Revenue Secretary said no proposal regarding income tax returns filing Date extension in hindi

भारत सरकार में रेवेन्यू सेक्रेटरी संजय मल्होत्रा ​​ने कहा कि टैक्सपेयर्स को जल्द से जल्द इनकम टैक्स रिटर्न फाइल कर देना चाहिए, क्योंकि तारीख में बढ़ोतरी की संभावना कम है।

ITR Filing

ITR Filing Date Extension: वित्त वर्ष 2022-23 के लिए आयकर रिटर्न (आईटीआर) फाइल करने की आखिरी तारीख 31 जुलाई 2023 है। केंद्रीय वित्त मंत्रालय आयकर रिटर्न दाखिल करने की समयसीमा बढ़ाने के मूड में बिल्कुल नहीं है। रेवेन्यू सेक्रेटरी संजय मल्होत्रा का कहना है कि आईटीआर फाइल करने के लास्ट डेट को बढ़ाने से जुड़ा कोई भी प्रस्ताव विचाराधीन नहीं है और हमारा इरादा भी नहीं है। सभी करदाताओं को मेरी सलाह है कि उन्हें अपना टैक्स रिटर्न दाखिल करना चाहिए। पिछले साल की तरह समय सीमा में कोई विस्तार नहीं होगा और जितनी जल्दी वे इसे करेंगे उतना बेहतर होगा। 

बिजनेस टूडे से बातचीत के दौरान राजस्व सचिव संजय मल्होत्रा से पूछा गया कि क्या उत्तर भारत में बाढ़ और भारी बारिश के मद्देनजर समय सीमा बढ़ाने की कोई योजना है। मल्होत्रा ​​ने करदाताओं को अंतिम समय की किसी भी भीड़ से बचने के लिए समय पर अपना आयकर रिटर्न दाखिल करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि यह हमारे आईटी सिस्टम के लिए बेहतर है कि रिटर्न फाइलिंग क्रमबद्ध है। 12 जुलाई तक पिछले साल की समान अवधि की तुलना में एक करोड़ से ज्यादा टैक्स रिटर्न दाखिल किए गए थे। मल्होत्रा ने कहा कि 12 जुलाई 2022 तक 11.8 मिलियन के मुकाबले लगभग 22 मिलियन रिटर्न दाखिल किए गए थे। 

आपको बता दें कि देर से आयकर रिटर्न दाखिल करने पर 5,000 रुपये तक का जुर्माना लग सकता है। 13 जुलाई तक आकलन वर्ष 2023-24 (वित्तीय वर्ष 2022-23) के लिए दाखिल किए गए आईटीआर की संख्या बढ़कर 23.4 मिलियन हो गई थी, जबकि निर्धारण वर्ष के लिए वेरिफाइड रिटर्न की संख्या 21.7 मिलियन थी। निर्धारण वर्ष 2023-24 के लिए 8.48 मिलियन वेरिफाइड आईटीआर भी प्रोसेस्ड किए गए थे।

संवादपत्र

संबंधित लेख

Union Budget