Stocks of BPCL, Adani Green, NDTV, IRCTC may give profits: बीपीसीएल, अडानी ग्रीन, एनडीटीवी, आईआरसीटीसी के शेयर दे सकते हैं मुनाफा

आज इंट्रा डे में इन 6 शेयरों से हो सकता है अच्छा मुनाफा

stocks are expected to make profits

Expected rise in these stocks: अमेरिकी बाजारों में आई सुनामी के साथ-साथ कल यानी 29 अगस्त को, हफ्ते के पहले दिन ही घरेलू शेयर बाजारों में भी लुढ़काव जारी रहा, बाजार काफी गिरावट के साथ बंद हुए। आज 30 अगस्त को दिन भर यानी इंट्रा डे के व्यापार में इन 6 शेयरों से हो सकता है अच्छा मुनाफा।

कल यानी 29 अगस्त को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के सेंसेक्स में 861 अंक से अधिक गिरावट आई। बीएसई का सेंसेक्स 861.25 अंक अर्थात् 1.46 % नीचे जाकर 57,972.62 अंक पर बंद हुआ। फिर भी आज इंट्रा डे के कारोबार में 6 कंपनियों यानी बीपीसीएल, अडानी ग्रीन, एनडीटीवी, आईआरसीटीसी, वोडाफोन आइडिया और मारुति सुजुकी के शेयरों के मुनाफा कमाने की उम्मीद की जा सकती है।

यह भी पढ़ें: अस्थिर मार्केट में 2022 में निवेश करने के लिए उच्च डिविडेंड प्रदान करने वाले स्टॉक

आज मुनाफा दे सकने वाली कंपनियों पर एक नज़र

इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन को आईआरसीटीसी के नाम से बेहतर जाना जाता है। इस कंपनी द्वारा सोमवार को सभी एक्सचेंज से किए गए एक खुलासे के बाद मीडिया रिपोर्टों से जानकारी मिली कि सरकार ने बाजार की ढुलमुल परिस्थितियों के कारण आईआरसीटीसी के ऑफर फॉर सेल (ओएफएस) की अपनी योजना को अभी के लिए रोक दिया है। आईआरसीटीसी ने बताया कि सरकार द्वारा ओएफएस योजना को टाले जाने के बारे में उसे कोई जानकारी नहीं है। पहले आई रिपोर्टों के अनुसार सरकार आईआरसीटीसी में बिक्री के लिए ऑफर से 3000 करोड़ रुपए जुटाने की कोशिश कर रही थी पर फिलहाल इस योजना को टाल दिया गया है।

इस सूची की एक और कंपनी है एनडीटीवी। अडानी समूह और एनडीटीवी को संभालने वाली आरआरपीआर होल्डिंग लिमिटेड ने सेबी से संपर्क कर यह जानकारी मांगी है कि क्या इस कंपनी के वारंट को शेयरों में बदलने के संबंध में प्रचलित विनियमों के पहले का आदेश लागू हो सकता है। उल्लेखनीय है कि यह आदेश मीडिया समूह के लिए अधिग्रहण के संघर्ष में एक निर्णायक कारक है। पिछले हफ्ते 23 अगस्त को, अडानी समूह ने वीसीपीएल का अधिग्रहण कर एनडीटीवी की 29.18% की हिस्सेदारी पाने की घोषणा की थी। वीसीपीएल के पास आरआरपीआर होल्डिंग में 99.99% हिस्सेदारी है। जबकि एनडीटीवी के प्रमोटरों का कहना है कि सेबी की मंजूरी के बिना यह सौदा आगे नहीं बढ़ाया जा सकता है।

भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड या बीपीसीएल भारत की दूसरी सबसे बड़ी तेल शोधन और ईंधन रिटेलिंग फर्म है। बीपीसीएल के चेयरमैन अरुण कुमार सिंह ने 29 अगस्त को कहा कि कंपनी 2040 तक अपने नवीकरणीय ऊर्जा के पोर्टफोलियो को बढ़ाकर 10 गीगावाट तक करने की योजना बना रही है। कंपनी के शेयरधारकों की वार्षिक बैठक में उन्होंने बताया कि बीपीसीएल विविध और निकटवर्ती और वैकल्पिक व्यवसायों में अपने कदम बढ़ा रही है, जिससे अतिरिक्त राजस्व का स्रोत मिलने के साछ-साथ तेल और गैस के कारोबार में कोई गिरावट आने पर भी मदद मिलेगी।

इस सूची की चौथी कंपनी यानी अडानी ग्रीन के नोमुरा होल्डिंग्स के क्रेडिट डेस्क विश्लेषक एरिक लियू ने हांगकांग में कहा कि गौतम अडानी की अडानी ग्रीन को अपने ऋण-से-पूंजी अनुपात को 95.3% से कम करके 60% तक लाने में मदद करेगी। कंपनी उत्तरोत्तर विकास की ओर कदम बढ़ा रही है।

कभी पहले नंबर पर रहने वाली टेलीकॉम ऑपरेटर कंपनी वोडाफोन आइडिया फिलहाल कर्ज में डूब चुकी है।। कंपनी के एक अधिकारी ने 29 अगस्त को कहा कि इस कंपनी का 5जी सेवाओं को आरंभ करना उपयोग के मामले, ग्राहकों की मांग, प्रतिस्पर्धियों की गतिशीलता आदि कई कारकों पर निर्भर होगा। 27वीं वार्षिक महासभा में वोडाफोन आइडिया के प्रबंध निदेशक और सीईओ रविंदर टाकर ने बताया कि कंपनी के प्रमोटर 4,940 करोड़ रुपये का निवेश कर चुके हैं। कंपनी धन जुटाने के लिए अपने निवेशकों से लगातार चर्चा कर रही है। वीआईएल को 18,800 करोड़ रुपए का स्पेक्ट्रम मिला है, जिसमें प्राथमिकता वाले सत्रह सर्किलों में मिड-बैंड यानी 3,300 मेगाहर्ट्ज बैंड में रेडियोवेव और 16 सर्किलों में 5जी सेवाओं के लिए 26 गीगाहर्ट्ज बैंड का स्पेक्ट्रम शामिल है। इसके शेयरों से भी आज उम्मीद की जा रही है।

इस सूची की आखिरी और देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड को यकीन है कि वह छोटे या प्रवेश स्तर पर देशी कार बाजार की एक बड़ी खिलाड़ी बनी रहेगी। वाहनों की बिक्री के कम होने पर भी कंपनी के लिए यह एक मजबूत कदम होगा। मारुति सुजुकी के अध्यक्ष भार्गव ने कहा कि आने वाले वर्षों में, ऑटोमेकर 5 लाख कारों के सेगमेंट में प्रमुख रहेगा। पिछले तीन वर्षों में कुल ऑटो सेक्टर का वॉल्यूम आधे के करीब रह गया है। फिर भी कंपनी को यकीन है कि वह आगे अपनी जगह बनाये रखने में कामयाब रहेगी। 

निवेशकों के लिए यह ज़रूरी है कि बाजार का अच्छी तरह से अध्ययन करने के बाद ही कोई निर्णय लें।

यह भी पढ़ें: 700% से अधिक रिटर्न वाले पेनी स्टॉक्स: क्या आपने निवेश किया है?

इंट्रा-डे के बारे में जानें इस वीडियो में

M Stock

संवादपत्र

संबंधित लेख