयर बाजार में जोरदार तेजी

Share Market: पिछले दिनों शेयर बाजार के लगातार नीचे लुढ़कने से परेशान निवेशकों ने मंगलवार को घरेलू शेयर बाजारों में लौटी तेजी से राहत की सांस ली। वैश्विक शेयर बाजारों में सकारात्मक रुख के बीच घरेलू शेयर बाजारों में भारी तेजी देखने को मिली। तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 1,276.66 अंक यानी करीब 2.25 प्रतिशत चढ़कर 58,065.47 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के सत्र में एक बार यह 1,311.13 अंक तक पहुंच गया था। बुधवार को दशहरे के कारण बाजार बंद रहे और आज वृहस्पतिवार को भी बाजार में तेजी दिख रही है।

घरेलू शेयर बाजारों में मंगलवार को जोरदार तेजी आई और बीएसई सेंसेक्स भी 1,277 अंक तक बढ़ गया। वैश्विक शेयर बाजारों के रुख में सकारात्मक बदलाव होने के कारण घरेलू बाजार में भी तेजी रही। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 386.95 अंक यानी 2.29 प्रतिशत की बढ़त के साथ 17,274.30 अंक पर बंद हुआ।

यह भी पढ़ें: अस्थिर मार्केट उच्च डिविडेंड वाले स्टॉक

किन शेयरों में तेजी और किन में मंदी

सेंसेक्स के तीस शेयरों में बजाज फाइनेंस, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, इंडसइंड बैंक, बजाज फिनसर्व, टाटा स्टील, एचडीएफसी, विप्रो, लार्सन एंड टुब्रो, एचडीएफसी बैंक और एक्सिस बैंक के शेयर को काफी तरजीह मिली और ये लाभ में रहे। 

वहीं पावरग्रिड, सन फार्मा और डॉ. रेड्डीज के शेयरों में गिरावट जारी रही। सोमवार को सेंसेक्स में 638.11 अंक की गिरावट आई थी, तो वहीं दूसरी ओर निफ्टी भी 207 अंक टूट गया था। 

एशिया के अन्य बाजारों की बात करें तो दक्षिण कोरिया का कॉस्पी और जापान के निक्की को लाभ हुआ। अमेरिकी स्टॉक मार्केट में तेजी आने के बाद एशिया के बाजारों में भी मजबूती आई। अमेरिका के आर्थिक आंकड़ों में से कुछ के कमजोर होने के कारण यह आशा की जा रही है कि फेडरल रिजर्व जिस तरह आक्रामक रूप से ब्याज दर बढ़ाता जा रहा है, शायद अब उस पर विराम लगा सकता है।

जहाँ तक यूरोप के प्रमुख बाजारों की बात है, शुरुआती कारोबार में तेजी का रुख दिखाई दिया। अमेरिकी बाजारों में सोमवार को बढ़त बनी रहे। इसी के बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड वायदा 0.78 प्रतिशत ऊपर जाकर प्रति बैरल 89.55 डॉलर पर पहुंच गया। शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार, एफआईआई यानी विदेशी संस्थागत निवेशकों ने सोमवार को करीब 590.58 करोड़ रुपए की कीमत के शेयर खरीदे। पिछले कुछ समय से एफआईआई पूरी तरह केवल बिकवाली में लगे रहे थे। जानकारों का मानना है कि फिलहाल बाजार में इस तेजी के बने रहने की संभावना है।

यह भी पढ़ें: पेनी स्टॉक्स 700% से अधिक रिटर्न वाले

MARKET ANALYSIS

Share Market: पिछले दिनों शेयर बाजार के लगातार नीचे लुढ़कने से परेशान निवेशकों ने मंगलवार को घरेलू शेयर बाजारों में लौटी तेजी से राहत की सांस ली। वैश्विक शेयर बाजारों में सकारात्मक रुख के बीच घरेलू शेयर बाजारों में भारी तेजी देखने को मिली। तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 1,276.66 अंक यानी करीब 2.25 प्रतिशत चढ़कर 58,065.47 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के सत्र में एक बार यह 1,311.13 अंक तक पहुंच गया था। बुधवार को दशहरे के कारण बाजार बंद रहे और आज वृहस्पतिवार को भी बाजार में तेजी दिख रही है।

घरेलू शेयर बाजारों में मंगलवार को जोरदार तेजी आई और बीएसई सेंसेक्स भी 1,277 अंक तक बढ़ गया। वैश्विक शेयर बाजारों के रुख में सकारात्मक बदलाव होने के कारण घरेलू बाजार में भी तेजी रही। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 386.95 अंक यानी 2.29 प्रतिशत की बढ़त के साथ 17,274.30 अंक पर बंद हुआ।

यह भी पढ़ें: अस्थिर मार्केट उच्च डिविडेंड वाले स्टॉक

किन शेयरों में तेजी और किन में मंदी

सेंसेक्स के तीस शेयरों में बजाज फाइनेंस, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, इंडसइंड बैंक, बजाज फिनसर्व, टाटा स्टील, एचडीएफसी, विप्रो, लार्सन एंड टुब्रो, एचडीएफसी बैंक और एक्सिस बैंक के शेयर को काफी तरजीह मिली और ये लाभ में रहे। 

वहीं पावरग्रिड, सन फार्मा और डॉ. रेड्डीज के शेयरों में गिरावट जारी रही। सोमवार को सेंसेक्स में 638.11 अंक की गिरावट आई थी, तो वहीं दूसरी ओर निफ्टी भी 207 अंक टूट गया था। 

एशिया के अन्य बाजारों की बात करें तो दक्षिण कोरिया का कॉस्पी और जापान के निक्की को लाभ हुआ। अमेरिकी स्टॉक मार्केट में तेजी आने के बाद एशिया के बाजारों में भी मजबूती आई। अमेरिका के आर्थिक आंकड़ों में से कुछ के कमजोर होने के कारण यह आशा की जा रही है कि फेडरल रिजर्व जिस तरह आक्रामक रूप से ब्याज दर बढ़ाता जा रहा है, शायद अब उस पर विराम लगा सकता है।

जहाँ तक यूरोप के प्रमुख बाजारों की बात है, शुरुआती कारोबार में तेजी का रुख दिखाई दिया। अमेरिकी बाजारों में सोमवार को बढ़त बनी रहे। इसी के बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड वायदा 0.78 प्रतिशत ऊपर जाकर प्रति बैरल 89.55 डॉलर पर पहुंच गया। शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार, एफआईआई यानी विदेशी संस्थागत निवेशकों ने सोमवार को करीब 590.58 करोड़ रुपए की कीमत के शेयर खरीदे। पिछले कुछ समय से एफआईआई पूरी तरह केवल बिकवाली में लगे रहे थे। जानकारों का मानना है कि फिलहाल बाजार में इस तेजी के बने रहने की संभावना है।

यह भी पढ़ें: पेनी स्टॉक्स 700% से अधिक रिटर्न वाले

MARKET ANALYSIS

Expert Article block example

संवादपत्र

संबंधित लेख