आईपीओ अलॉटमेंट की संभावना कैसे बढ़ाएं

यहां कुछ तरीके दिए गए हैं, जो आपको अधिक आसानी से अच्छा से अच्छा आईपीओ दिलाने में मदद कर सकते हैं।

आईपीओ नहीं मिलने से मायूस हैं, तो ये 7 तरीके अपनाएं

आईपीओ (आरंभिक सार्वजनिक पेशकश) में निवेश करना जितना आसान लगता है, उससे कहीं अधिक कठिन हो सकता है, क्योंकि कई बार आईपीओ मिलने की संभावना बहुत कम हो सकती है। लेकिन, सब कुछ भाग्य पर छोड़ देने और बाद में निराश होने के बजाय, आप आवंटन की संभावनाओं को बढ़ाने के लिए कुछ तरीके अपना सकते हैं। आईपीओ आवंटन के अवसरों को कैसे बढ़ाया जाए, यह जानने के लिए आगे पढ़ें।

आईपीओ हासिल करने की संभावना बढ़ाने के लिए टिप्स

  • ज्यादा बोली लगाने से बचें: अगर आप आईपीओ अलॉटमेंट की संभावना बढ़ाना चाहते हैं तो इसका जवाब ज्यादा बोली लगाना नहीं हो सकता है। इसलिए ज्यादा बोली लगाने का सीधा कोई लाभ नहीं मिलेगा, जब तक कि बड़े आईपीओ के लिए आप आवेदन नहीं कर रहे हों। 

यह भी पढ़ें: IPO दीवानगी: क्या आप IPO से संबंधित इन प्रमुख शब्दों के बारे में जानते हैं?

  • बोली लगाने के लिए अंतिम क्षणों का इंतजार ना करें: अंतिम क्षण तक इंतजार करने से चीजें जटिल हो सकती हैं। आईपीओ के लिए पहले दो दिनों के भीतर आवेदन करने की सलाह दी जाती है। इससे अंतिम दिन आवेदन करना भूल जाने, तकनीकी खराबी का सामना करने या अंतिम समय में भारी ट्रैफिक से निपटने की आशंका समाप्त हो जाती है। 
  • हमेशा कट-ऑफ मूल्य पर बोली लगाएं : कट-ऑफ मूल्य पर बोली लगाने से आईपीओ मिलने की संभावना बढ़ सकती है, क्योंकि यह उस कीमत पर स्टॉक खरीदने की आपकी इच्छा को दर्शाता है। यदि आप कट-ऑफ से कम कीमत पर बोली लगाते हैं, तो इससे आपके आईपीओ आवंटन की संभावना कम हो सकती है। 
  • एक से अधिक डीमैट खाते से आवेदन करें: यदि आप सोच रहे हैं कि आईपीओ के लिए आवेदन कैसे किया जाए, तो यह डीमैट खाते के माध्यम से किया जा सकता है। हालांकि, एक पैन पर एक ही आईपीओ के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसलिए, आवंटन की संभावना बढ़ाने के लिए, आप अपने परिवार के सदस्यों या दोस्तों के पैन से जुड़े अन्य डीमैट खातों से उसी आईपीओ के लिए आवेदन कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: विभिन्न प्रकार के आईपीओ निवेशक

  • मूल कंपनी में शेयर खरीदें: मूल कंपनी के शेयरों के लिए आवेदन करने से आप शेयरधारक श्रेणी में आ जाते हैं और आईपीओ आवंटन के दौरान इसका अधिक भार होता है। यहां तक कि एक ही डीमैट खाते से मूल कंपनी का एक भी शेयर खरीदने से आपके मौके काफी हद तक बढ़ सकते हैं।
  • सभी विवरणों को ध्यान से सत्यापित करें: आईपीओ के अंतिम चरण में अपने सभी विवरणों को जमा करने से पहले सत्यापित करना है। अपना नाम, ईमेल पता, डीमैट खाता संख्या, पैन, निवेशक की श्रेणी और अन्य संबंधित विवरणों पर ध्यान दें। यदि आपके आवेदन में कोई त्रुटि है, तो आप उस आईपीओ से चूक सकते हैं। इसलिए, सुनिश्चित करें कि आपने जो जानकारी दी है, उसमें किसी तरह की त्रुटि हो तो उसे सुधार दें। 
  • मैंडेट रिक्वेस्ट को अप्रूव करना याद रखें: आईपीओ के लिए अप्लाई करना सिर्फ आधा काम है। आपको मैंडेट अनुरोध को भी स्वीकार और स्वीकृत करना होगा। जब आप आईपीओ के लिए आवेदन करते हैं, तो ब्रोकर या बैंक आपको एक मैंडेट अनुरोध भेजेंगे। आईपीओ आवंटन के लिए विचार करने के लिए आपको इसे स्वीकृत करना होगा। 

यह भी पढ़ें: आईपीओ एनएफओ से कैसे अलग है? 

आखिरी शब्द

अब आप जब जान गए कि आईपीओ के लिए सही तरीके से कैसे अप्लाई किया जाए, तो आगे बढ़ें और बाजार में आने वाले आईपीओ में आत्मविश्वास के साथ बोली लगाएं। ध्यान रखें कि आवंटन प्राप्त करने का कोई गारंटीकृत तरीका नहीं है; आपका भाग्य एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। हालांकि, इस लेख में बताए गए तरीके अपनाने से आपकी संभावना बढ़ सकती है।

संवादपत्र

संबंधित लेख