अपने स्‍वयं की 'रिटायरमेंट सिम्फनी' बनाने के लिए टिप्‍स

अपने रिटायरमेंट प्‍लान (सेवानिवृत्ति योजना) को तैयार करने का सबसे अच्‍छा तरीके

अपना खुद का रिटायरमेंट सिम्फनी कैसे बनाएं

अपना खुद का 'रिटायरमेंट सिम्फनी' बनाएं

सही समय पर रिटायरमेंट प्‍लानिंग करना बहुत आवश्‍यक है क्योंकि यह आपके भविष्य को सुरक्षित करेगा और यह सुनिश्चित करेगा कि आपका वर्तमान बाधित न हो। ऑर्केस्ट्रा की सिम्फनी की तरह, आपके पास खुद ऑर्केस्ट्रा की योजना बनाने का अधिकार है, हमेशा यह सुनिश्चित करें कि परिणाम अच्छे हो और आपको अच्छा रिटर्न मिले।

यदि आप पहले ही निवेश रणनीति की योजना बनाते हैं तो यह मदद करेगा ताकि आपको अपेक्षित समय पर किसी भी समस्या का सामना न करना पड़े। यह सुनिश्चित करने का प्रयास करें कि आप पहले सर्वश्रेष्‍ठ रिटायरमेंट प्‍लान को बारीकी से देखते हैं और फिर अंत में निर्णय लेते हैं क्योंकि यह आपको बेहतर योजना बनाने के लिए एक मजबूत स्थिति देगा।

यह भी पढ़ें: 2022 में अपनी रिटायरमेंट सेविंग्‍स को रीसेट करने और अधिक बचत करने के 5 तरीके

अपने रिटायरमेंट प्‍लान की योजना बनाने के सबसे अच्‍छे तरीके

याद रखें कि आपका आज का निर्णय अंत में आपके भविष्य को प्रभावित करेगा, और इस प्रकार बेहतर ज्ञान रखने और विशेषज्ञों से रिटायरमेंट टिप्‍स लेने से आपको इसे और अधिक गहनता से योजना बनाने में मदद मिल सकती है। आपका रिटायरमेंट प्‍लान पूरी तरह से व्यक्तिपरक है, और यह एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में भिन्न होती है।

हालांकि, हमने कुछ आसान टिप्स बनाने की कोशिश की है जो आपको बेहतर नतीजे देने में मदद कर सकते हैं:

1. सही समय पर शुरू करना

सबसे आम गलती जो ज्यादातर लोग करते हैं, वह यह है कि जब वे 45 वर्ष के बेंचमार्क को पार कर लेते हैं, तब शुरू करते हैं, और आधे से अधिक समय, यह निष्‍फल हो जाता है। इसके बजाय, आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आपका एक फाइनेंशियल प्‍लान हो और अपने करियर की शुरुआत से ही छोटी बचत करना शुरू कर दें।

हम कहेंगे कि आपके 30 वर्ष की उम्र में एक अच्‍छा रिटायरमेंट प्‍लान शुरू होता है, और यह वह प्राइम समय है जब आप कंपेंसेट करने के लिए अधिक काम कर सकते हैं। समय के साथ आपका वेतन निश्चित रूप से बढ़ता है, लेकिन यह भी सुनिश्चित करता है कि आपके खर्च बहुत अधिक हैं, जिसका प्रभाव योजना पर पड़ेगा।

यह भी पढ़ें: सेवानिवृत्ति के 4 चरण

2. ज्ञान बढ़ाएं

अपने रिटायरमेंट के लिए निवेश शुरू करने से पहले, यह जानना समझ में आता है कि रिटायरमेंट प्‍लान क्या है और भारत में सबसे अच्छे रिटायरमेंट प्‍लान कौन से हैं। यह कहना गलत नहीं होगा कि रहन-सहन के तरीके, कॉस्‍ट मैकेनिज़्म और चिकित्सा संरचना को ध्यान में रखते हुए प्रत्येक स्थान के लिए रिटायरमेंट प्‍लान भिन्न होते हैं।

