8 स्थिति जिसमें आप अपना पी.एफ. जल्दी निकाल सकते हैं

हालांकि पी.एफ. की समयपूर्व निकासी प्रतिबंधित है, लेकिन ऐसी परिस्थितियां हैं जिनके तहत आप अपने पी.एफ. कोष से निकासी कर सकते हैं।

8 स्थिति जिसमें आप अपना पी.एफ. जल्दी निकाल सकते हैं

कोई व्यक्ति सेवानिवृत्ति के बाद के लाभों के उद्देश्य से भविष्य निधि (पी.एफ.) में बचत करता है। यही कारण है कि विशेषज्ञ आमतौर पर आपके पी.एफ. से समय से पहले निकासी के खिलाफ सलाह देते हैं। यह न केवल आपके सेवानिवृत्ति कोष को नष्ट करता है, बल्कि इसे खाताधारक के हाथों में आय के रूप में भी माना जाता है जिससे यह आयकर देयता को आकर्षित करता है।

फिर भी,मैच्योर होने से पहले अपने पी.एफ.खाते से पैसा निकालना संभव है। कुछ शर्तों के अधीन ,निकासी नियमों में हालिया बदलावों के कारण, अब आपके पी.एफ. खाते से पैसे निकालना और भी सुविधाजनक हो गया है। हालांकि,निकासी केवल विशिष्ट परिस्थितियों में की जा सकती है। आइए हम देखें कि वे क्या हैं।

1. विवाह

कर्मचारी के अपने पी.एफ.में योगदान का 50% हिस्सा परिवार में शादी के खर्चों को पूरा करने के लिए निकाला जा सकता है। शादी करने वाले कर्मचारी या उनका बेटा, बेटी, भाई या बहन होना चाहिए। इसके लिए पात्र होने के लिए कर्मचारी को न्यूनतम 7 साल से कार्यरत होना चाहिए।

2. शिक्षा

यदि कर्मचारी को उच्च शिक्षा के लिए धन की आवश्यकता होती है, तो वे अपने योगदान का 50% तक पी.एफ. में से निकाल सकते हैं। इस मामले में निकासी के लिए आवश्यक कार्यरत वर्षों की संख्या भी 7 है। लाभार्थियों में स्वयं कर्मचारी या उनके बच्चे (कक्षा 10 के बाद) होने चाहिए।

3. घर / जमीन की खरीद

पी.एफ. निकासी की अनुमति जमीन खरीदने या घर बनाने के लिए दी जाती है। संपत्ति कर्मचारी के नाम पर , उनके पति या पत्नी के नाम पर या संयुक्त रूप से होनी चाहिए। भूमि की खरीद के लिए अधिकतम निकासी की सीमा कर्मचारी के मासिक वेतन और महंगाई भत्ते को मिलाकर उससे 24 गुना अधिक है। यह एक घर की खरीद या निर्माण के लिए 36 गुना होता है। इसके लिए पात्र होने के लिए न्यूनतम 5 वर्ष की सेवा में कार्यरत होनी चाहिए।

4. होम लोन की चुकौती

होम लोन का पुनर्भुगतान कर्मचारी और नियोक्ता दोनों के पी.एफ. में योगदान की 90% तक निकासी सीमा के लिए पात्र है। हालांकि, कर्मचारी इस निकासी के लिए तभी आवेदन कर सकता है, जब उनके पास 10 साल का सेवा रिकॉर्ड हो। संपत्ति को कर्मचारी, उनके पति या पत्नी के नाम से या संयुक्त नाम से पंजीकृत होना चाहिए। ई.पी.एफ.ओ. की संतुष्टि के लिए उचित होम लोन दस्तावेज जमा होने के बाद ही निकासी की अनुमति दी जाती है। कर्मचारी (जीवनसाथी के साथ) के पास संयुक्त रूप से पी.एफ. बैलेंस में न्यूनतम 20,000 रुपये होना चाहिए।

5. घर का नवीनीकरण

कर्मचारी या उनके पति/पत्नी या संयुक्त रूप से उनके नाम के संपत्तियों के मामले में, घर के नवीकरण के उद्देश्य से पी.एफ. निकासी के लिए आवेदन किया जा सकता है। इसमें आवेदन करने के लिए कर्मचारी की 5 वर्ष की सेवा पूरी होनी चाहिए। कर्मचारी के मासिक वेतन के अधिकतम 12 गुना राशि तक की निकासी की अनुमति है।

6. चिकित्सीय आपातकाल

ब्याज सहित पी.एफ. के कर्मचारी के हिस्से की निकासी, या 6 महीने की मूल वेतन और डी.ए. (जो भी कम हो), चिकित्सा आपात स्थितियों को पूरा करने के लिए ये राशि निकाले जा सकते हैं ।इसके लिए डॉक्टर और नियोक्ता द्वारा हस्ताक्षरित एक प्रमाण पत्र आवश्यक है। यह निकासी कर्मचारी या उनके परिवार के किसी सदस्य के इलाज के लिए अनुमत है। इस तरह की निकासी के लिए सेवा के मानदंड में कोई ‘अवधि का उल्लेख नहीं' है।

7. बेरोजगारी

यदि कर्मचारी एक महीने तक बेरोजगार रहता है, तो वे अपने कुल पी.एफ. कोष में से 75% तक की राशि निकाल सकते हैं। यदि वे 2 महीने से अधिक समय तक बेरोजगार रहते हैं, तो शेष 25% भी निकला जा सकता है। इस मानदंड के तहत पी.एफ. की वापसी के लिए कोई अन्य शर्तें नहीं हैं।

8. पूर्व-सेवानिवृत्ति

एक बार जब कर्मचारी 57 साल का हो जाता है, तो वह कुल पी.एफ. कोष का 90% तक निकालने के योग्य हो जाता है। वित्तीय आपातकाल की स्थिति पर यह आसान हो सकता है।

आखिरी पंक्तियाँ

भविष्य निधि में निवेश करने का कर लाभ अद्वितीय है। पी.एफ. में निवेश किया गया पैसा ,पुरानी कर व्यवस्था के तहत धारा 80 सी के तहत कटौती के योग्य है। इस तरह की जमा पर मिलने वाला कोई भी ब्याज भी कर-मुक्त है। और तो और,मैच्युरिटी पर प्राप्त राशि भी कर से मुक्त होती है।

हालांकि, खाते की मैच्युरिटी से पहले निकाली गई कोई भी राशि कर योग्य होती है। यह अकेले एक महत्वपूर्ण कारण है जिससे पी.एफ. निकासी या पी.एफ. बंद करने की तुलना में अपने पी.एफ.खाते को जारी रखना बेहतर होता है। केवल वैध कारणों के एवज पर ही पी.एफ. निकासी की अनुमति है; कमज़ोर आधार पर आप ऐसा नहीं कर पाएंगे। इसके अलावा,राशि वापस लेने का निर्णय उस समय की व्यक्तिगत और उनकी वित्तीय स्थिति पर निर्भर करता है।

संक्षेप में, यदि आपके पास वित्त का कोई वैकल्पिक साधन है, तो आपको अपने पी.एफ. खाते से पैसे निकालने से बचना चाहिए। पी.एफ. सेवानिवृत्ति के बाद किसी के वित्तीय रखरखाव के लिए होता है; किसी अन्य उद्देश्य के लिए इसका इस्तेमाल करने से सेवानिवृत्ति के बाद के वर्षों में,कर्मचारी की वित्तीय स्थिरता को खतरा हो सकता है।

 

COVID-19

Most Shared