बूढ़े माता-पिता की उनके निवेश में कैसे मदद करें?

ऐसे उपाय जिन्‍हें आप अपने माता-पिता की उनके वित्त का प्रबंधन करने में मदद करने के लिए कर सकते हैं।

अपने बूढ़े माता पिता की उनके निवेश में मदद करने के 5 तरीके

अपने माता-पिता, जो दिन-ब-दिन बूढ़े होते जा रहे हैं, उनके साथ वित्त, निवेश और धन प्रबंधन के बारे में बात करना, समाधान निकालने के लिए सबसे चुनौतीपूर्ण हिस्सा है। लेकिन एक प्रमाणित फाइनेंशियल एडवाइज़र, ब्रेंट नीसर जैसे विशेषज्ञों के अनुसार, "आप अपने माता-पिता के साथ वित्तीय और रिटायरमेंट प्‍लान, वेल्‍थ जनरेशन, निवेश आदि के बारे में जितनी जल्दी बातचीत शुरू करेंगे, आने वाले भविष्य में यह उनके और आपके लिए भी उतना ही अच्छा होगा।"

जैसे-जैसे आपके माता-पिता अब बूढ़े होने लगे हैं, यह सुनिश्चित करना आपकी नैतिक जिम्मेदारी है कि उनके पास सही फाइनेंस, आजीवन कवर, सही रिटायरमेंट प्‍लान आदि के साथ एक स्थिर और दीर्घकालिक भविष्य है।

यदि आप अभी भी सोच रहे हैं या पता लगा रहे हैं कि आप उनकी मदद कैसे कर सकते हैं और सुनिश्चित कर सकते हैं कि सही चीजें जगह में हैं, तो चिंता न करें; नीचे कुछ कदम दिए गए हैं जो आपको उनके वित्त और निवेश को प्रबंधित करने में मदद कर सकते हैं:

1. बातचीत की तैयारी

यह पता करने का सबसे कठिन हिस्सा है और इस प्रकार इसे बहुत गंभीरता से और धैर्य के साथ निपटने की जरूरत होती है। यह समझने की कोशिश करें कि वे निवेश, रिटायरमेंट और वित्तीय नियोजन के बारे में क्या और कैसा महसूस करते हैं। आपको उनकी मदद करने के अपने इरादे को साफ करने का भी प्रयास करना चाहिए ताकि वे सुरक्षित और स्वतंत्र महसूस कर सकें और आपको ऐसा व्यक्ति न समझें जो जो उनकी सारी जमा संपत्ति को हथियाने की कोशिश कर रहा है।
यह ठीक ही कहा गया है कि जैसे-जैसे व्‍यक्ति बूढ़ा होता जाता है, वे एक बच्चे में बदलते जाते हैं, और इस प्रकार बूढ़े माता-पिता को बहुत सावधानी से संभालने की आवश्यकता होती है अन्यथा आप उन्हें चोट पहुंचा सकते हैं। जहां उन्हें सबसे ज्यादा मज़ा आता है वहां उनके साथ बात करना हमेशा सबसे अच्छा होता है। यह पास का बगीचा, उनका पसंदीदा रेस्‍टोरेंट आदि हो सकता है।  

2. अपने माता-पिता से क्या पूछें

आपके द्वारा चरण 1 को पूरा करने के बाद, अब सवाल पूछने का समय है जो उनकी वर्तमान वित्तीय स्थिति जैसे मासिक आय और व्यय, वित्तीय स्वास्थ्य, संचित धन, रिटायरमेंट और लाइफ कवर प्‍लान और अन्य महत्वपूर्ण विवरणों को दर्शायेगा।
नीसर निम्नलिखित प्रश्न पूछने की सलाह देते हैं:
1.    उन्‍होंने किस प्रकार का निवेश किया है?
2.    इसकी वर्तमान स्थिति क्या है?
3.    क्या उन्होंने विभिन्न ब्रोकर्स के माध्यम से निवेश किया है, या यह केवल एक ही?
4.    वे किस प्रकार के अकाउंट का इस्‍तेमाल कर रहे हैं (ज्‍वाइंट, व्यक्तिगत, आदि)?
5.    क्या उन्होंने लाइफलॉन्‍ग इंश्‍योरेंस प्‍लान लिया है?
6.    इसमें किस तरह के जोखिम कवर शामिल हैं, और बीमित राशि कितनी है?
7.    क्या उन्होंने रिटायरमेंट की योजनाएं बनाई हैं?
8.    क्या उन्होंने अपने निवेश और फाइनेंस के प्रबंधन के लिए किसी थर्ड पार्टी को हायर किया है?
9.    क्या उन्होंने पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) और नेशनल पेंशन स्कीम (NPS) में निवेश किया है?
उपरोक्त प्रश्न के उत्तर से, अधिकतर चीजें साफ हो जाएंगी, और अब आप उनके प्‍लान्‍स और संचित धन की स्थिरता और स्थायित्व को बनाए रखने के लिए यदि आवश्यक हो तो कुछ ठोस कदम उठा सकेंगे।
लेकिन अगर ऐसा नहीं है, तो भी चिंता न करें। यदि वे इनमें से किसी एक या सभी प्रश्नों का उत्तर नहीं दे पा रहे हैं, तो आप उनकी टैक्स फाइलिंग और अन्य वित्तीय कदमों को देखकर एक अनुमान प्राप्त कर सकते हैं।
 

3. आप अपने माता-पिता को उनके निवेश में कैसे मदद कर सकते हैं

ऐसे कई तरीके हैं जिनके माध्यम से आप अपने वृद्ध माता-पिता की उनके वित्त को सहारा देने में मदद कर सकते हैं और आगे एक उज्ज्वल वित्तीय यात्रा सुनिश्चित कर सकते हैं।
 

