LIC Saral Pension Scheme: केवल एक बार प्रीमियम देकर आजीवन पेंशन

एलआईसी की नई स्कीम सरल पेंशन योजना में केवल एक बार प्रीमियम देना होगा।

एलआईसी की सरल पेंशन योजना

LIC Saral Pension Yojana: एलआईसी की सरल पेंशन योजना अन्य पेंशन योजनाओं से अलग है क्योंकि इसमें ऐसी कई तरह की सुविधाएँ उपलब्ध हैं जो अन्य योजनाओं में नहीं मिलती हैं।

हर इंसान जीवन में एक निश्चित उम्र तक ही नौकरी करना चाहता है। अधिकतर लोग 50 से 60 की उम्र तक नौकरी में रहना चाहते हैं। कुछ लोग इससे कम उम्र में भी सेवानिवृत्त होना चाहते हैं। कार्यस्थल पर तनाव का माहौल जिस तरह से बढ़ रहा है, उसके कारण वर्तमान युवा पीढ़ी बहुत जल्दी अवकाश ले लेना लेना चाहती है। लेकिन सेवानिवृत्त होने के बाद भी अपने खर्चों को पूरा करने के लिए सभी को एक नियमित आय या किसी बड़ी रकम की जरूरत होती है। इस स्थिति में एलआईसी की सरल पेंशन योजना आपके काम आ सकती है। साठ साल की उम्र के बाद से पेंशन लेने की कई योजनाएं हैं, लेकिन इस योजना में आप साठ से कम उम्र में भी पेंशन का लाभ उठा सकते हैं। एलआईसी की सरल पेंशन योजना एक नॉन-लिंक्ड, एकल प्रीमियम, व्यक्तिगत तत्काल वार्षिकी योजना है। इस स्कीम में केवल एक बार प्रीमियम देना होता है और आप आजीवन पेंशन पा सकते हैं।

सरल पेंशन योजना में लोन लेने की सुविधा भी मिलती है। ग्राहक योजना शुरू होने के छह महीने बाद लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके अलावा, अगर आपको किसी बीमारी के इलाज के लिए पैसों की जरूरत है, तो आप पॉलिसी में जमा किया हुआ पैसा निकाल भी सकते हैं।

यह भी पढ़ें: अटल पेंशन योजना आपके बुढ़ापे को देगी आर्थिक सुरक्षा

एलआईसी सरल पेंशन योजना की खास बातें 

एलआईसी की सरल पेंशन योजना में एकमुश्त प्रीमियम देना होता है। योजना में शामिल होने की न्यूनतम उम्र 40 साल और अधिकतम उम्र 80 साल है। पॉलिसी वापस कर देने पर बेस प्राइस की 95 प्रतिशत राशि वापस मिल जाती है। एलआईसी सरल पेंशन योजना में पेंशन पाने के चार विकल्प उपलब्ध हैं।

एलआईसी की सरल पेंशन योजना में एकल और संयुक्त यानी सिंगल लाइफ और ज्वाइंट लाइफ दोनों तरह की पॉलिसी ली जा सकती है। सिंगल लाइफ में पॉलिसी किसी एक व्यक्ति के नाम पर होती है। पॉलिसीधारक को जीवन भर पेंशन मिलती रहती है और पॉलिसीधारक की मृत्यु हो जाने पर बेस प्रीमियम की राशि उसके द्वारा नामित व्यक्ति को वापस कर दी जाती है। दूसरी तरफ ज्वाइंट लाइफ में पति और पत्नी दोनों साथ में पेंशन ले सकते हैं। जब तक प्राथमिक पेंशनधारी जीवित रहते हैं, उन्हें पेंशन मिलती रहती है। उनकी मृत्यु हो जाने पर उसके जीवन साथी को पेंशन मिलती है। जीवन साथी की मृत्यु के बाद बेस प्रीमियम की राशि नामित व्यक्ति को दे दी जाती है।

इस पॉलिसी को लेते समय ग्राहक को एकमुश्त प्रीमियम भरना होता है और पॉलिसी लेने के बाद से ही पेंशन मिलना शुरू हो जाता है। जीतनी पेंशन से शुरुआत होती है, पूरी जिंदगी उतनी ही रकम मिलती रहती है। पॉलिसी को शुरू होने के छह महीने बाद कभी भी सरेंडर किया जा सकता है।

एलआईसी सरल पेंशन योजना में पेंशन पाने के चार विकल्प उपलब्ध हैं। ग्राहक अपनी इच्छा के अनुसार हर महीने या तीन, छह महीने पर अथवा साल में एक बार पेंशन ले सकते हैं। मासिक पेंशन न्यूनतम 1000 रुपए, तिमाही पेंशन न्यूनतम 3,000 रुपए, छमाही पेंशन न्यूनतम 6,000 रुपए और सालाना पेंशन न्यूनतम 12,000 रुपए की होगी। यहां अधिकतम पेंशन राशि की कोई सीमा नहीं है। उदाहरण के लिए 42 साल की उम्र में 30 लाख रुपए की एन्युटी खरीदने पर आपको 12,388 रुपए महीने की पेंशन मिलेगी। अगर आप अधिक राशि की पेंशन पाना चाहते हैं, तो आप और अधिक राशि का सिंगल प्रीमियम जमा करा सकते हैं। 

यह भी पढ़ें: इन प्रभावी बजट विधियों के साथ कर्ज मुक्त हो जाएं

LIC Saral Pension Yojana 2022

संवादपत्र

संबंधित लेख