Tumbledry Success Story gaurav nigam dry cleaning startup increasing day by day, today there are 585 stores across the country in hindi

अच्छी-खासी नौकरी छोड़ शुरू किया स्टार्ट अप, ऐसा चला की देश भर में छा गया। पढ़ें गौरव निगम के टम्बलड्राई की कहानी।

Tumbledry Success Story

Startup Success Story: मेहनत और खुद पर भरोसा हो तो बड़े से बड़ा काम आसानी से किया जा सकता है। लखनऊ के रहने वाले गौरव निगम ने भी कुछ ऐसा ही कर दिखाया। गौरव के पास लाखों की सैलरी वाली शानदार नौकरी थी लेकिन इसके बावजूद उन्होंने कुछ अलग करने की ठानी और ड्राईक्लीनिंग के क्षेत्र में स्टार्ट अप टम्बलड्राई की स्थापना की। 

लखनऊ के ला मार्टिनियर कॉलेज से बी कॉम और पुणे के सिम्बोसिस से एमबीए की पढ़ाई करने के बाद गौरव ने 12 साल तक टेलीकॉम कंपनी एयरटेल में जॉब की। इसके बाद मोबाइल निर्माता कंपनी लावा में प्रोडक्ट हेड बनकर काम किया। इसी दौरान उन्होंने नवीन चावला के साथ मिलकर टम्बलड्राई की शुरुआत की जो देश भर में ड्राई क्लीन स्टोर चलाती है। 

टम्बल ड्राई शुरू करने से पहले गौरव ने ताज होटल, ओबरॉय होटल  जैसे कई बड़े होटलों के ड्राई क्लीनिंग विंग के बारे में जानकारी इकट्ठी की। यहां तक की उन्होंने दुबई के ड्राई क्लीनिंग स्टोर का भी मुआयना किया। ड्राईक्लीनिंग सेक्टर को गौरव असंगठित से संगठित क्षेत्र में लाए। टम्बलड्राई में उन्होंने देश-दुनिया की एक से बढ़कर एक मशीनों का इस्तेमाल किया है। उनकी कंपनी में इलेक्ट्रोलक्स, डोमस से मशीनें, ट्रेविल की स्टीम प्रेस, वाशिंग अजेंट के लिए सेइट्ज का केमिकल यूज होता है। 

अभी देखा जाए तो गौरव के स्टार्टअप को सिर्फ 4 साल हो रहे हैं और इतने कम समय में भारत के 180 से ज्यादा शहरों में 585 ड्राईक्लीन स्टोर चल रहे हैं। उनका बिजनेस लगातार बढ़त ही जा रहा है। बीते साल टम्बलड्राई ने 116 करोड़ रुपये की कमाई की है। 

संवादपत्र

संबंधित लेख