स्‍मॉलकेस या म्‍युचुअल फंड्स: कौन सा बेहतर निवेश है? | Which is a better investment: Smallcase or mutual fund?

पता करें कि क्‍या स्‍मॉलकेसेस एक निवेश विकल्‍प के रूप में म्‍युचुअल फंड्स की जगह पूरी तरह से ले सकता है, और दोनों कैसे अलग हैं।

कौन बेहतर निवेश है: स्‍मॉलकेस या म्‍युचुअल फंड?

स्मॉलकेस को 2015 में एपोंइमोस फिनटेक कंपनी द्वारा स्टॉक निवेश के एक नए रूप के रूप में शुरू किया गया था। लेकिन स्मॉलकेस क्या है? खैर, वे स्टॉक के उपयोग के लिए तैयार मिश्रण प्रदान करते हैं। स्मॉलकेस टेक्नोलॉजीज़, कंपनी, विभिन्न स्मॉलकेस प्रदान करती है, और इस सिद्धांत को अन्य ब्रोकर्स द्वारा तेजी से दोहराया गया जिन्होंने कंपनी के सहयोग से अपने स्‍मॉलकेसेस पेश किए। म्यूचुअल फंड निवेश क्या है? यह एसेट्स में निवेश करता है जबकि निवेशकों को म्‍युचुअल फंड स्‍कीम की यूनिट्स ऑफर करता है।। इसलिए, म्यूचुअल फंड के विपरीत, स्‍मॉलकेसेस में आपको शेयर में निवेश करने को मिलता है न कि म्यूचुअल फंड यूनिट्स में।

निवेश का आम दृष्टिकोण

जबकि स्मॉलकेसेस और म्यूचुअल फंड काफी अलग हैं, लेकिन कुछ समानताएं भी हैं। दोनों स्टॉक के संग्रह हैं, हालांकि म्यूचुअल फंड बॉन्ड और अन्य एसेट्स में भी निवेश कर सकते हैं। दोनों का लक्ष्य  चुनिंदा शेयरों में निवेशक के पैसे में विविधता लाना है। दोनों निवेश के रास्ते की पहचान करने के लिए विशेषज्ञों और अनुसंधान की मदद लेते हैं।

स्‍मॉलकेस बनाम म्‍युचुअल फंड्स

स्मॉलकेस बनाम म्यूचुअल फंड की तुलना में, हम देख सकते हैं कि ऐसे कई तरीके हैं जिनमें ये एक दूसरे से अलग हैं:

