सेवानिवृति योजना

ताजा लेख

सबसे प्रचलित

ल‍ड़कियों की मदद के लिए सरकार की 6 पहलें

यहां कुछ सरकारी योजनाएं दी गई हैं जो विशेष रूप से लड़कियों के उज्ज्वल भविष्य की योजना बनाने के लिए तैयार की गई हैं

आपके रिटायरमेंट के बाद आप इन निवेश विकल्पों पर विचार कर सकते हैं

यह लेख निवेश विकल्पों की सूची दर्शाता है जो रिटायर लोगों के बीच काफ़ी लोकप्रिय है । यह निवेश विकल उच्च रिटर्न और कम जोखिम को ध्यान में रखते हुए रिटायर्ड लोगों के लिए बनाया गया है, यह ध्यान रखते हुए कि उनके पास कोई सक्रिय आय के स्त्रोत नहीं है।

महिलाओं के खुशहाल सेवानिवृत्‍त जीवन के लिए 8 निवेश विकल्‍प​

एक महिला होने के नाते, हमारे लिए आर्थिक रूप से स्वतंत्र होना बहुत ही महत्वपूर्ण है, और उतना ही जरूरी एक तनाव मुक्त भविष्य के लिए योजना तैयार करना है, जिससे कि हम अपने स्वर्णिम दिनों में राजसी ठाठ के साथ जी सकें।

मिलिए ,5 भारतीय महिलाओं से जिन्होंने रूढ़िवाद से बाहर कदम रखा

आप जीवन में वह पाते हैं जिससे आप माँगने की हिम्मत रखते हैं”-ओपेरा विन्फ़्रे

रिटायरमेंट के बाद टैक्स लाभ

आयकर कानून के तहत रिटायरमेंट लाभ जैसे पीएफ, पेंशन, ग्रैच्युइटी और दूसरे लाभों पर टैक्स नहीं लगता है। रिटायरमेंट के बाद टैक्स के झंझट से बचने के लिए यहां दिए गए उपयुक्त टैक्स नियमों को पढ़ें।

पेंशन प्लान के प्रकार और उनके टैक्स लाभ

पेंशन प्लान खरीदने के पहले जरूरी है कि आप जानें कि पेंशन प्लान कैसे काम करते हैं और इन प्लान के कौन से टैक्स लाभ हैं।

शीर्ष पाँच रिटायरमेंट की चिंताएं और उनसे कैसे निपटा जाए

रिटायरमेंट एक व्यक्ति के जीवन का अद्भुत समय हो सकता है, परंतु यदि आप सावधान ना रहे तो यह कुछ अस्थिरता भी ला सकता है। यहाँ दी गई कुछ चिंताएं हैं जिन पर आप रिटायर होने से पहले ध्यान दें ।

ईपीएफ में आपके योगदान में कमी से आपकी रिटायरमेंट बचत पर क्या प्रभाव पड़ेगा?

ईपीएफ में आपके योगदान को (12% से 10%) करने का आपके वेतन, रिटायरमेंट राशि और कॉस्ट-टू-कंपनी पर क्या प्रभाव पड़ेगा।