महिलाओं के खुशहाल सेवानिवृत्‍त जीवन के लिए 8 निवेश विकल्‍प​

एक महिला होने के नाते, हमारे लिए आर्थिक रूप से स्वतंत्र होना बहुत ही महत्वपूर्ण है, और उतना ही जरूरी एक तनाव मुक्त भविष्य के लिए योजना तैयार करना है, जिससे कि हम अपने स्वर्णिम दिनों में राजसी ठाठ के साथ जी सकें।

महिलाओं के लिए 8 निवेश विकल्‍प यह सुनिश्चित करने के लिए कि उनका रिटायरमेंट फंड लंबे समय तक चले

एक महिला होने के नाते, हमारे लिए आर्थिक रूप से स्वतंत्र होना बहुत ही महत्वपूर्ण है, और उतना ही जरूरी एक तनाव मुक्त भविष्य के लिए योजना तैयार करना है, जिससे कि हम अपने स्वर्णिम दिनों में राजसी ठाठ के साथ जी सकें। 

तो एक बेहतर कल के लिए बुद्धिमानी पूर्वक निवेश को हम कैसे सुनिश्चित कर सकते हैं?

महिलाएं सुनिये; हम आपके लिए आठ निवेश विकल्‍प लेकर आए हैं। पूरा पढि़ए और देखिए कौन सा विकल्‍प आपके लिए एकदम सही है। 
 

महिलाओं के खुशहाल सेवानिवृत्‍त जीवन के लिए 8 निवेश विकल्‍प

1. नेशनल पेंशन स्‍कीम

सरकार द्वारा उपलब्‍ध कराई गई इस स्‍कीम का उद्देश्‍य 60 वर्ष की उम्र के बाद ग्राहकों को पेंशन आय प्रदान करना है। यह दो निवेश विकल्‍प प्रस्‍तुत करता है- ऑटो एवं एक्टिव। ऑटो मोड के तहत, पेंशन फंड प्राधिकरण आपकी निवेश अवधि के आधार पर आपके कॉर्पस का प्रबंधन और आवंटन करता है। एक्टिव मोड के साथ आप निम्‍न से मध्यम जोखिम तक के तीन विकल्पों में से एक को चुन सकते हैं।

2. पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ) 

बरसों से परखा गया यह रिटायरमेंट प्रोडक्‍ट कर मुक्‍त आय का लाभ प्रदान करता है। 15 वर्ष की लॉक-इन अवधि में, कंपाउंडिंग की शक्ति निवेश अवधि में एक बड़ा को‍ष तैयार करने में आपकी मदद करती है। 

3. अटल पेंशन योजना (एपीवाय)

एपीवाय एक विलंबित पेंशन योजना है जो 1000 रुपये से 5000 रुपये तक मासिक पेंशन प्रदान करती है। आप जितनी पेंशन चाहते हैं उसी आधार पर प्रीमियम की गणना होती है। यह स्‍कीम 20 वर्षों से अधिक निवेश के लिए एक निश्चित दर की गारंटी देती है। 

4. म्‍युचुअल फंड्स

अधिकांश फंड हाउस रिटायरमेंट केंद्रित म्‍युचुअल फंड्स पेश करते हैं, जिसमें डेट एवं इक्विटी का मिश्रण होता है। आपमें से जो इक्विटी में निवेश करना चाहते हैं और महंगाई दर से अधिक रिटर्न प्राप्‍त करना चाहते हैं, वे इस प्रकार के फंड के बारे में विचार कर सकते हैं। इस प्‍लान में तीन साल का लॉक इन पीरिएड होता है, और 58 साल की उम्र के बाद आप फंड से आय प्राप्त करने के लिए एक सिस्‍टमैटिक विड्रॉल प्‍लान बना सकते हैं। 

5. यूनिट-लिंक्‍ड पेंशन प्‍लान

यूनिट-लिंक्‍ड पेशन प्‍लान तीन लाभ प्रदान करता हैं- इक्विटी में निवेश के साथ इंश्‍योरेंस और आपके निवेश पर मध्‍यम से उच्‍च रिटर्न। हालांकि इंश्‍योरेंस और फंड प्रबंधन लागत आपके कॉर्पस में सेंध लगाते है, फिर भी फंड आमतौर पर 'सुनिश्चित लाभ' प्रदान करता है। निवेश अवधि के दौरान आप आंशिक निकासी कर सकते हैं, वहीं शेष राशि एक एन्‍युटी प्‍लान में चली जाती है। 

6. सीनियर सिटीज़न सेविंग स्‍कीम (एससीएसएस)

सिर्फ सेवानिवृत्‍त लोगों (अधिकतम 15 लाख रुपए तक) के लिए उपलब्‍ध, एससीएसएस का लाभ किसी भी डाकघर या बैंक के माध्यम से उठाया जा सकता है। इसमें प्रत्‍येक तिमाही में ब्याज का भुगतान किया जाता है और अपने रिटायरमेंट कॉर्पस में निवेश करने की इच्‍छुक महिलाओं के लिए यह एक अच्छा विकल्प है।

7. टैक्‍स-फ्री बॉण्‍ड्स

सरकारी द्वारा समर्थित संस्‍थाएं जैसे कि राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण, पावर फाइनेंस कॉर्पोरेशन इत्‍यादि एएए रेटेड दीर्घकालिक बाण्‍ड (10 से 20 सालों के लिए) पेश करते हैं। ये पारंपरिक जमाओं से अधिक टैक्‍स-फ्री यील्‍ड प्रदान करते हैं।

8. पोस्‍ट ऑफिस मंथली इनकम स्‍कीम (पीओएमआईएस)

यह पंचवर्षीय निवेश स्‍कीम मासिक आय प्रदान करती है जिसे सीधे आपके खाते में जमा किया जा सकता है या यदि आप चाहें तो किसी अन्य रेकरिंग डिपॉजिट खाते में भेजा जा सकता है। इस स्‍कीम में व्‍यक्तिगत निवेशकों के लिए अधिकतम निवेश सीमा 4.5 लाख रुपये है। यह कोई टैक्‍स लाभ प्रदान नहीं करती है। 

यहां दी गई विकल्पों की सूची संपूर्ण नहीं है और कोई भी निवेश ऐसा नहीं है जो आपकी सभी जरूरतों को पर्याप्त रूप से पूरा कर सके। टैक्‍स लाभ के लिए कुशलतापूर्वक योजना बनाने और आवश्‍यकतानुसार फंड की प्राप्ति के अतिरिक्‍त, यह जरूरी है कि अपने रिस्‍क प्रोफाइल, निवेश अवधि और बचत की अवधि के आधार पर अपना रिटायरमेंट फंड तैयार करें। 
 

संबंधित लेख

Most Shared