क्या महिलाओं को संयुक्त बैंक खाते का चयन करना चाहिए?

क्या महिलाओं को संयुक्त बैंक खाते का चयन करना चाहिए? अपने बैंक खाते को अपने साथी के खाते से जोड़ने के फ़ायदे एवं नुक़सान का मूल्यांकन कीजिए ताकि 1 सही निर्णय लिया जा सके।

Women should opt joint bank a/c

एक विवाहित जोड़े द्वारा जो चुनौतियां सामने आती हैं उसमें निजी वित्तों को संभालना शुरुआती चुनौती है। पहले, है जब दो लोगों का विवाह होता था तो यह माना जाता था कि वह एक संयुक्त बैंक खाता द्वारा ही अपने वित् का प्रबंधन करेंगे। इसे प्रेम और समर्थन का प्रतीकात्मक संकेत 


माना जाता था ।परन्तु जैसे जैसे हम इक्कीसवीं सदी की ओर बढ़े हैं , इस तरह की वित्तीय निर्णयों को अलग नज़रिए से देखा जा रहा है।
 जब बात अपने साथी के साथ संयुक्त बैंक खाता खोलने की होती है, तो लोगों ने इस पर सवाल उठाने शुरू कर दिए और वह अचंभित होते हैं कि क्या यह ज़रूरी है। चलिए इसका जवाब ढूँढने में आपकी मदद करते हैं । आगे पढ़िए और जानिए, एक संयुक्त बैंक खाते के फ़ायदे व नुक़सान।
 
 

फ़ायदे: 
 
• जोड़े आम तौर पर, सभी बिलों, मॉर्टगेज भुगतानों और घरेलू खर्चों को विभाजित करने की योजना बनाते हैं। एक संयुक्त बैंक खाता ऐसे मामलों में अद्भुत काम करता है जिससे कि आपको ज़्यादा पैसा साझा नहीं करना होता न ही ध्यान रखना होता है की किस बिल का भुगतान किसे करना चाहिए। सिर्फ़ एक ही खाते से, आपके सारे भुगतानों का ध्यान रखा जा सकता है। यह ध्यान रखते हुए कि दोनों साथी इन खर्चों में अपना अपना योगदान ठीक से कर रहे हैं। 
 
 

• अगर कभी आपके साथ ही दुर्भाग्यपूर्ण मृत्यु हो जाती है, तो भी आप को फंड्स को पाने के लिए चिंता करने की ज़रूरत नहीं होगी क्योंकि आप दोनों का एक संयुक्त खाता है और आप दोनों के पास उस खाते को उपयोग करने की बराबर की भागीदारी है ।
 
 

•  यह खाता ऐसी महिलाओं के लिए एक वरदान स्वरूप हैं जिनकी स्वयं की आय का कोई स्रोत नहीं हैं। वे अपने साथी की आय पर निर्भर रहती है। अगर आपका संयुक्त खाता नहीं है, तो ज़रूरी काग़ज़ी कार्यवाही होने तक आप खाते के उपयोग से वंचित रहेंगे।
 
 

• खर्चों का ख़याल रखना जल्द ही बहुत व्यस्त पुण हो जाता है। अगर आपका और आपके साथ ही का एक संयुक्त खाता है, तो आप दोनों ही अपने ख़र्चे का आसानी से आंकलन कर सकते हैं। इससे आपके लिए अधिक खर्चों को देखने ,समझने एवं घटाने में आसानी होती है।
 
 

• अगर आप ये आपके साथ ही ख़र्चीले हैं, तो एक संयुक्त खाता, आप दोनों के लिए फ़ायदेमंद है। 

यह खाता आपको और आपके साथी को अपने खर्चों पर बारीकी से निगरानी रखने में सहायता करेगा ताकि एक दूसरे के खर्चों पर आप नज़र रख सके।
 

नुक़सान: 
 

• जब किसी के साथ, एक बैंक खाता खोलने की बात आती है, तो नवविवाहित जोड़ों के लिए यह एक निर्भरता का मामला बन सकता है। ख़ास तौर पर नई पीढ़ी के लिए। अगर दोनों साथी के पास अपनी अपनी अलग आय का स्रोत है, तो उसे किसी के साथ भी साझा करने में उन्हें असुविधा हो सकती है और अभी तक,  आपको अपने खर्चों का जवाब किसी को नहीं देना होता होगा, पर एक संयुक्त खाता इस सोच को भी बदल सकता है।

• अगर आपका रिश्ता यह शादी नहीं टिक पाती है इस खाते से पैसे के बँटवारे को लेकर बहस छिड़ सकती है।

• जब दो व्यक्ति एक संयुक्त खाता चलाते हैं, दोनों को उस खाते से कभी भी पूरी रक़म निकालने का बराबर का हक़ होता है। एक साथ ही अपने दूसरे साथी को खाते से बाहर रखने का निर्णय भी कर सकता है। अगर आपकी सारी रकम इस खाते में थी, तो यह आपके लिए काफ़ी मुश्किलें भी ला सकता है।

• अगर आप और आपके साथ ही पर ऋण हैं, और आपके पास सिर्फ़ यह संयुक्त खाता है तो सारे ऋण इस खाते से ही चुकाए जाने होंगे। आपके लिए इसका मतलब यह हुआ कि यदि किसी महीने में आपके साथ ही ने ज़्यादा ख़र्च कर दिया है तो आपकी आय का हिस्सा, ऋण चुकाने के लिए उपयोग में आएगा। इस व्यवस्था सेहर कोई संतुष्ट नहीं होता।

 
 

शादी ये रिश्ते के शुरुआती समय में ही यह चयन करना महिलाओं के लिए सही होगा कि उन्हें अपने साथी के साथ संयुक्त खाता चाहिए या नहीं। आपको विवाह से पहले भी इस पर बातचीत


कर सकती है। बहुत से जोड़े जिनका एक संयुक्त खाता है, उनका निजी खाता भी होता है।  वह संयुक्त खाते का उपयोग बिल के भुगतान एवं आम खर्चों के लिए रखते हैं जबकि निजी खाता,निजी काम के लिए रखते हैं।

संबंधित लेख

Most Shared