Strong performance by Penny stocks: पेनी स्टॉक का मजबूत प्रदर्शन

भारतीय शेयर बाजारों में बिकवाली के चलते गिरावट जारी है लेकिन कुछ पेनी स्टॉक ने मजबूत प्रदर्शन किया है।

शेयर बाजार और पेनी स्टॉक की स्थिति

Penny stocks: वैश्विक बाजारों की हालत देखते हुए उम्मीद की जा रही है कि मॉनिटरी पॉलिसी में सख्ती होगी। इसके चलते भारतीय शेयर बाजारों में भी बेचने का दौर चल पड़ा है। फलस्वरूप शेयर बाजार में गिरावट देखी जा रही है। जानते हैं शेयर बाजार का हाल।

उतार-चढ़ाव के दौर के चलते एक तरफ आईटीसी (ITC), इंडसइंड बैंक (IndusInd Bank) और एक्सिस (Axis Bank) बैंक में गिरावट देखी गई और ये तीनों सबसे ज्यादा नीचे गिरने वाले शेयर रहे। इस दौरान सेंसेक्स और निफ्टी50 इंडेक्स भी नीचे लुढ़के। दिन का कारोबार चलते-चलते उनकी स्थिति कुछ हद तक संभली। कल के बाजार की स्थिति देखी जाए तो बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में 0.61% गिरावट दर्ज हुई और 11:00 बजे के आसपास सेंसेक्स 56,760 अंक पर कारोबार हो रहा था। दूसरी ओर निफ्टी50 भी लुढ़का और उसमें 0.59% की गिरावट दर्ज की गई। इंडेक्स 16,907 अंक पर कारोबार कर रहा था। 

जिन शेयरों ने सेंसेक्स पर तेजी बनाए रखी वे प्रमुख रूप से थे सन फार्मास्यूटिकल्स (Sun Pharmaceuticles), डॉक्टर रेड्डीज लैबोरेटरीज (Dr Reddy’s Laboratories) और महिंद्रा और महिंद्रा (Mahindra & Mahindra)। 

यह भी पढ़ें: अस्थिर मार्केट उच्च डिविडेंड वाले स्टॉक

तेजी बनाने वाले सेक्टर 

जहाँ एक तरफ बाजार में अभी गिरावट का दौर जारी है ऐसे में रामा फॉस्फेट्स (Rama Phosphate) ने बेहतरीन प्रदर्शन किया और उसकी कीमत में 10% की तेजी देखी गई। इसी के साथ वह एक टॉप परफॉर्म करने वाला स्मॉल कैप शेयर बन गया। 

दूसरी ओर बीएसई टेलीकम्यूनिकेशन्स (BSE Telecommunications) सेक्टर में तेजी देखी जा रही है। इसका कारण आईटीआई लिमिटेड में तेजी बताया जा रहा है। कुछ मामूली बढ़ोतरी बीएसई हेल्थकेयर (BSE Healthcare) और बीएसई ऑटो (BSE Auto) में भी दर्ज की गई लेकिन बीएसई मेटल्स (BSE Metals) में नुकसान जारी है। पिछले पाँच सत्रों में कुल मिलाकर 8% से अधिक की गिरावट हो चुकी है।

विदेशी मुद्रा भंडार में कमी 

समाचारों से प्राप्त जानकारी के अनुसार विदेशी मुद्रा भंडार में कमी का दौर खत्म होने का नाम नहीं ले रहा। लगातार सातवें हफ्ते इस भंडार में कमी दर्ज की गई है। 16 सितंबर को विदेशी मुद्रा भंडार अब 545.65 अरब डॉलर मात्र शेष है। लेकिन इसी बीच आर्थिक मामलों के सचिव संजय सेठ ने बताया कि मुद्रा भंडार के कम होने से घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है। उन्होंने स्पष्ट करते हुए कहा कि वर्तमान में भारत के पास पर्याप्त मात्रा में विदेशी मुद्रा भंडार मौजूद है जिससे हालिया परिस्थितियों से मुकाबला किया जा सकता है। 

लेकिन इस उठापटक के बीच कुछ पेनी स्टॉक ऐसे हैं जिन्होंने बेहतरीन प्रदर्शन किया है और मजबूती बनाए हुए हैं। भविष्य में इन पेनी स्टॉक पर नजर बनाए रखना बहुत फ़ायदेमंद सिद्ध हो सकता है। इन चवन्नी शेयरों में 18% की तेजी देखी गई है। आने वाले दिनों में इन पेनी स्टॉक्स पर नजर रखी जा सकती है। 