A. उनके मासिक खर्चों का प्रबंधन शुरू करें:
आप उनके मासिक बिलों जैसे बिजली, पानी, क्रेडिट कार्ड, लोन की EMI या किश्तों आदि का ध्यान रख सकते हैं। अक्सर इस बात की अधिक संभावना होती है कि वे उनमें से किसी का भुगतान करने से चूक गए हों और फिर जुर्माना लगने के कारण अधिक भुगतान करना पड़े। आप इन सभी बिलों का भुगतान उनके बैंक अकाउंट से ऑटोमेट भी कर सकते हैं, इससे फाइनेंस का प्रबंधन और व्यय का रिकॉर्ड रखना भी अधिक प्रबंधनीय हो जाएगा।
यह भी पढें:  सरल जीवन बीमा
 

B. वित्तीय घोटालों के बारे में उन्हें सर्तक करें:
नए जमाने की तकनीक तेजी से फलफूल रही है, धोखेबाज वृद्ध लोगों को निशाना बना रहे हैं जो ऑनलाइन बैंकिंग, ई-वॉलेट, डेबिट कार्ड आदि को अपना रहे हैं। इस प्रकार, आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि आपके माता-पिता को बैंकिंग से संबंधित तकनीकी का अच्छा ज्ञान हो।

C. फाइनेंशियल अकाउंट को सुव्यवस्थित करें:
सुनिश्चित करें कि आपके माता-पिता के पास कई अकाउंट न हो क्योंकि यह सभी वित्त के प्रबंधन में एक बड़ी गड़बड़ी पैदा करेगा। सभी अनावश्यक बंद करें और सुनिश्चित करें कि सभी आवश्यक उचित रूप से प्रबंधित हैं।
यह भी पढें: पोर्टफोलियो रिबैलेंसिंग 

D. फाइनेंशियल पावर ऑफ अटॉर्नी बनाएं:
पावर ऑफ अटॉर्नी बनाना और उन सभी को नॉमिनेट करना आवश्यक है जिन्हें इसमें शामिल किया जाना चाहिए क्योंकि कुछ अनचाही परिस्थितियां उत्पन्न हो सकती हैं जैसे अचानक अस्पताल में भर्ती होना, अप्राकृतिक मृत्यु, मानसिक विकार, आदि। यह तब भी मददगार हो सकता है जब वे गंभीर अवस्‍था में अस्पताल में भर्ती हो सकते हैं; इस मामले में, वित्त और अन्य व्यय का प्रबंधन महत्वपूर्ण और आवश्यक है।

E. रिटायरमेंट और इंश्‍योरेंस प्‍लान की जांच करें:
क्‍योंकि इंश्‍योरेंस और रिटायरमेंट प्‍लान दोनों महत्वपूर्ण हैं, इसलिए यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि आपके माता-पिता के पास रिटायरमेंट के बाद उनके स्थिर जीवन के लिए सही प्‍लान्‍स हों। अगर हम इंश्‍योरेंस प्‍लान्‍स के बारे में बात करते हैं, तो आपको सम एश्‍योर्ड को देखना चाहिए और देखना चाहिए कि उसमें कौन सी चीजें कवर होती हैं और कौन सी नहीं। यदि सम एश्‍योर्ड कम है, तो उपयुक्त उपाय किए जाने की आवश्यकता होती है। अगर हम रिटायरमेंट प्‍लान्‍स के बारे में बात करते हैं तो PPF और NPS अकाउंट को देखा जाना चाहिए।

यह भी पढें: PPF अकाउंट(अकाउंट्स)

4. सुनिश्चित करें कि निवेश आपके माता-पिता के लक्ष्यों के अनुरूप है

अधिकतर विशेषज्ञ और फाइनेंशियल प्‍लान "100 - आपकी आयु" के एक साधारण नियम का पालन करते हैं। यह नियम कहता है कि आपके पोर्टफोलियो में इक्विटी में निवेश का इससे अधिक प्रतिशत नहीं होना चाहिए। इसका मतलब यह है कि यदि आपके माता-पिता की आयु 60 वर्ष है, तो इक्विटी में उनके पोर्टफोलियो का 40% से अधिक निवेश नहीं होना चाहिए। लेकिन चूंकि आपके माता-पिता बूढ़े हो गए हैं और अब वे ज्यादा फाइनेंस को नहीं समझ सकते हैं, यह आपकी जिम्मेदारी है कि आप उनके निवेश पोर्टफोलियो की जांच करें और सुनिश्चित करें कि उनका निवेश उनकी उम्र और लक्ष्यों के अनुरूप है। इसके लिए म्यूचुअल फंड्स, बॉन्ड आदि उत्कृष्ट विकल्प हो सकते हैं क्योंकि ये इन्‍वेस्‍टमेंट इंस्‍ट्रूमेंट उनके वित्तीय जोखिमों को कम करने और महत्वपूर्ण मात्रा में रिटर्न सुनिश्चित करने में मदद करेंगे।

यह भी पढें: रिटायरमेंट के लिए इन्‍वेस्‍टमेंट प्रोडक्‍ट्स

5. किसी विशेषज्ञ से संपर्क करें

आप अपने माता-पिता को निवेश रणनीतियों, रिटायरमेंट और फाइनेंशियल प्‍लान्‍स, धन प्रबंधन आदि में मदद करने के लिए एक प्रमाणित फाइनेंशियल प्‍लानर से सलाह ले सकते हैं

यह भी पढें: रिटायरमेंट प्लानिंग की भूलें
 

संवादपत्र

संबंधित लेख