  • निवेशक के पास क्या होता है: स्मॉलकेस निवेशकों का उन शेयरों पर स्वामित्व होता है जो स्मॉलकेस पोर्टफोलियो का हिस्सा होते हैं। एक म्यूचुअल फंड निवेशक के पास म्यूचुअल फंड स्‍कीम की यूनिट्स होती है, जो बदले में शेयरों और अन्य एसेट्स में निवेश करता है।
  • निवेश की लागत: स्मॉलकेस ब्रोकर प्रत्येक लेनदेन पर एक छोटा प्रतिशत चार्ज करते हैं, आमतौर पर 0.2%। यह शेयरों में निवेश का एक सस्ता तरीका है। लागत के अनुसार, स्मॉलकेस में निवेश कैसे करें, यह मोटे तौर पर शेयरों में निवेश करने जैसा ही है। एसेट मैनेजमेंट कंपनियां (एएमसी) म्यूचुअल फंड में आपके द्वारा किए गए निवेश पर एक एक्‍पेंस रेशिओ काटती हैं। यह काफी अधिक प्रतिशत (लगभग 1% -2%) होता है। डायरेक्ट म्यूचुअल फंड में कुल एक्‍पेंस रेशिओ नियमित स्‍कीम्‍स की तुलना में लगभग 0.5% कम होता है, हालांकि यह हर स्‍कीम के लिए भिन्‍न होता है।
  • न्‍यूनतम निवेश: स्मॉलकेसेस में आप अलग-अलग शेयर्स में निवेश करते हैं। इसलिए, आपके द्वारा खरीदे गए शेयर्स के बाजार मूल्य के आधार पर आपके निवेश की राशि अधिक होगी। कम मूल्‍य वाले स्‍मॉलकेस लगभग 5000 रुपये के हो सकते हैं, जबकि अन्य छह अंकों तक जा सकते हैं। म्यूचुअल फंड में निवेश तुलनात्मक रूप से कम पूंजी वाला होता है। यदि आप सिस्‍टमैटिक इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लान (एसआईपी) चुनते हैं, तो न्यूनतम निवेश 500 रुपये जितना कम हो सकता है। म्यूचुअल फंड छोटे निवेशकों के लिए ज्‍यादा अनुकूल होता हैं।
  • निवेश पर नियंत्रण:स्मॉलकेस निवेशकों की शेयरहोल्डिंग उनके डीमैट अकाउंट में दिखाई देती है। इसलिए, उनकी अपने निवेश पर बेहतर दृश्यता होती है और अपनी एक्जिट रणनीति पर नियंत्रण होता है। म्यूचुअल फंड में, निवेश पर आपका सक्रिय नियंत्रण नहीं होता है। फंड मैनेजर आपकी ओर से निवेश करता है, जबकि आप शुरुआत में ही स्कीम का प्रकार चुन सकते हैं।
  • एग्ज़िट लोड: स्मॉलकेस में कोई एग्ज़िट लोड या लॉक-इन पीरियड नहीं होता है। निवेशक चार्ज और पैनल्‍टी की चिंता किए बिना अपनी मर्जी से स्मॉलकेस में एंटर और एग्ज़िट कर सकते हैं। म्युचुअल फंड (हालांकि उनमें से सभी नहीं) में लॉक-इन पीरियड हो सकता है। इसके अलावा, यदि म्युचुअल फंड निवेशक आमतौर पर एक वर्ष के दौरान लॉक-इन अवधि में निवेश को रिडीम करता है, तो 1% -2% का एग्ज़िट लोड लग सकता है। इक्विटी लिंक्ड सेविंग स्कीम का लॉक-इन पीरियड तीन साल का होता है।  
  • रिटर्न और जोखिम: सीखने के नज़रिए के कारण, स्‍मॉलकेस निवेश पर बाजार की अस्थिरता का अधिक प्रभाव पड़ता है। शेयर्स का पिछला प्रदर्शन उनके भविष्य के रिटर्न की गारंटी नहीं है। इसलिए, स्मॉलकेस निवेशक को अपने निवेश की निगरानी करनी होगी और आगे के निवेश पर निर्णय लेना होगा या उसके अनुसार एग्ज़िट करना होगा। उन्हें यह समझना होगा कि स्मॉलकेस निवेश क्या है और इसमें बेहतर तरीके से कैसे निवेश करें। स्मॉलकेस निवेश में म्यूचुअल फंड की तरह विविधता नहीं होती हैं और कोई प्रतिरक्षा रणनीति नहीं अपनाते हैं। म्युचुअल फंड तुलनात्मक रूप से बाजार से अधिक जुड़े हुए हैं क्योंकि फंड मैनेजर बाजार की गतिविधियों के जवाब में होल्डिंग पैटर्न को सक्रिय रूप से बदलता है। इसके अलावा, म्यूचुअल फंड बाजार के जोखिमों को कम करने के लिए गोल्‍ड और डेरिवेटिव के साथ बचाव भी प्रदान करते हैं।

स्मॉलकेस एक हालिया घटना है और उनके रिटर्न स्टॉक पोर्टफोलियो के प्रदर्शन को दर्शाते हैं, इसलिए यहां मध्यम जोखिम वाले इक्विटी फंड के चुने गए सैंपल का सांकेतिक रिटर्न दिया गया है।

 

चुने गए मध्‍यम जोखिम वाले इक्विटी रिटर्न के लिए औसत रिटर्न

1 साल

12.76%

3 साल

12.06%

5 साल

18.60%

 

अंतिम शब्‍द

चुनिंदा निवेश के माध्यम के रूप में, स्मॉलकेस और म्यूचुअल फंड दोनों विभिन्न निवेशकों के वित्तीय लक्ष्यों को पूरा करते हैं। एक सक्रिय निवेशक जो शेयर बाजार में अधिक भागीदारी चाहता है, वह अधिक पारदर्शी स्‍मॉलकेस में निवेश करना पसंद करेगा। कोई व्यक्ति जो फंड मैनेजर की विशेषज्ञता पर भरोसा करते हुए निष्क्रिय रूप से निवेश करना चाहता है, वह म्यूचुअल फंड को चुनेगा।

छोटे निवेशकों के लिए म्युचुअल फंड भी एक बेहतर विकल्प है क्योंकि उन्हें कम पूंजी लागत की आवश्यकता होती है। एक निश्‍चिंत निवेशक जिसे रिटर्न को अधिकतम करते हुए जोखिम लेने में खुशी होती है, और ऐसा करते समय निवेश की कम लागत चाहता है, वह स्‍मॉलकेस को पसंद करेगा। इसलिए, स्मॉलकेस और म्यूचुअल फंड दोनों ही निवेश के अच्छे विकल्प हैं। चुनाव आपकी विशिष्ट निवेश रणनीति, लक्ष्य और जोखिम उठाने की क्षमता पर निर्भर करेगा।

अस्वीकरण: यह लेख केवल सामान्य जानकारी देने के उद्देश्यों के लिए है और इसे निवेश या टैक्‍स या कानूनी सलाह के रूप में नहीं माना जाना चाहिए। इन क्षेत्रों में निर्णय लेते समय आपको अलग से स्वतंत्र सलाह लेनी चाहिए।

संवादपत्र

संबंधित लेख