इसके अलावा, आपको अपनी सेवानिवृत्ति की जरूरतों को समझना होगा और फिर अंत में रिटायरमेंट फाइनेंशियल प्‍लानिंग के साथ आगे बढ़ना होगा, जो इन सभी आवश्यकताओं पर गौर करता है।

3. विशेषज्ञों से सलाह लें

हम अक्सर ऐसा सिर्फ इसलिए सोचते हैं क्‍योंकि हमारे पास इंटरनेट तक पहुंच है, हम अपने भविष्य की बेहतर योजना बना सकते हैं और आमतौर पर जिम्मेदारियां उठा सकते हैं। लेकिन यह सही नहीं है, और सबसे समझदारी की बात वित्तीय सेवाओं पर भरोसा करना है जो आपकी मदद कर सकते हैं और आपकी जरूरतों को ध्यान में रखते हुए रिटायरमेंट की रणनीति की योजना बना सकते हैं।

क्योंकि वे इस क्षेत्र में अनुभवी हैं, उनके पास जो एक्सपोज़र होगा, वह उस एक्सपोज़र से कहीं अधिक आशाजनक है जो हमारे पास है। तो इसलिए निवेश और बीमा-संबंधित योजना को अपने आप से लेना खुद डॉक्टर होने जैसा है। इसलिए हम आपको यही सलाह देंगे कि आप ऐसा न करें, वरना प्रभाव हानिकारक होंगे।

यह भी पढ़ें: अनिश्चित समय में रिटायर होना : थ्री-बकेट रणनीति आज़माएं 

4. जोखिम की गणना करें

यदि आप अपना रिटायरमेंट प्‍लान करना चाहते हैं, तो साधारण बचत से कोई लाभ नहीं होगा क्योंकि रिटर्न ठीक नहीं होगा। इसलिए, अपनी उम्र के साथ अपना पैसा बढ़ाने और म्यूचुअल फंड्स के साथ-साथ SIP में भी निवेश करना आवश्यक है जो आपको आपका भविष्य सुरक्षित करने में मदद करेगा। लेकिन एक गलती जो अक्सर लोग करते हैं, वह यह है कि वे बिना सोचे-समझे निवेश करते हैं, और प्रभाव हानिकारक हो जाते हैं।

आपको हमेशा यह सुनिश्चित करना होगा कि प्रतिभूतियां या निवेश बराबर मूल्य में हों और आप अपने जीवन की सारी जमा पूंजी का नुकसान करके उसे खत्‍म ना कर दें। इसलिए जब भी आप निवेश करने के बारे में सोचें, तो सुनिश्चित करें कि आप जोखिमों की गणना कर रहे हैं। वास्तव में, उच्च जोखिम वाले निवेशों में लाभ कभी-कभी अधिक होता है। लेकिन यह फिर से एक जजमेंट ca है, और आपको यह तय करना होगा कि निवेश जोखिम के लायक होगा या नहीं।

5. विलम्ब न करें

जब पैसे की बचत करने की बात आती है तो अक्सर कुछ निवेशक इसमें देरी करते हैं, जो रिटायरमेंट सिम्फनी को रोकता है। हालांकि, आपको यह ध्यान रखना होगा कि यदि आप आश्वस्त नहीं हैं और शुरुआत में ही निवेश करना शुरू नहीं करते हैं, तो यह योजनाओं पर नकारात्मक प्रभाव डालेगा, और आप इंवेस्‍टमेंट प्रॉसेस में देरी कर सकते हैं।

सारांश 

हमारा सुझाव है कि यदि आप भविष्य को लेकर गंभीर हैं और अभी से बचत करना चाहते हैं, तो इसे सोच-समझकर करें। यदि आप एक अधिक सुरक्षित भविष्य चाहते हैं, तो आपको प्रारंभ से ही शुरु करना चाहिए और कार्यक्षेत्र में अनुभवी सर्विस प्रोवाइडर्स की मदद लेनी चाहिए जो इस प्रकार से आपकी मदद कर सकते हैं। सुनिश्चित करें कि आप रजिस्‍टर्ड इंवेस्‍टमेंट प्‍लानर्स के साथ डिपॉज़िट कर रहे हैं ताकि आप अंत में अपना पैसा न खोएं।

संवादपत्र

संबंधित लेख