यह भी पढ़ें: पेनी स्टॉक्स 700% से अधिक रिटर्न वाले

Penny stocks: वैश्विक बाजारों की हालत देखते हुए उम्मीद की जा रही है कि मॉनिटरी पॉलिसी में सख्ती होगी। इसके चलते भारतीय शेयर बाजारों में भी बेचने का दौर चल पड़ा है। फलस्वरूप शेयर बाजार में गिरावट देखी जा रही है। जानते हैं शेयर बाजार का हाल।

उतार-चढ़ाव के दौर के चलते एक तरफ आईटीसी (ITC), इंडसइंड बैंक (IndusInd Bank) और एक्सिस (Axis Bank) बैंक में गिरावट देखी गई और ये तीनों सबसे ज्यादा नीचे गिरने वाले शेयर रहे। इस दौरान सेंसेक्स और निफ्टी50 इंडेक्स भी नीचे लुढ़के। दिन का कारोबार चलते-चलते उनकी स्थिति कुछ हद तक संभली। कल के बाजार की स्थिति देखी जाए तो बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में 0.61% गिरावट दर्ज हुई और 11:00 बजे के आसपास सेंसेक्स 56,760 अंक पर कारोबार हो रहा था। दूसरी ओर निफ्टी50 भी लुढ़का और उसमें 0.59% की गिरावट दर्ज की गई। इंडेक्स 16,907 अंक पर कारोबार कर रहा था। 

जिन शेयरों ने सेंसेक्स पर तेजी बनाए रखी वे प्रमुख रूप से थे सन फार्मास्यूटिकल्स (Sun Pharmaceuticles), डॉक्टर रेड्डीज लैबोरेटरीज (Dr Reddy’s Laboratories) और महिंद्रा और महिंद्रा (Mahindra & Mahindra)। 

यह भी पढ़ें: अस्थिर मार्केट उच्च डिविडेंड वाले स्टॉक

तेजी बनाने वाले सेक्टर 

जहाँ एक तरफ बाजार में अभी गिरावट का दौर जारी है ऐसे में रामा फॉस्फेट्स (Rama Phosphate) ने बेहतरीन प्रदर्शन किया और उसकी कीमत में 10% की तेजी देखी गई। इसी के साथ वह एक टॉप परफॉर्म करने वाला स्मॉल कैप शेयर बन गया। 

दूसरी ओर बीएसई टेलीकम्यूनिकेशन्स (BSE Telecommunications) सेक्टर में तेजी देखी जा रही है। इसका कारण आईटीआई लिमिटेड में तेजी बताया जा रहा है। कुछ मामूली बढ़ोतरी बीएसई हेल्थकेयर (BSE Healthcare) और बीएसई ऑटो (BSE Auto) में भी दर्ज की गई लेकिन बीएसई मेटल्स (BSE Metals) में नुकसान जारी है। पिछले पाँच सत्रों में कुल मिलाकर 8% से अधिक की गिरावट हो चुकी है।

विदेशी मुद्रा भंडार में कमी 

समाचारों से प्राप्त जानकारी के अनुसार विदेशी मुद्रा भंडार में कमी का दौर खत्म होने का नाम नहीं ले रहा। लगातार सातवें हफ्ते इस भंडार में कमी दर्ज की गई है। 16 सितंबर को विदेशी मुद्रा भंडार अब 545.65 अरब डॉलर मात्र शेष है। लेकिन इसी बीच आर्थिक मामलों के सचिव संजय सेठ ने बताया कि मुद्रा भंडार के कम होने से घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है। उन्होंने स्पष्ट करते हुए कहा कि वर्तमान में भारत के पास पर्याप्त मात्रा में विदेशी मुद्रा भंडार मौजूद है जिससे हालिया परिस्थितियों से मुकाबला किया जा सकता है। 

लेकिन इस उठापटक के बीच कुछ पेनी स्टॉक ऐसे हैं जिन्होंने बेहतरीन प्रदर्शन किया है और मजबूती बनाए हुए हैं। भविष्य में इन पेनी स्टॉक पर नजर बनाए रखना बहुत फ़ायदेमंद सिद्ध हो सकता है। इन चवन्नी शेयरों में 18% की तेजी देखी गई है। आने वाले दिनों में इन पेनी स्टॉक्स पर नजर रखी जा सकती है। 

यह भी पढ़ें: पेनी स्टॉक्स 700% से अधिक रिटर्न वाले

Expert Article block example

संवादपत्र

संबंधित लेख